पुलिस के लिए मुखबिरी करने पर नाराज चल रहे थे नक्सली संगठन

Jamui News - जिले के पीरीबाजार थाना क्षेत्र के घोघी कोड़ासी निवासी मंगल कोड़ा का पुत्र कारेलाल कोड़ा कुछ दिन पूर्व चानन थाना...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:41 AM IST
Jamui News - naxalite organizations were angry at informing the police
जिले के पीरीबाजार थाना क्षेत्र के घोघी कोड़ासी निवासी मंगल कोड़ा का पुत्र कारेलाल कोड़ा कुछ दिन पूर्व चानन थाना क्षेत्र के मननपुर से नक्सली कांड में गिरफ्तार किया गया था। कारेलाल कोड़ा नक्सली दस्ता में मारक दल का सदस्य था। पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने के बाद वह छह माह पहले जमानत पर जेल से छूटा था। जेल से छूटने के बाद वह पंचायत स्तर पर ठेकेदारी और ट्रैक्टर चलाकर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। बताया जाता है कि जेल से छूटने के बाद कारेलाल काेड़ा को पुलिस का संरक्षण भी मिल रहा था।

पुलिस संरक्षण मिलने के बाद वह पुलिस के लिए मुखबिरी का भी काम करता था। नक्सली संगठन से अलग होकर पुलिस के लिए मुखबिरी करने के कारण नक्सली संगठन के लोगों के आंखों का किरकिरी बना हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि नक्सली संगठन लोगों ने ही उसे बुलवाकर हत्या किया।

सबसे ताज्जुब की बात तो यह है कि जहां से शव बरामद किया गया है,वहां खून का निशान नहीं मिला है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि कारेलाल कोड़ा की हत्या दूसरे जगह करने के बाद शव को सुअरकोल के झाड़ी में फेंका गया।

पूर्व नक्सली की हत्या के बाद कजरा क्षेत्र में लोगों में दहशत

पीरीबाजार के सुअरकोल जंगल में पड़ा शव एवं घटना की जांच करती पुलिस।

क्षेत्र में थम नहीं रही नक्सली घटनाएं

पुलिस की लगातार कांबिंग के बाद भी नक्सलियों का मनोबल घट नहीं रहा है। 19 अगस्त को नक्सलियों ने दिनदहाड़े चानन थाना क्षेत्र के मननपुर बस्ती में मुखिया समर्थक मदन यादव तथा मुखिया के स्कार्पियो चालक छोटू साव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा लेकिन वारदात रूके नहीं।

छावनी में तब्दील रहा घटनास्थल

शनिवार की अहले सुबह पीरी बाजार थाना क्षेत्र के घोघी कोड़ासी गांव निवासी मंगल कोड़ा के 40 वर्षीय पुत्र कारेलाल कोड़ा की हत्या गोली मारकर होने की सूचना मिलते ही पीरी बाजार थानाध्यक्ष गजेन्द्र कुमार शव को कब्जे में लेने के लिए घटना स्थल पहुंचे। चारों तरफ पहाड़ के कारण सीआरपीएफ जवान और चीता एसटीएफ के जवान मौजूद थे। घटनास्थल पर पहुंचते ही पूरा जंगल क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। चप्पे चप्पे में पुलिस की नजर थी। वहीं आने जाने वाले के अलावे हर एक व्यक्ति की गतिविधियों पर पुलिस कड़ी नजर बनाये हुए थी।जहां नक्सलियों द्वारा घटना को अंजाम दिया गया था। वह पूर्णतः नक्सली का सेफ जोन माना जाता है। पुलिस ने इस हत्या के पीछे आशंका जतार्इ है कि कारेलाल कोड़ा के नक्सली संगठन को लेवी नहीं देने पर घटना काे अंजाम दिया गया है। पुलिस छानबीन कर रही है।

हत्या के कारणाें का पता लगाने में जुटी पुलिस

पुलिस ने बताया कि मृतक कारेलाल कोड़ा पूर्व में नक्सली संगठन का सक्रिय सदस्य था। कारेलाल कोड़ा के विरुद्ध पीरी बाजार, कजरा, चानन के अलावे मुंगेर एवं जमुई जिला में नक्सली कांड में अभियुक्त है, जिसे बीते छः माह पूर्व चानन पुलिस ने मननपुर बाजार से गिरफ्तार कर जेल भेजा था। वर्तमान में कारेलाल कोड़ा गांव में सड़क व बांध निर्माण कराने का ठेकेदारी कर रहा था।

लगातार चलाई जा रही है कांबिंग


Jamui News - naxalite organizations were angry at informing the police
X
Jamui News - naxalite organizations were angry at informing the police
Jamui News - naxalite organizations were angry at informing the police
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना