नहीं मिली एंबुलेंस तो ठेला से मरीज को इलाज के लिए लाया सदर अस्पताल

Jamui News - सदर अस्पताल में मरीजों को उपलब्ध संसाधन के आधार पर भी सुविधा नहीं मिल रही है। सबसे अधिक परेशानी जरूरतमंद मरीज को...

Dec 11, 2019, 07:35 AM IST
Jamui News - no ambulance found patient brought to sadar hospital for treatment
सदर अस्पताल में मरीजों को उपलब्ध संसाधन के आधार पर भी सुविधा नहीं मिल रही है। सबसे अधिक परेशानी जरूरतमंद मरीज को एंबुलेंस को लेकर होता है। मंगलवार की सुबह कुछ ऐसे ही परेशानी जिले के खैरा प्रखंड क्षेत्र के सारेबाद निवासी भज्जू राम को भुगतना पड़ा। जहां उसके पुत्र गोलू कुमार का पैर एक सड़क दुर्घटना में टूटने के बाद उसे सदर अस्पताल के चिकित्सक ने कच्चा प्लास्टर कर पुनः दिखाने के लिए बुलाया था। वही भज्जू ने बताया कि उसका पुत्र पैर से लाचार होने के कारण चलने में बिल्कुल असमर्थ है। मंगलवार की सुबह एंबुलेंस के लिए नियंत्रण कक्ष को फोन भी किया। लेकिन अस्पताल में एंबुलेंस की कमी का हवाला देते हुए उसे एंबुलेंस नहीं मिल सका। बाध्य होकर वह एक ठेला गाड़ी पर पुत्र को बिठाकर इलाज को लेकर सदर अस्पताल पहुंच गया। बता दें कि अस्पताल के लिए यह कोई नई बात नहीं है, यहां जरूरतमंद मरीज को एंबुलेंस सहित अन्य स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिलता है,जब शिकायत किया जाता है तो अस्पताल प्रबंधन कमी का हवाला देकर अपना पल्ला झाड़ देते हैं। अस्पताल परिसर में मरीज के पास स्ट्रेचर भी रखा था पर वहां कोई कर्मचारी के मौजूद नहीं होने पर परिजन खुद स्ट्रेचर पर लादकर मरीज को इमरजेंसी वार्ड तक पहुंचाया।

सदर अस्पताल में ठेला पर मरीज को अस्पताल ले जाते परिजन।

सर्जरी कक्ष का शुभारंभ कर डीएम ने खुद आंख की जांच कराई

जमुई | सदर अस्पताल में मंगलवार को आंख के शल्य कक्ष का डीएम धर्मेंद्र कुमार एवं एसपी डॉ. इनामुल हक मेंगनू ने संयुक्त रूप से फीता काटकर उद्घाटन किया। इस दौरान डीएम ने कहा कि अब यहां के लोगों को आंख की सर्जरी के लिए बाहर जाना नहीं पड़ेगा। सर्जरी से संबंधित सारी सुविधाएं सदर अस्पताल में ही नि:शुल्क शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रबंधन द्वारा जनहित में किए जा रहे कार्यों का लेखा-जोखा करके आपसी समन्वय के साथ इसे और बेहतर बनाने का कार्य करें । इस दौरान नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. आनंद शंकर ने शल्य कक्ष में लगाए गए नेत्र जांच मशीन से सबसे पहले डीएम धर्मेंद्र कुमार के आंखों की जांच की। मौके पर उपस्थित एसपी ने कहा कि जीवन में आंख का विशेष महत्व है, इसमें किसी भी परेशानी में कोताही नहीं बरतना चाहिए। लोगों को अपने बेहतर स्वास्थ्य के लिए तुरंत इलाज करना चाहिए। नेत्र रोग विशेषज्ञ डा.आनंद शंकर ने बताया कि सदर अस्पताल के दूसरे मंजिल स्थित यह कक्ष वातानुकूलित और सभी जरूरी संसाधन से लैस है। कक्ष में करीब एक करोड़ का उपकरण लगाया गया है। चिकित्सक, नेत्र सहायक एवं एएनएम की देखरेख में बुधवार को जिले के पांच व्यक्ति का आंख से जुड़ी विभिन्न समस्याओं को लेकर ऑपरेशन किया जाएगा। अस्पताल में आंख के ऑपरेशन थिएटर संचालित होने से आम लोगों में काफी खुशी है। स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि जिले के पूर्व जिलाधिकारी डा. कौशल किशोर तथा वर्तमान डीएम धर्मेंद्र कुमार दोनों बधाई के पात्र हैं। इस दौरान सिविल सर्जन डा. श्याम मोहन दास, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा. विजेंद्र सत्यार्थी , नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. आनंद शंकर,डा. थनिष कुमार आदि उपस्थित थे।

नेत्र सर्जरी कक्ष में आंख की जांच कराते डीएम।

एंबुलेंस की है कमी


Jamui News - no ambulance found patient brought to sadar hospital for treatment
X
Jamui News - no ambulance found patient brought to sadar hospital for treatment
Jamui News - no ambulance found patient brought to sadar hospital for treatment
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना