--Advertisement--

भोरे में सात बीघे के पोखरे में पानी नहीं,व्रतियों को सता रही है चिंता

गोवर्धन पूजा बीतने के बाद भी भोरे प्रखंड के भोरे गांव का छठ घाट अपनी दूर्दशा को झेल रहा है । एक तरफ जहां छठ व्रती...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:37 AM IST
Bhore - there is no water in the pine of seven begges in the buffalo the worries are hurting the worries
गोवर्धन पूजा बीतने के बाद भी भोरे प्रखंड के भोरे गांव का छठ घाट अपनी दूर्दशा को झेल रहा है । एक तरफ जहां छठ व्रती जहां पूजा की तैयारियों में लगे हुए हैं । तो वहीं दूसरी तरफ छठ घाट की साफ सफज्ञई नहीं होने व पोखरे में पानी नहीं होने से व्रत के पूरा करने व अर्घ्य देने की चिंता सता रही है । भोरेे प्रखंड का यह दूसरा बड़ा छठ घाट है । लेकिन अभी तक साफ सफाई नहीं होने से लोगों में आक्रोश भी देखा जा रहा है । आपको बता दें कि इस छठ घाट पर लगभग तीन हजार से ज्यादा व्रती पूजा व अर्घ्य के लिए आते हैं ।

तालाब में पानी भरने के लिए कोई व्यवस्था नहीं : इतना बड़ा तालाब व ज्यादा संख्या वाला गांव व व्रती के बाद भी तालाब सुखा पड़ा है। पानी की कोई व्यवस्था नहीं की गई है । ग्रामीण नीरज सिंह का कहना है की यहां पर सरकार की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं की जाती है । साफ सफाई के नाम पर यहां के जनप्रतिनिधि व सरकारी कर्मचारी पैसा उठा कर गबन कर जाते है । यहां पर किसी भी प्रकार की व्यवस्था नहीं की जाती है। गांव के युवाओं के द्वारा आपस में चंदा इक्टठा कर छठ घाट पर लाईटिंग व लाउडस्पीकर की व्यवस्था की जाती है । साथ ही किसी भी प्रकार के हालात से निपटने के लिए डॉक्टर व एंबूलेंस की भी व्यवस्था की जाती है ।

छठ घाट की सफाई अंतिम चरण में सफाई करते लोग

X
Bhore - there is no water in the pine of seven begges in the buffalo the worries are hurting the worries
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..