आरपीएसएफ की कंपनी पहुंची थी किऊल, एक महीने में बुलाया वापस

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:56 AM IST

Jamui News - मोकामा से झाझा एवं किऊल-जमालपुर सेक्शन में यात्री सुविधाअाें पर रेल प्रशासन गंभीर नहीं। इस साल 10 जनवरी को 12350 डाउन...

Jhajha News - rpsf39s company arrived in seoul called back in a month
मोकामा से झाझा एवं किऊल-जमालपुर सेक्शन में यात्री सुविधाअाें पर रेल प्रशासन गंभीर नहीं। इस साल 10 जनवरी को 12350 डाउन नई दिल्ली भागलपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस काे धनौरी-उरैन के बीच दैताबांध के पास अवैध गुमटी पर रोककर अपराधियों ने लूटपाट की थी। घंटाें अपराधी यात्रियों को लूटते रहे। घटना के बाद रेल प्रशासन हरकत में जरूर आई। ट्रेनों में यात्री सुरक्षा पर आरपीएफ एवं रेल पुलिस की साझा रणनीति बनी। घटना के दूसरे दिन ही रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए आरपीएसएफ की एक कंपनी काे किऊल में तैनात किया गया था। रेलवे का उद्देश्य आरपीएफ और रेल पुलिस सयुंक्त स्कॉट पार्टी ट्रेनों में उपलब्ध कराना था। आरपीएफ के और रेल पुलिस के बड़े अधिकारी यात्री सुरक्षा का जायजा लेने किऊल से भागलपुर तक पहुंचे थे। लेकिन एक महीने में ही किऊल में तैनात आरपीएसएफ को वापस भेज दिया गया। इधर, मोकामा-झाझा एवं किऊल- जमालपुर सेक्शन में ट्रेनों में सबसे ज्यादा अपराध हुए हैं। बावजूद रात में ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा पर रेल प्रशासन गंभीर नहीं है।

X
Jhajha News - rpsf39s company arrived in seoul called back in a month
COMMENT