सदर अस्पताल में समय से नहीं आते हैं ंचिकित्सक, दो घंटे ठप रही इमरजेंसी सेवा

Jehanabad News - सदर अस्पताल में चिकित्सकों की मनमानी से स्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं। कुव्यवस्था व गैर जिम्मेदारी का...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:51 AM IST
Jehanabad News - medical doctors do not come to sadar hospital on time emergency service stalled for two hours
सदर अस्पताल में चिकित्सकों की मनमानी से स्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं। कुव्यवस्था व गैर जिम्मेदारी का आलम यह है कि इमरजेंसी ड्यूटी की गंभीरता को डॉक्टर समझने को तैयार नहीं हो रहे। दरअसल कई चिकित्सक समय से ड्यूटी नहीं आ रहे हैं। जिससे इमरजेंसी में इलाज को पहुंचे मरीजों को भारी फजीहत व पीड़ा झेलने को बाध्य होना पड़ रहा है। साफ-सफाई व खान-पान की लचर व्यवस्था तो अलग है। ऐसे हालात में यहां इलाज को अस्पताल आए मरीजों को भारी परेशानी हो रही है। रविवार को सुबह में चिकित्सकों की अनुपस्थिति के वजह से इमरजेंसी सेवा दो घंटे बुरी तरह बाधित रही। ड्यूटी में तैनात नर्सों पर जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल का बोझ झेलने की मजबूरी रहती है। मरीज डॉक्टर के नहीं रहने से आक्रोशित हो जाते हैं जिसका खामियाजा मौके पर रहे कर्मियों को उठाना पड़ता है। दरअसल में नाइट ड्यूटी में रहे चिकित्सक सुबह में फाटाफट अपनी ड्यूटी समय खत्म होते ही बिना अपने अगले साथी के आए ही निकल गए। जिनकी ड्यूटी लगी थी वे समय से घंटों विलंब से अस्पताल पहुंचे। इस दौरान कई गंभीर मरीजों को नर्सों के सहारे पर निर्भर रहना पड़ा। ऐसे हालात सदर अस्पताल में अक्सर उत्पन्न हो रहे हैं। ऐसा प्रतीत हो रहा है मानो अस्पताल प्रशासन के आलाधिकारियों का अकबाल ही खत्म हो गया है। कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी की गरिमा व उसकी गंभीरता को समझ ही नहीं रहा। गनीमत यह रह रहा है कि डाक्टर विहीन होने के दौरान अस्पताल में कुछ ऐसे गंभीर मरीज नहीं आ रहे, जिससे हालात खराब होने का खतरा उत्पन्न हो सके। रविवार को सुबह में आठ से दस बजे तक इमरजेंसी सेवा डॉक्टर के अभाव में ठप पड़ी रही। इलाज को पहुंचे कई मरीजों को डॉक्टर के नहीं रहने से काफी परेशानी हुई। इमरजेंसी सेवा नहीं मिलने से परेशान मरीज स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्था को कोस रहे थे तो कई मरीजों के परिजनों के चेहरे पर आक्रोश भी दिखाई दे रहा था।

लापरवाही पर नहीं होती कार्रवाई, परिजनों को दी जाती है झूठी सांत्वना

सदर अस्पताल में डॉक्टर के इंतजार में खड़े मरीज

परिजनों ने अस्पताल प्रशासन के प्रति जताई नाराजगी

कामदेवविगहा निवासी दिलीप कुमार अपने जख्मी पुत्र को ले इलाज कराने सदर अस्पताल पहुंचे थे। जहां डाक्टर गायब मिले। सहबाजपुर के पास सड़क दुर्घटना में उनका पुत्र जख्मी हो गया था। मलहचक के गायत्री देवी स्वयं को एवं मखदुमपुर धराउत के श्रीकांत कुमार अपनी मां को इलाज कराने पहुंचे थे लेकिन चिकित्सक के अभाव में इलाज के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। इसी प्रकार राजाबाजार के इंद्र कुमार ने प्रस्रव कक्ष में भी मरीजों का समुचित देखभाल नहीं किये जाने का आरोप लगाया है। उसने बताया कि वह अपने परिजन को शनिवार की शाम में भर्ती कराया था। किंतु मरीज को रात्रि में इलाज या खान-पान सेवा नहीं मिल पाई। मरीज रात भर प्रस्रव पीड़ा से परेशान रही। बाद में रविवार की सुबह में बच्ची जन्म लिया। सभी संबंधित लोग अस्पताल प्रशासन के रवैये से खासा नाराज दिखे।

डॉक्टर के अभाव में खाली पड़ा इमरजेंसी कक्ष।

सूचना मिलने पर आनन फानन में पहुंचे सीएस

सुबह में इमरजेंसी कक्ष में डॉक्टर के नदारद रहने की सूचना सिविल सर्जन डाॅ. विजय कुमार सिन्हा को दी गई। वे मौके पर पहुंचे और आनन फानन में वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए डॉ. बीके झा को ड्यूटी पर लगाया। बाद में इंतजार कर रहे मरीजों को इलाज शुरू किया गया। उन्होंने कहा कि ड्यूटी से लापरवाही बरतने वाले चिकित्सक पर कार्रवाई होगी। मालूम हो छठ पर्व के दौरान भी गत शनिवार व रविवार को अस्पताल से अधिकांश डॉक्टर गायब थे। जिसके बाद सीएस विजय कुमार सिन्हा को तीन घंटे तक स्वयं इमरजेंसी ड्यूटी करनी पड़ी थी। चिकित्सकों की लापरवाही व गैर जिम्मेदाराना रवैये का कोई ठोस इलाज नहीं होने से स्थितियां लगातार असहज हो रहीं हैं और खामियाजा आम मरीज भुगत रहे हैं।

Jehanabad News - medical doctors do not come to sadar hospital on time emergency service stalled for two hours
X
Jehanabad News - medical doctors do not come to sadar hospital on time emergency service stalled for two hours
Jehanabad News - medical doctors do not come to sadar hospital on time emergency service stalled for two hours
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना