पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jehanabad News Many Women Of The District Are Proving Their Leadership Ability In The Society

जिले की कई महिलाएं समाज में साबित कर रहीं अपनी नेतृत्व क्षमता

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जहानाबाद| जिले की कुछ महिलाओं ने अपनी कुशल नेतृत्व क्षमता व अपनी व्यवहारिक गुणों से समाज में अपने को शानदार तरीके से स्थापित कर अपनी क्षमता को साबित कर दिखाया है। ऐसी महिलाओं ने अपनी समग्र क्षमता को सार्वजनिक जीवन के विभिन्न मंचों पर प्रदर्शित कर अन्य महिलाओं के लिए जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा प्रस्तुत की है।

अद्भूत नेतृत्व कौशल से बनाई दमदार पहचान

अद्भूत वकतृता व प्रभावी नेतृत्व कौशल की वजह से जिला परिषद की वर्तमान अध्यक्ष आभा रानी ने जिले की राजनीति में पिछले कुछ वर्षों में कम समय में ही जबरदस्त पहचान बनाई हैं। राजनीतिक दल में राजद से ताल्लुकात रखने के बावजूद वे अपने खास सामाजिक व्यवहार के चलते सभी वर्गों में काफी लोकप्रिय हैं। जिन्हें भविष्य की राजनीतिक क्षितिज का बड़ा सितारा माना जा रहा है।

बिहार में शराबबंदी जैसे कानून लाने की मांग

यह वही जीवट महिला हैं जिन्होंने पटना में एक कार्यक्रम के दौरान पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार में शराबबंदी जैसे कानून लाने की मांग की थी। उन्हीं की मांग पर सीएम ने बिहार में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा की थीं। जिले के मखदुमपुर प्रखंड क्षेत्र के हेरीडीह गांव निवासी इंदु देवी ने महिला समूहों का गठन कर महिलाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करती आ रही हैं।

लगातार संघर्ष से नगर की राजनीति में बनाई जगह

पूर्व वार्ड पार्षद सुनीता देवी अपनी संघर्ष व अाम लोगों से मिलनसार व्यवहार के कारण नगर की राजनीति में विशिष्ट ख्याति अर्जित की है। प्रोफेसर कॉलोनी के वार्ड पार्षद के रूप में जहां कई उल्लेखनीय काम किया, वहीं नगर परिषद में अपनी मुखर आवाज के लिए वे पब्लिक में काफी लोकप्रिय रही हैं। वे फिलहाल प्रदेश भाजपा की वरिष्ठ नेत्री के रूप में राज्य स्तर पर अपनी पहचान बना चुकी हैं।

संघर्ष भरी नेतृत्व क्षमता से राजनीति में बनाई जगह

सुनीता कुमारी अपनी नेतृत्व क्षमता की वजह से पहले काको प्रखंड की उप प्रमुख बनीं। गत जिला परिषद के चुनाव में वे जहानाबाद भाग दो से जिला पार्षद बनीं। जिन सामाजिक व राजनीतिक हालात में उन्होंने जिला पार्षद की कुर्सी हासिल की है, उनकी नेतृत्व क्षमता का हर कोई लोहा मानता है। हमेशा सामाजिक सरोकारों से जुड़कर जन समस्याओं को लेकर हमेशा मुखर रहने वाली हैं।

समाजिक सरोकारों से मिला राष्ट्रपति पुरस्कार

अपने गहरे सामाजिक सरोंकारों व शिक्षा जगत में विशेष योगदान की वजह से इंदू कश्यप को राष्ट्रपति पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है। आज वे राजनीति में भी सफलतापूर्वक अपना रोल अदा कर रही हैं। वे सामाजिक सरोकारों से हमेशा जुड़ी रहती हैं। वे भाजपा की राज्यस्तर की वरिष्ठ नेत्री हैं और यहां सीबीएसई से मान्यता प्राप्त पीपीएम स्कूल को भी निर्देशित कर रही हैं।

शैक्षणिक काबिलियत को राजनीति में आजमाया

पीएचडी तक शिक्षा प्राप्त करने के बाद डॉ. अनुराधा सिन्हा सरकारी नौकरी में जाने के बजाय राजनीति के क्षेत्र में आकर लोगों को सेवा प्रदान करना बेहतर समझी। मोदनगंज से पहली बार जिला पार्षद की चुनाव जीती। जब से आजतक इस पद पर कायम है। उन्होंने अपने दमखम के बदौलत वर्ष 2016 में कई पुरुषों को पराजित करते हुए पुनः जिलापरिषद की कुर्सी हासिल की ।

खबरें और भी हैं...