26 माह बाद भी मृतक गृहरक्षक की पत्नी को नहीं मिला कोई सहयोग

Jamui News - शुक्रवार को एसपी जगुन्नाथ रेड्डी की अनुपस्थिति में डीएसपी लाल बाबू यादव ने जन संपर्क दिवस कार्यक्रम में लोगों की...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:01 AM IST
Jamui News - even after 26 months the wife of the deceased home guard did not get any support
शुक्रवार को एसपी जगुन्नाथ रेड्डी की अनुपस्थिति में डीएसपी लाल बाबू यादव ने जन संपर्क दिवस कार्यक्रम में लोगों की शिकायत सुनी। न्याय कि गुहार लगाते हुए मृत गृहरक्षक उमेश यादव की प|ी सुषमा देवी ने कहा कि उनके पति सदर थाने में चालक के पद पर कार्यरत थे। 9 जुलाई 2017 को थाना क्षेत्र के जमुई-लखीसराय मुख्य मार्ग स्थित हरनाहा के समीप अवर निरीक्षक अजय सिंह के साथ वाहन चेकिंग कर रहे थे। उसी दौरान एक कार ने उनको जोरदार टक्कर मार दी थी। गंभीरावस्था में उन्हें इलाज के लिए पीएमसीएच ले जाया गया। जहां कई महीने इलाज के बावजूद 21 अप्रैल 2019 को उनकी मौत हो गई। वहीं, घटना के 26 माह बीत जाने के बावजूद अबतक विभाग के द्वारा कोई सहयोग नहीं मिल पाया है। जबकि सदर थानाध्यक्ष द्वारा बिल बनाकर पुलिस लाइन के मेजर साहब को कई माह पहले ही भेज दिया था। पीड़िता की शिकायत सुनकर डीएसपी ने जल्द ही इस संबंध में सहायता दिलाने का आश्वासन दिया।

9 जुलाई 2017 को रात्रि गश्ती के दौरान एक कार ने मारी थी टक्कर, इलाज के दौरान पटना में हुई मौत

जनसम्पर्क दिवस पर शिकायत सुनते मुख्यालय डीएसपी।

दो लाख रुपये दहेज नहीं मिला तो ससुराल वालों ने बहू को घर से निकाला

दहेज में दो लाख रुपये नहीं मिलने पर नाराज ससुराल वालों ने अपनी बहू के साथ मारपीटकर उसे घर निकाल दिया है। बताया जाता है कि खैरा थाना क्षेत्र के हडियाडीह गांव निवासी सरिता देवी डीएसपी से गुहार लगाते हुए बताया कि उसकी शादी 3 दिसंबर 2018 को हडियाडीह निवासी गोपाल गोस्वामी के पुत्र मंजीत गोस्वामी के साथ हुई थी। वहीं, शादी के आठ माह बीतने के बाद उसके ससुराल वाले दो लाख रुपये दहेज के लिए उसे प्रताड़ित करने लगा। वहीं जब महिला के मायके वाले दहेज का रुपये नहीं दे पाया तो ससुराल वालों ने महिला के सारे सोने के गहने व सामान लेकर उसे मारपीटकर घर से भगा दिया।

सीआईडी ने की गाली-गलौज, पीड़ित ने डीएसपी से लगाई गुहार

बरहट प्रखंड के जावातरी गांव निवासी विदेशी रविदास के पुत्र अर्जुन रविदास ने शुक्रवार को डीएसपी से गुहार लगाते हुए बताया कि साहब उसके गांव का ही धनेश्वर रविदास का पुत्र लखन लाल रविदास झारखंड में सीआईडी में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत है, जो अपने पद का दुरूपयोग कर आये दिन उसके साथ गाली-गलौज व मारपीट करता है। जिसको लेकर पीडित ने न्याय कि गुहार लगाई है। इन सब के अलावे मारपीट, जान से मारने की धमकी, जमीनी विवाद सहित कुल तीन दर्जन से अधिक मामले आये। जिसे वहां मौजूद डीएसपी ने बारी-बारी से सुनने के बाद संबंधित थानाध्यक्ष को जल्द निपटारे का आदेश दिया।

X
Jamui News - even after 26 months the wife of the deceased home guard did not get any support
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना