• Hindi News
  • Bihar
  • Jamui
  • Jamui News question raised on ward councilors in firing case in nap officer39s house office closed

नप अधिकारी के घर में गोलीबारी मामले में वार्ड पार्षदों पर उठा सवाल, कार्यालय को बंद कर दिया धरना

Jamui News - नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी के आवास पर गोलीबारी व रंगदारी मांगने की घटना में अब नया मोड़ आ गया है। खुद नप...

Feb 15, 2020, 08:05 AM IST
Jamui News - question raised on ward councilors in firing case in nap officer39s house office closed

नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी के आवास पर गोलीबारी व रंगदारी मांगने की घटना में अब नया मोड़ आ गया है। खुद नप अधिकारी ने थाने में आवेदन देकर इस घटना के पीछे ठेकेदारी और कुछ पार्षदों के बीच चल रहे विवाद को कारण बताया है।

हालांकि यह तो पुलिस के लिए अनुसंधान का विषय है। नप अधिकारी डॉ. जनार्दन प्रसाद वर्मा ने शुक्रवार को सदर थाना में गोलीबारी की घटना में तीन अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। इधर, नप अधिकारी के आवास में गोलीबारी की घटना के विरोध में शुक्रवार को नगर परिषद कर्मी कार्यालय में ताला जड़कर धरना दिया। साथ ही डीएम व एसपी काे आवेदन देकर नप कार्यालय में सुरक्षाबल की तैनाती, नप अधिकारी को अंगरक्षक मुहैया कराने के अलावा जानमाल की सुरक्षा और हमलावरों की अविलंब गिरफ्तारी सहित पांच सूत्री मांग की गई है। नप कर्मियों ने 48 घंटे में अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर शांतिपूर्ण तरीके से विरोध जारी रखने की भी बात कही है।

ठेकेदारी को लेकर पूर्व से ही विवाद में हैं ईओ, जिलाधिकारी ने पूछा है शो-कॉज

ठेकेदारी काे लेकर विवादों में घिरे हैं जनार्दन प्रसाद वर्मा

दिशा की बैठक में स्थानीय विधायक विजय प्रकाश ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी डाॅ. जनार्दन प्रसाद वर्मा पर विकास कार्यों में अनियमितता, दस्तावेजों का संधारण नहीं करने सहित कई आरोप लगाया था। जिसके बाद डीएम धर्मेंद्र कुमार ने एडीएम के नेतृत्व में दो सदस्यीय टीम गठित कर मामले की जांच कराई। एक सप्ताह पूर्व जांच टीम ने रिपोर्ट डीएम को सौंपा। जांच रिपोर्ट के बाद डीएम ने नप अधिकारी से स्पष्टीकरण पूछा है। बताया जाता है कि अनियमितता के मामले में जांच टीम की रिपोर्ट के आधार पर नप अधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई तय है। पूर्व में भी कई वार्ड पार्षदों ने नप अधिकारी पर कई तरह की अनियमितता का आरोप लगाते हुए डीएम को पत्र भी दिया था।

नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी ने जताई अपने अपहरण की आशंका

नप अधिकारी द्वारा थाने में दिए आवेदन में बताया कि गुरुवार की शाम करीब 7:45 से 8 बजे के आस-पास जब वे अपने किराए के आवास पर थे। उस समय उनके साथ प्रधान सहायक त्रिपुरारी ठाकुर, वार्ड नंबर 6 के पार्षद पुत्र अरविंद कुमार भी मौजूद थे। इसी समय तीन नकाबपोश अपराधी उनके आवास में प्रवेश कर गया और उन्हें जान से मारने की धमकी देते हुए 5 लाख रुपए रंगदार की मांग की। नप अधिकारी ने कहा कि सभी अपराधी बार-बार हथियार के बल पर उन्हें गाड़ी में ले जाना चाहते थे जिससे यह प्रतीत होता है कि वे लोग उनका अपहरण करना चाहते थे। अपराधियों द्वारा घर का दरवाजा भी अंदर से बंद कर दिया गया था। इस दौरान अपराधियों ने नप अधिकारी, पार्षद पुत्र व प्रधान सहायक का मोबाइल छिन लिया था। इसी बीच उनके आवास पर उनका मकान मालिक आ गए और वे दरवाजा खटखटाने लगे। तीनों अपराधियों द्वारा यह देख दरवाजा खोला तो मकान मालिक उन अपराधियों से बहस करने लगे जिसे देख सभी अपराधी फायरिंग करते हुए वहां से भाग निकला।

नप कार्यालय के बाहर पूर्व उपध्यक्ष के साथ खड़े कार्यपालक पदाधिकारी।

शुक्रवार को नप कार्यालय के समक्ष धरना पर बैठे नगर परिषद कर्मी।

Jamui News - question raised on ward councilors in firing case in nap officer39s house office closed
X
Jamui News - question raised on ward councilors in firing case in nap officer39s house office closed
Jamui News - question raised on ward councilors in firing case in nap officer39s house office closed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना