• Hindi News
  • Bihar
  • Hajipur
  • Vaishali News vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
--Advertisement--

आशा के अनिश्चितकालीन हड़ताल से चरमराई स्वास्थ्य व्यवस्था के कारण टीकाकरण,बंध्याकरण पूरी तरह बाधित

Hajipur News - बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अधीनस्थ संघर्ष समिति मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:30 AM IST
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अधीनस्थ संघर्ष समिति मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता आशा जिला शाखा वैशाली की 1 दिसम्बर से चल रहे अनिश्चितकालीन हड़ताल की समीक्षात्मक बैठक संघ कार्यालय में आयोजित किया गया। बैठक की अध्यक्षता संघ के उपाध्यक्ष संजीव कुमार ने किया। इस अवसर पर आशा के जिला मंत्री शंकर कुमार गुप्ता ने हड़ताल की जानकारी देते हुए कहा कि वैशाली के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं रेफरल अस्पताल में हड़ताल के कारण टीकाकरण, संस्थागत प्रसव एवं बंध्याकरण पूरी तरह बाधित है। जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग की स्थिति चरमरा गई है। बैठक में जिला मंत्री ने बताया कि 10 दिसम्बर को हड़ताली आशा के द्वारा सिविल सर्जन वैशाली एवं 11 दिसम्बर को वैशाली डीएम का घेराव करेगी। वहीं सरकार की निंद्रा नहीं टूटने पर 13 एवं 14 दिसम्बर को मुख्यमंत्री का घेराव करेगी।

महुआ की घटना पर संघ ने किया निंदा प्रस्ताव पारित, प्रशासन से की प्रभारी पर कार्रवाई की मांग : वहीं जिला मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि अनुमंडल अस्पताल महुआ में शांतिपूर्ण धरना दे रही आशा पर वहां के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा स्थानीय गुंडों को दारू पिला कर धरना पर बैठी आशा के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए गाली गलौज कराया गया जिसकी बैठक में घोर निंदा प्रस्ताव पारित करते हुए जिला प्रशासन से ऐसे उदंड प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी पर कार्रवाई करते हुए अविलंब वहां से हटाने की मांग की गई।

क्या है हड़ताल कर्मियों की मांग : हड़ताल कर रहे आशा एवं आशा फेसिलिटेटर को सरकारी सेवक घोषित करने, 18 हजार रुपए मासिक मानदेय देने, कम दिनों का प्रशिक्षण देकर एएनएम की बहाली करने एवं बकाए प्रोत्साहन राशि के भुगतान सहित 12 सूत्री मांगों की पूर्ति तक हड़ताल पर है।

हड़ताली आशा 10 को सिविल सर्जन, 11 को डीएम व 13-14 दिसंबर को करेंगी मुख्यमंत्री का घेराव

हाजीपुर सदर प्रखंड में प्रर्दशन करती आंगनबाड़ी सेविका।

पीएचसी की ओपीडी सेवा को की बाधित

सहदेई बुजुर्ग| बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के आह्वान पर अपनी 12 सूत्री मांगों के समर्थन में सहदेई बुजुर्ग प्रखंड क्षेत्र के आशा कार्यकर्ताओं का हड़ताल शनिवार को आठवें दिन भी जारी रहा। प्रखंड आशा संघ की अध्यक्षा मंजू वर्मा के नेतृत्व में शनिवार को आशा कार्यकर्ताओं ने पीएचसी में जाकर ओपीडी सेवा को बाधित किया। साथ ही पीएचसी के मेन गेट पर धरना प्रदर्शन किया । इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने पीएचसी की ओपीडी रूम में तालाबंदी कर दी। आशा कार्यकर्ताओं ने पीएचसी की स्वास्थ्य सेवा को पूरी तरह से ठप कर दिया। पीएचसी में सिर्फ इमरजेंसी सेवा काम कर रही थी। हड़ताल में अनिता कुमारी, राजलक्ष्मी सिन्हा, रुकमणी कुमारी, रेखा कुमारी, शोभा कुमारी, कामनी कौशल, मुन्नी देवी, अंजू सिन्हा, नीलम सिन्हा, ज्ञानती देवी, सुनीता, आशा कुमारी,देवंती कुमारी, वसंती देवी, पुतुल कुमारी के अलावे बड़ी संख्या में आशा कार्यकर्ता शामिल थी।

राघोपुर में धरना देती आशा कर्मी

सेविका-सहायिकाओं नेे हड़ताल के चौथे दिन सीडीपीओ कार्यालय पर किया प्रदर्शन

हाजीपुर| सातवें वेतन आयोग की अनुशंसा एवं सरकारी कर्मचारी का दर्जा समेत अपनी 15 सूत्री मांगों के समर्थन में आंगनबाड़ी सेविका, सहायिकाओं ने शनिवार को सदर प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के सीडीपीओ कार्यालय पर आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन की। राज्य व्यापी अनिश्चित कालिन हड़ताल के चौथे दिन आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ के तत्वावधान में की गई। जिसका नेतृत्व संघ के जिलाध्यक्ष सुधा देवी एवं रेणु कुमारी ने संयुक्त रुप से की। इस दौरान संघ के सदस्यों ने अपनी मांगों के समर्थन में आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन किया। इस दौरान नुक्कड़ सभा को संबोधित कतरे हुए संघ के नेता देवेंद्र यादव भारतीय ने कहा कि जब-तक उनकी मांगे राज्य सरकार पुरी नहीं करती जाता तब-तक काम पर नहीं लौटा जाएगा। इस मौके पर अनीता कुमारी, प्रतिमा शुक्ला, रुचि कुमारी, अनीता देवी, रीणा कुमारी समेत अन्य सेविका सहायिका मौजूद थी।

