• Hindi News
  • Bihar
  • Hajipur
  • Lalganj News lalganj phc in charge in the case of the assault was formed by the wrong engineering report
--Advertisement--

मारपीट के मामले में लालगंज पीएचसी प्रभारी ने बनाई थी गलत इंज्युरी रिपोर्ट

Hajipur News - लालगंज पीएचसी के प्रभारी ने कुछ समय पहले अपनी बनाई गई गलत इंज्युरी रिपोर्ट को ठीक करने के लिए 7.2 हजार रुपए ले लिए। जब...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:56 AM IST
Lalganj News - lalganj phc in charge in the case of the assault was formed by the wrong engineering report
लालगंज पीएचसी के प्रभारी ने कुछ समय पहले अपनी बनाई गई गलत इंज्युरी रिपोर्ट को ठीक करने के लिए 7.2 हजार रुपए ले लिए। जब पैसे देने वाले शख्स ने डॉक्टर से शिकायत की और कहा कि जब बात 6 हजार की थी तो 12 सौ ज्यादा क्यों लिए। डॉक्टर ने गलती मानते हुए स्वीकार भी किया और कहा भी कि 12 सौ लौटा दुंगा। लालगंज पीएचसी प्रभारी के ऐसे तो कई किस्से हैं लेकिन इस किस्से में वे साफतौर पर खुद ही स्वीकार कर रहे कि पैसा उन्होंने लिया है।

प्रभारी बाेले-छोटी जगह है ऐसी बातें होती रहती

जब दैनिक भास्कर ने लालगंज पीएचसी प्रभारी को इस ऑडियो क्लिप के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि आपसे अकेले मिलकर सलट लेंगे। छोटी जगह है ऐसी बातें होती रहती है।

नहीं मिली है शिकायत

अगर इस तरह का कोई भी मामला है तो जांच होगी। हालांकि अब तक कोई शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलती है तो कार्रवाई करेंगे।


पैसे देकर गलत को ठीक करवाने का ऑडियो क्लिप वायरल, रिपोर्ट बनाने के लिए 7.2 हजार रुपए


इस पूरी बातचीत की ऑडियो है भास्कर के पास

दरअसल, लालगंज पीएचसी के प्रभारी के इंज्युरी रिपोर्ट का ऑडियो क्लिप भास्कर के पास है। हमने उसी के आधार पर यह पूरी खबर बनाई है। इस ऑडियो की चर्चा इनदिनों जिले में खूब हो रही है। यह डॉक्टर के कार्यशौली पर एक सवाल उठा रही है। हमलोग डॉक्टर को भगवान का दर्जा देते हैं, पर जब भगवान ही पैसे लेकर झूठी रिपोर्ट बनाए तो फिर न्याय कैसे मिलेगी। यह कहना मुश्किल है। बताया जाता है कि पीएचसी प्रभारी पिछले 18 सालों से लालगंज में कार्यरत हैं। वे इतने दबंग हैं लगातार अपने सहकर्मी व अधिकारी दवाब बनाते हैं। चर्चा है कि उन्होंने इस तरह की ही फर्जी रिपोर्ट बनकार ही संपत्ति अर्जित की है।

पीएचसी प्रभारी के कई कारनामे लेकिन इसमें वे खुद स्वीकारा

छह हजार लेकर गलत रिपोर्ट बनाने के लिए हुए तैयार

कुछ माह पहले लालगंज के जैतीपुर गांव में नल योजना में गड़बड़ी के आरोप को लेकर वार्ड पार्षद के पति नितेश ठाकुर और ग्रामीण दिनेश कुमार सिंह में मारपीट हुई थी। इस मामले में एफआईआर भी दर्ज हुआ था। नितेश ठाकुर का गलत इंज्युरी रिपोर्ट दिनेश कुमार के खिलाफ प्रभारी ने बना दी। दिनेश कुमार सिंह के भाई नितेश्वर कुमार सिंह से लालगंज पीएचसी प्रभारी डॉ शशि भूषण 6 हजार रुपए लेकर गलत इंज्युरी रिपोर्ट को ठीक करने पर राजी हुए। पैसे भी 6 हजार उन्हें मिल चुके थे। बाद में जब रिपोर्ट लाने व्यक्ति गया उससे डॉक्टर ने 12 सौ रुपए फिर से ले लिए। विवाद यहीं से शुरू हुआ। नितेश्वर कुमार ने प्रभारी से बात की जिसमें यह खुलासा हुआ। यह ऑडियो क्लिप दैनिक भास्कर को मिली।


डॉक्टर-जी


डॉक्टर|नमस्कार, नमस्कार


डॉक्टर|जो लड़का रिपोर्ट लेने के लिए आया था?


डॉक्टर|अरे हम ले लिए थोड़े भाई। वो डॉक्टर अरविंद थे न हाजीपुर वाले वही। अरविंद जी का न मिस्टेक है। मैने डिमांड भी नहीं किया था। जो आया था वह बोला कि डॉक्टर साहब बोले थे कि इसमें 10-12 हजार रुपए मिलना चाहिए। हम बोले देखो यार 6 हजार दे गए हैं। हम बोल दिए थे कि सीधे कह देना की पेड। वो बोला ऊपर से हम दे देते हैं तो हम बोले ठीक है दे दो। अगर उसमें कोई दुख है तो लौटा देंगे।


डॉक्टर|हम क्या करें थाना करता है।


डॉक्टर|-अब रिपोर्ट संतोषप्रद हैं न?


डॉक्टर|अरे भाई हम अकेले थोड़े कुछ करते हैं। थनवा लाता है लादपात के तो हम क्या करें? आप भी इस कुर्सी पर रहिएगा तो वहीं करिएगा। जो आएगा उसका इलाज करिएगा। ऐसा थोड़े है कि हम जानबूझ के कर दिए हैं?


डॉक्टर|जो हुआ उसके लिए सॉरी अब ऐसा नहीं होगा। अरे हम तो डॉक्टर अरविंद का इंतजार कर रहे थे। इतने में वो आ गया।


डॉक्टर|-अरे अरविंद को नहीं जानेंगे। वो मेरा छोटा भाई है कैसे नहीं जानेंगे। अरविंद जी है और नीरज बाबू हैं। आज ही उनका फोन आता है? बराबर उनका फोन आता है। पहले तो पोस्टिंग भी नहीं था अब तो सदर में पोस्टिंग भी हो गया है। अरे भाई अब तो घर भी यहीं है और यहीं रहना है। घर बना लिए हैं तो अब हिसाब किताब से ही रहना होगा न।


डॉक्टर|ये सब दिमाग से हटा दीजिएगा। हल्का फुल्का होते रहता है। आइंदा होगा तो मिल लीजिएगा। आई मस्ट नो कि व्हाट इज रियल। अनजाने में हुआ है। ठीक है।


ऑडियो क्लिप की बातचीत

X
Lalganj News - lalganj phc in charge in the case of the assault was formed by the wrong engineering report
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..