पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Vaishali News Police And Criminal Nexus Exposed In Vaishali Panther Police Jawans Kidnapped For Ransom

वैशाली में पुलिस व अपराधी गठजोड़ का खुलासा, पैंथर पुलिस के जवानों ने फिरौती के लिए कराया था अपहरण

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वैशाली जिले में अपराध चरम बिंदु पर ऐसे ही नहीं पहुंच गया था। लोगों की रक्षक पुलिस ही भक्षक बनी हुई थी। क्राइम कंट्रोल के लिए तैनात किए गए पैंथर पुलिस के जवान ही अपराधी गिरोह के साथ मिलकर अपराध कराते थे। फिरौती के लिए कराए गए एक अपहरण की घटना से पुलिस-अपराधी गठजोड़ का खुलासा हुआ है। लालगंज की एक महिला की शिकायत पर एसपी ने 24 घंटे के अंदर उसके अपहृत पति को बरामद कर लिया। साथ ही पुलिस-अपराधी गठजोड़ की पूरा सच सामने आ गया है। शनिवार की शाम नगर थाना क्षेत्र के चौहट्‌टा चौक पर पैंथर जवान के साथ मारपीट की घटना उसी गठजोड़ की कड़ी निकली। अपराधी गैंग से जुड़े तीन पुलिस व होमगार्ड जवान समेत तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। उन चारों पुलिसकर्मियों को एसपी ने सस्पेंड कर दिया है। सातों को जेल भेजा जाएगा।

घायल सिपाही ने उगल दिया सारा राज

मारपीट में घायल सिपाही अनिल मांझी का इलाज गणपति हॉस्पीटल में चल रहा है। एसपी गौरव मंगला ने स्वयं उससे पूछताछ की। सख्त रूख देख क्रिमिनल गैंग में शामिल सिपाही टूट गया। उसने बताया कि गिरोह में वह अकेला नहीं है। उसके साथ सिपाही अनिल कुमार पांडेय, हिमांशु राज एवं होमगार्ड मुन्नू कुमार भी शामिल है।

चारों पुलिसकर्मी को किया गया निलंबित


सारण जिला के गरखा थाना के शिवरहिया गांव निवासी स्व. सुरेंद्र मांझी का पुत्र सिपाही संख्या 260 अनिल कुमार मांझी, सारण दिघवारा थाना के सैदपुर गांव निवासी सिपाही 57 अनिल कुमार पांडेय, भोजपुर जिला अजीमाबाद थाना के ताराचक गांव निवासी स्व. वीरेंद्र कुमार सिंह का पुत्र सिपाही 83 हिमांशु कुमार, जंदाहा थाना के मड़ई निवासी कामेश्वर मिश्रा के पुत्र होमगार्ड 241396 मोनू कुमार को निलंबित कर दिया गया है। चार पुलिसकर्मी समेत सातों अपराधियों को जेल भेजा जा रहा है।

अन्य मामलों में संलिप्तता की हो रही जांच : एसडीपीओ

सिपाही एवं अपराधियों की साठगांठ से अपहरण के आपराधिक षडयंत्र का खुलासा होने के बाद आरोपी पुलिसकर्मियों के अन्य मामलों में भी संलिप्तता संभावित है। इसकी पूरी जांच होगी।।
राघव दयाल, एसडीपीओ सदर, हाजीपुर।

रद्द कर दी गई पैंथर मोबाइल टीम, नए सिरे से दोबारा गठित होगी

शहर में पैंथर मोबाइल टीम ने आतंक व दहशत का माहौल कायम कर रखा था। अपराधी गिरोह से गहरे ताल्लुकात रखने वाले ये पुलिस जवान बेकसूर लोगों को जब जहां चाहा बेरहमी से पीट दिया करते थे। शरीफ लोग किसी भी वक्त घर से बाहर निकलने में परहेज करने लगे थे। बताते चलें कि पांच-छह रोज पूर्व एक रिटायर आर्मीमैन से आरोपी इन चारों पुलिस जवानों की बहस हो गई थी। उन चारों ने फौजी को बेरहमी से पीटा। उसके विषय में एसपी तक गलत रिपोर्ट दे दी। तीन दिनों तक फौजी को हाजत में रखने के बाद जेल भेज दिया गया। ऐसी कई घटनाएं चर्चा में है। चार पुलिसकर्मियों के अपराधी गैंग में शामिल होने की घटना सामने आने के बाद पूरी पैंथर मोबाइल टीम ही संदेह के घेरे में आ गई है। इस स्थिति को देखते हुए एसपी ने टीम ही समाप्त कर दी है। उन्होंने नए सिरे से टीम गठित किए जाने की जानकारी दी है।