इन मांगों के हुआ हड़ताल

सेविका, सहायिका को सरकारी कर्मचारी का दर्जा, सेविका को 18 हजार एवं सहायिका को 12 हजार रुपये मानदेय, लंबित वेतन का भुगतान, गोवा, तेलगण व अन्य राज्य की तरह भत्ता, सेवानिवृति के पश्चात 5 हजार रुपया मासिक पेंशन व 5 लाख रुपया सहायता राशि, दण्डनिरुपण प्रक्रिया समाप्त, काम का समय का निर्धारण, समान काम समान वेतन आदि थे।

मांगो के समर्थन में आशा ने की प्रदर्शन

महनार| बिहार राज्य चिकित्सा एवं जनस्वास्थ्य कर्मचारी संघ के बैनर तले महनार सीएचसी केंद्र में कार्यरत आशा द्वारा अपने 12 सूत्री मांगों के समर्थन में महनार सीएचसी पर रोष पूर्ण प्रदर्शन किया। आशा ने सीएचसी में इमरजेंसी सेवा छोड़ सभी स्वास्थ सेवाओं को बाधित कर दिया। आशा कार्यकर्ताओं ने सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए अपने मांगों पर अड़े रहने की बात कही। आशा को सरकारी सेवक घोषित करने, 18000 मासिक मानदेय लागू करने सहित अपने 12 सूत्री मांगों को लेकर आशा बीते 01 दिसंबर से कार्य बहिष्कार करते हुए सीएचसी में ओपीडी सेवा भी बाधित कर रही है। आशा ने शनिवार को भी महनार सीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ प्रबंधक का घेराव करते हुए अपने मांगों के समर्थन में नारेबाजी भी की। आशा 01 दिसंबर से 08 दिसंबर तक प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का घेराव करेंगी। साथ ही 10 दिसंबर को जिले के सिविल सर्जन, 11 दिसंबर को जिला समाहरणालय व 13 तथा 14 को मुख्यमंत्री का घेराव करेगी। आशा ने बताया कि यदि उनकी मांगे नहीं मानी गई तो आगामी 08 व 09 जनवरी को राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर जाएगी। आशा ने आशा संघर्ष समिति के प्रखंड अध्यक्ष अर्चना कुमारी के नेतृत्व में प्रदर्शन किया।

महुआ में अनुमंडल अस्पातल में प्रर्दशन करते आशा कार्यकर्ता

हड़ताली आशा के साथ महुआ अनुमंडल अस्पताल में दुर्व्यवहार

महुआ| महुआ अनुमंडल अस्पताल में हड़ताल के दौरान ओपीडी सेवा बंद कराने गई आशा के साथ दुर्व्यवहार किया गया। जिसकी सूचना महुआ थाना को दी गई है। घटना के बाद आक्रोशित आशा ने महुआ पीएचसी पहुंचकर अस्पताल उपाधीक्षक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आशा ने काफी देर तक पीएचसी परिसर में हंगामा किया। जानकारी के अनुसार अपनी 12 सूत्री मांगों के समर्थन में पिछले 1 दिसंबर से जारी हड़ताल के आठवें दिन आशा ने महुआ अनुमंडल अस्पताल में पहुंचकर ओपीडी सेवा बंद करा रही थी। इसी दौरान कुछ लोगों ने अस्पताल उपाधीक्षक का पक्ष लेते हुए आशा के साथ दुर्व्यवहार किया। इस संबंध में आशा नीलम देवी, बबीता कुमारी, गीता कुमारी, किरण कुमारी, रीता देवी, शर्मिला देवी, गीता कुमारी, अनिता देवी, बेबी कुमारी आदि ने बताया कि अस्पताल में कुछ लोगों ने अस्पताल उपाधीक्षक का समर्थन करते हुए उनलोगों के साथ दुर्व्यवहार किया है।

महनार में प्रदर्शन करते आशा कार्यकर्ता

हड़ताल के कारण पीएचसी व रेफरल अस्पताल में बाधित रही स्वास्थ्य सेवा

राघोपुर| अपनी 12 सूत्री मांगों के समर्थन में आशा ने शनिवार को राघोपुर पीएचसी में स्वास्थ्य सेवा को बाधित किया। आशा के हड़ताल के कारण अस्पताल में इलाज कराने आए मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। पीएचसी में इलाज कराने आने वाले लोग आशा के हड़ताल के कारण निराश होकर लौट जा रहे है। मांगों को लेकर आशा ने शनिवार को आठवें दिन भी हड़ताल जारी रखा। आशा ने सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए पीएचसी फतेहपुर एवं मोहनपुर रेफरल हॉस्पिटल में ओपीडी सेवा, जांच घर, दवा वितरण काउंटर को बंद कराया। इस दौरान आशा ने पीएचसी में तालाबंदी कर अपना विरोध जाहिर किया। आशा संघ की प्रखंड अध्यक्ष क्रांति कुमारी ने बताया कि सरकार जब तक उनलोगों की मांगें नहीं मान लेती तब तक हड़ताल जारी रहेगा। आशा के हड़ताल के कारण पीएचसी व रेफरल अस्पताल में सन्नाटा पसरा रहा।

Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
X
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Vaishali News - vaccination due to the tranquility of the indefinite strike of hope sterilization completely disrupted
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..