पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jehanabad News Four Investigations Camps In Sansaba Panchayat In The Last Two Months In The Divyang Pensions Scam

दिव्यांग पेंशन घोटाले में पिछले दो महीने में सेसंबा पंचायत में लगाए गए चार जांच शिविर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सेसंबा पंचायत में दिव्यांग पेंशन घोटाले की परतें धीरे-धीरे खुल रही है। जांच में यहां बड़े घोटाले के संकेत मिल रहे हैं। गुरुवार को प्रमंडलीय आयुक्त गया के आदेश के आलोक में सिविल सर्जन के द्वारा दिए गए निर्देश पर पंचायत भवन कुरहारी में विशेष चिकित्सीय जांच दल के सामने फर्जी दिव्यांग पेंशन के मामले की जांच को अधिकारी पहुंचे। अधिकारियों के घंटों इंतजार के बाद सिर्फ एक दिव्यांग पेंशनधारी मौके पर उपस्थित होकर अपने कागजातों की जांच कराई। मालूम हो कि सेसंबा पंचायत में फर्जी दिव्यांग पेंशन पाने का आरोप लगाकर आयुक्त कार्यालय मगध प्रमंडल गया को आवेदन दिया गया था।

कमिश्नर ने जांच का दिया था आदेश
जांच की गंभीरता को देखते हुए कमिश्नर ने जांच का आदेश दिया था। इसी आलोक में जिलाधिकारी ने चिकित्सीय जांच दल गठित कर फर्जी विकलांग पेंशनधारियों के जांच का आदेश दिया था। अधिकारियों के आदेश पर कई दफे यहां जांच हो चुका है लेकिन विभिन्न बहानेबाजी की वजह से एक साथ सभी लोग जांच में सहयोग को सामने नहीं आ रहे हैं। गत 25 सितंबर को को 12 दिव्यांग पेंशन धारी एवं 3 अक्टूबर को 10 दिव्यांग पेंशन धारी उपस्थित हुए थे। इसके अलावा 9 अक्टूबर को लगाए गए जांच शिविर में भी 20 दिव्यांग उपस्थित हुए। जबकि यहां कुल 186 दिव्यांगों को पेंशन मिलता है।

43 पेंशनधारियों की जांच की गई
जांच के क्रम में पाया गया की दी गई सूची में 10 मृत पेंशनधारियों का नाम है और सेसंबा पंचायत में दो पेंशनधारी सिकंदरपुर पंचायत के पाए गए हैं। जांच टीम में डॉक्टर राजेश कुमार हड्डी रोग विशेषज्ञ , डाॅ. देवदास चौधरी नेत्र रोग विशेषज्ञ एवं डॉ . आफताब आलम कान नाक गला रोग विशेषज्ञ ,शामिल थे । डॉ. देवदास चौधरी ने बताया कि चारों दिन कुल 43 दिव्यांग पेंशन धारियों की जांच की गई है। बाकी पेंशनधारी जांच टीम के सामने उपस्थित नहीं हो सके। टीम अपनी जांच रिपोर्ट सिविल सर्जन जहानाबाद को सौंप देगी।

खबरें और भी हैं...