अपराधी के घर को बना रखा था अय्याशी का अड्‌डा

पैंथर मोबाइल के उन चारों जवानों ने कटरा मोहल्ला स्थित अपराधी सुजीत उर्फ शंटू के घर को अय्याशी का अड्‌डा बना रखा था। इसके अलावा चौहट्‌टा चौक के आसपास भी कई ठिकाने उन लोगों ने बना रखे थे। बताया जाता है कि वे चारों पुलिस जवान गांजा, शराब के आदि हैं। शराब-गांजा के साथ उनके अड्‌डे पर और भी कुछ होता था। मोहल्ला के किसी महिला पर हाथ डालने के विरोध में ही स्थानीय लोगों ने पिटाई कर दी थी। मारपीट में शामिल लोगों को गंभीर मामले में फंसाने के लिए ही सिपाही अनिल ने अपना सर्विस पिस्टल अपराधी सुजीत के घर में छुपा कर हमलावरों द्वारा छीन लिए जाने का आरोप मढ़ दिया था।

एक घर से आरोपी पुलिस-अपराधी गिरफ्तार, अपहृत भी बरामद

मुख्य आरोपी सिपाही अनिल मांझी की निशानदेही पर एसपी के निर्देश पर गठित विशेष टीम ने शनिवार की देर रात नगर थाना के कटरा मोहल्ला में सुजीत कुमार उर्फ शंटू के घर पर छापामारी की। घर से अपहृत शिवपूजन बरामद हुआ। उसी घर में षड़यंत्र में शामिल अनिल पांडेय, हिमांशु राज, होमगार्ड मोनू कुमार के अलावा कटरा मोहल्ला निवासी स्व. हरिहरनाथ सिंह के पुत्र सुजीत कुमार संटू, हाजीपुर गुदरी निवासी अशोक कुमार सिन्हा का पुत्र अमित सिन्हा, कटरा मोहल्ला निवासी रमेश प्रसाद का पुत्र नीरज भी मिल गया। सभी की गिरफ्तार हुई।

ऐसे हुआ पुलिस-अपराधी गठजोड़ का भंडाफोड़


शनिवार को लालगंज के टोटहां गांव की महिला खुशबू कुमारी अपनी फरियाद लेकर एसपी से मिलने आई थी। एसपी से मिलकर उसने बताया कि उसके पति शिवपूजन को अपराधियों ने अगवा कर लिया है। उसे फोन कर अपराधियों द्वारा एक लाख रुपए फिरौती मांगी जा रही है। महिला ने बताया कि उन अपराधियों में दो का नाम जानती है। एक का नाम मोनू और दूसरे का नाम अनिल है। बाकी अपराधियों का नाम नहीं जानती। एसपी ने महिला को सदर थाना भेजकर एफआईआर दर्ज करवाया। महिला के मोबाइल पर जिस नंबर से फोन आया था, उस नंबर की जांच की गई। पुलिस के साइबर सेल ने सीडीआर खंगाल डाला। अपहरण मामले की जांच चल ही रही थी कि शनिवार की रात में नगर थाना क्षेत्र के चौहट्‌टा चौक पर असामाजिक तत्वों द्वारा मारपीट कर पैंथर मोबाइल के सिपाही अनिल मांझी को जख्मी कर देने की सूचना एसपी को मिली। उन्होंने पुलिस टीम को घटनास्थल पर भेजा। सिपाही अनिल मांझी ने मामले को गंभीर बनाने के लिए खुद ही सर्विस पिस्टल गायब कर बताया कि मारपीट के दौरान अपराधियों ने उसके पिस्टल भी छीन ले गए। मौके पर पहुंची पुलिस टीम को घटनास्थल से एक मोबाइल मिला। उसकी जांच की गई तो वह मोबाइल अपहृत किए गए शिवपूजन का निकला। एसपी खुद हतप्रभ रह गए। उन्हें समझते देर नहीं लगी कि शिवपूजन का अपहरण व सिपाही अनिल मांझी के साथ मारपीट की घटना एक-दूसरे से जुड़ी हुई है। महिला ने भी अपहरण में अनिल नाम बताया था। अब क्लियर हो चुका था कि महिला जिस अनिल की बात कर रही है वह सिपाही अनिल मांझी ही है।


एसपी के निर्देश पर अपराधी गैंग से जुड़े चार पुलिसकर्मी समेत सात को पुलिस ने किया गिरफ्तार, मामले में चारों जवान किए गए सस्पेंड


शनिवार की शाम चौहट्‌टा चौक पर पैंथर जवान के साथ मारपीट की घटना भी अपहरण कांड की कड़ी निकली


वाहनों जांच के दौरान चालकों से विवाद करते पैंथर जवान, व चौहट्टा से जढ़ुआ रोड में कुछ दिन पहले बेवजह एक युवक की पिटाई करती टीम।

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें