धन वैभव की देवी महालक्ष्मी की पूजा-अर्चना आज

Jamui News - गिद्धौर के अति प्राचीन उलाय नदी तट स्थित ऐतिहासिक दुर्गा मंदिर प्रांगण में धन वैभव की देवी मां महालक्ष्मी की पूजा...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:31 AM IST
Gidhaur News - worship of mahalakshmi the goddess of wealth today
गिद्धौर के अति प्राचीन उलाय नदी तट स्थित ऐतिहासिक दुर्गा मंदिर प्रांगण में धन वैभव की देवी मां महालक्ष्मी की पूजा को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। आश्विन शुक्ल पूर्णिमा रविवार को प्राण-प्रतिष्ठा कर पूजा-अर्चना की जाएगी।

गिद्धौर चंदेल राज रियासत द्वारा सदियों से दुर्गा पूजा के उपरांत आश्विन शुक्ल पूर्णिमा तिथि की संध्या बेला में मां लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित कर नियम- निष्ठा के साथ पूजा करने की परंपरा चली आ रही है। बतातें चले कि बंगाल राज्य में जिस तरह मां लक्खी की पूजा सदियों से कराई जा रही है। इसी प्रकार गिद्धौर चंदेल राजवंश के शासकों द्वारा अपने राज्य के आम अवाम के सुख-समृद्धि के लिए बंगाल के इस पूजा का हिन्दी रूपांतरण मां लक्ष्मी की पूजा सदियों से गिद्धौर के ऐतिहासिक दुर्गा मंदिर में कराई जा रही है। ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर में स्थापित लक्ष्मी मां की जो भक्त सच्चे हृदय से पूजा-अर्चना करता है। उनकी झोली मां धन धान्य से भर देती है। वहीं गिद्धौर के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाॅ. विभूति नाथ झा के अनुसार उक्त मंदिर में मां लक्ष्मी की प्रतिमा आश्विन शुक्ल पूर्णिमा रविवार के दिन प्राण-प्रतिष्ठा कर पूजन प्रारंभ की जाएगी।

माता लक्ष्मी की प्रतिमा को अंतिम रूप देते मूर्तिकार।

बड़ी लक्ष्मी मंदिर में की गई प्राण-प्रतिष्ठा, आज होगी पूजा

सिकंदरा | प्रखंड मुख्यालय स्थित पुरानी स्थित मंदिर में मां लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। माता लक्ष्मी मंदिर को कमेटी द्वारा सजाया गया है। रविवार को मां लक्ष्मी का आह्वान कर प्रतिमा स्थापित की जाएगी और मेले का आयोजन किया जाएगा। बता दें कि यह मंदिर बड़ी लक्ष्मी मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। यहां वर्ष 1951 से मां लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित कर पूजा- अर्चना की जाती है। माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना करने के लिए आस-पास के दर्जनों गांव से सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। वही लक्ष्मी मंदिर समिति के अध्यक्ष उपेंद्र नायक, सचिव प्रवीण वर्णवाल, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र पंडित, उपाध्यक्ष चंदन चौधरी एवं सदस्य अजीत नायक, टुनटुन स्वर्णकार, संजय स्वर्णकार, रंजीत वर्णवाल, मां लक्ष्मी मंदिर के पुजारी विजय मिश्रा, गुड्डू बाबा, लाल गुप्ता आदि सदस्यों ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी दो दिवसीय मेले का आयोजन किया गया है और 16 अक्टूबर को मां लक्ष्मी की प्रतिमा का विसर्जन शिवनाथी पोखर में किया जाएगा।

सिकन्दरा स्थित मां लक्ष्मी मंदिर।

Gidhaur News - worship of mahalakshmi the goddess of wealth today
X
Gidhaur News - worship of mahalakshmi the goddess of wealth today
Gidhaur News - worship of mahalakshmi the goddess of wealth today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना