महाभिषेक कर मनाया गया भगवान श्री नृसिंह का जन्मोत्सव,प्रसाद भी बांटे

Hajipur News - सोनपुर| बैशाख शुक्ल चतुर्दशी के दिन पारंपरिक विधि विधान से भगवान श्रीनृसिह का गोधुलि में जन्म महोत्सव मनाया गया।...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:35 AM IST
Sonepur News - the birth anniversary of lord shri nrusingh celebrated by mahabhisak also distributed prasad
सोनपुर| बैशाख शुक्ल चतुर्दशी के दिन पारंपरिक विधि विधान से भगवान श्रीनृसिह का गोधुलि में जन्म महोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर भगवान श्रीनृसिह का दुध, दही, घी, शक्कर, मधु एवं दिव्य रसायनों से महाभिषेक दिव्य श्रृंगार कर विशेष आरती की गई। इस अवसर महाभंडारा का कार्यक्रम हुआ। इस अवसर पर उपस्थित समस्त श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए स्वामी जी ने कहा कि भक्तराज प्रह्लाद को राक्षस पिता से रक्षा करने के लिए नृसिंहावतार हुआ। जीवात्मा जब तक भगवान के शरण रहता है परमात्मा सम्यक् प्रकार से उसकी रक्षा करते है। थोडा भी देहाभिमान होने पर भगवान दंड प्रदान करते है। इसलिए भगवद्प्राप्ति में देहाभिमान बाधक है। संसार में कितनी बड़ी से बड़ी विपत्ति क्यों न आवे, घबराये नहीं उनका सामना करें। प्रह्लाद के ऊपर कितनी विपत्तियां आयी एक बार भी विपत्तियों को दूर करने के लिए भगवान से प्रार्थना नहीं किए। प्रह्लाद के कारण भगवान को बाघ बनना पड़ा। विपत्तियों से जो घबड़ाता है धैर्य खो देता है उसे महा विपत्ति आती है। प्रह्लाद ज्ञानी भक्त है। ज्ञानी अपने लिए नहीं, दूसरों के कल्याण के लिए प्रार्थना करता है। ज्ञानी भक्त प्रभु को सबसे प्यारा है। इस अवसर पर नंद किशोर तिवारी, भोला सिह, अमरनाथ सिह, वीणा सिह, रानी सिह, संजय सिह आदि थे।

सोनपुर के गजेन्द्रमोक्ष मंदिर में अनुष्ठान कराते स्वामी लक्ष्मनाचार्य।

X
Sonepur News - the birth anniversary of lord shri nrusingh celebrated by mahabhisak also distributed prasad
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना