नियम लागू होने के बाद गोपालगंज, फुलवरिया व सिधवलिया रजिस्ट्री ऑफिस में दिखा सन्नाटा

Gopalganj News - जमीन बिक्री के नियम के लागू होते ही रजिस्ट्री कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा। जहां नियम लागू होने के पहले गोपालगंज...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:35 AM IST
Gopalganj News - silence in gopalganj phulwaria and sidhwalia registry office after the rule came into force
जमीन बिक्री के नियम के लागू होते ही रजिस्ट्री कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा। जहां नियम लागू होने के पहले गोपालगंज निबंधन कार्यालय में प्रतिदिन औसतन 80 से 100 तक जमीन का रजिस्ट्री हुआ करता था और हजारों लोगों की भीड़ सुबह आठ बजे से शाम तक रजिस्ट्री कार्यालय में लगी रहती थी। वहीं नए नियम लागू होने के बाद पहले दिन गुरूवार शुक्रवार को जिला निबंधन में एक भी जमीन का निबंधन नहीं हुआ। जबकि शनिवार को 2 निबंधन के लिए आवेदन किया गया हैं। उसी प्रकार मीरगंज निबंधन कार्यालय में 3 और फुलवरिया निबंधन कार्यालय में एक भी लोगों ने जमीन की रजिस्ट्री नहीं कराई। दूसरे दिन शनिवार को तीनों जगह एक भी जमीन का निबंधन नहीं हुआ। तीन दिनों के अंदर महज 5 जमीन का ही रजिस्ट्री हुआ है।

शुक्रवार को महज पांच जमीन की रजिस्ट्री

जमीन निबंधन के लिए कार्यालय में जहां भीड़ लगी रहती थी। वहीं शनिवार को सन्नाटा पसरा रहा है। नियम लागू होने के साथ ही एकाएक जमीन की खरीद बिक्री में कमी आ गई है। नए नियम लागू होने से निबंधन कार्य प्रभावित हो रहा है। जिला निबंधन कार्यालय में पिछले तीन दिनों में पांच जमीन का निबंधन हुआ है। इससे निबंधन कार्यालय में सन्नाटा पसरा हुआ है। बता दें कि पूर्व में जहां रोजाना 80 से 100 निबंधन हुआ करता था। जबकि गोपालगंज में शनिवार को 2 ,मीरगंज में शुक्रवार को 3,सिधवलिया में तीन दिन में शून्य और फुलवरिया तीन दिन में एक भी निबंधन नहीं हुआ। अब इस तरह से एकाएक जमीन निबंधन में गिरावट होने से पदाधिकारियों के साथ-साथ सभी कर्मचारी सहित निबंधन से जुड़े कर्मी परेशान हैं। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि आमलोगों को नए नियम में प्रक्रिया कठिन लग रहा है।

नए नियम में खत्म होगा बिचौलियों का वर्चस्व, तीन दिन में महज पांच लोगों ने कराई रजिस्ट्री

निबंधन कार्यालय में खाली बैठे कर्मचारी

म्यूटेशन के लिए राजस्व कर्मचारी के पास लोगों की भीड़

शहर के कई हल्का कार्यालय में लोगों की भीड़ अपने जमीन का म्यूटेशन करवाने के लिए राजस्व कर्मचारी के पास सुबह से लेकर शाम तक लोगों की भीड़ लगी रहती हैं। लोगों में इस बात को लेकर काफी बैचेनी दिख रही थी कि यदि समय पर वह अपनी जमीन का म्यूटेशन नही करवाएगा तो उन्हें बाद में अपनी जमीन को बेचने में काफी दिक्कतें आ सकती हैं। राजस्व कर्मचारी माेहन प्रसाद ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन में म्यूटेशन के लिए जमीन का जो व्यौरा दिया गया है। उसकी जांच समय सीमा के अंदर कर दी जा रही हैं।

निबंधन कार्यालय का नाम गुरुवार शुक्रवार शनिवार

गोपालगंज निबंधन कार्यालय में 0 0 2

मीरगंज निबंधन कार्यालय में 0 3 0

फुलवरिया निबंधन कार्यालय 0 0 0

सिधवलिया निबंधन कार्यालय 0 0 0

जिला निबंधन कार्यालय को 110 करोड़ 57 लाख रुपए राजस्व का है लक्ष्य

रजिस्ट्री कार्यालय में लगातार निबंधन नहीं होने का सिलसिला लगातार जारी रहा तो जिला निबंधन कार्यालय को दिया गया लक्ष्य प्राप्ति में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। बता दें कि इस वित्तीय वर्ष 2019-20 में जिला निबंधन कार्यालय को 124 करोड़ 63 लाख का राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य मिला है।

विक्रेता के नाम से जमाबंदी होना अनिवार्य

नए नियम के अनुसार जमीन का रजिस्ट्री वही व्यक्ति कर सकता है, जिसके नाम से उक्त जमीन का जमाबंदी होगा। इस कानून के लागू हो जाने के बाद ऐसी कोई भी रजिस्ट्री मान्य नहीं होगी, जिसके भूमि के विक्रेता के नाम से जमाबंदी नहीं होगा।

कातिब खाना में पसरा सन्नाटा

कार्यालय में खाली बैठे कर्मचारी

निबंधन कार्यालय में काम नहीं रहने के कारण कर्मचारी से लेकर अधिकारी तक बैठे थे। गोपालगंज निबंधन कार्यालय में कर्मी पहले का बकाया काम को निपटाने में लगे थे। डाटा अपरेटर ने बताया कि निबंधन के लिए आज महज दो कागज जमा हुआ हैं। जिसकी जांच की जा रही हैं।

नए नियम में खत्म होगा बिचौलियों का वर्चस्व


नियम से फर्जी रजिस्ट्री करना हो गया मुश्किल


Gopalganj News - silence in gopalganj phulwaria and sidhwalia registry office after the rule came into force
X
Gopalganj News - silence in gopalganj phulwaria and sidhwalia registry office after the rule came into force
Gopalganj News - silence in gopalganj phulwaria and sidhwalia registry office after the rule came into force
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना