सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कर जनता की आंखों में धूल झोंक रही है मोदी सरकार

Jehanabad News - सांप्रदायिकता की राजनीति के खिलाफ जन एकता, जन अधिकार अभियान के तहत मंगलवार को माले द्वारा काको एवं घोसी प्रखंड...

Nov 20, 2019, 08:11 AM IST
सांप्रदायिकता की राजनीति के खिलाफ जन एकता, जन अधिकार अभियान के तहत मंगलवार को माले द्वारा काको एवं घोसी प्रखंड मुख्यालय पर विशाल प्रदर्शन किया गया। इसके साथ ही स्थानीय स्टेशन से पीजी रोड होते हुए प्रखंड मुख्यालय तक जुलूस निकाल कर आमसभा का आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए नेताओं ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कर जनता की आंखों में धूल झोंक रही है। जहानाबाद का दंगा भाजपा प्रायोजित सरकारी दंगा था। जब से मोदी सरकार आई है तब से देश में सांप्रदायिक घटनाओं में लगातार वृद्वि हो रही है। सांप्रदायिक हिंसा के मामले में बिहार पूरे देश मंे अग्रणी बन गया है। नीतीश कुमार केवल मुखौटा मुख्यमंत्री के रूप मे रह गए हैं। शासन-प्रशासन अब नीतीश के कंट्रोल में नहीं रहा। बेरोजगारी एवं महंगाई से जनता त्रस्त है। किसान कंगाल होते जा रहे हैं। मजदूरों को खेती उद्योग या अन्य किसी भी स्थान में काम नहीं मिल रहा है। अर्थव्यवस्था चौपट हो गया है। रेल, कारखाने, हवाई अड्‌डा, रक्षा, माइंस उद्योग समेत सबकुछ अौने पौने दामों पर बेचा जा रहा है।

नेताओं ने कहा-बेरोजगारी एवं महंगाई से जनता त्रस्त, किसान हो रहे कंगाल

प्रदर्शन करते माले के नेता व कार्यकर्ता।

निजीकरण देश की बर्बादी का सबसे बड़ा कारण

नेताओं ने यह भी आरोप लगाया कि निजीकरण देश की बर्बादी का सबसे बड़ा कारण बन गया है। नेताओं ने आम आवाम से अपील किया कि सांप्रदायिक उन्माद के खिलाफ एकजूट होकर अपने हक एवं अधिकार, रोजी रोटी, शिक्षा स्वास्थ्य के लिए देश व संविधान की रक्षा के लिए संघर्ष करें। इस अवसर पर जहानाबाद में आयोजित सभा राज्य सचिव रामाधार सिंह,जिला सचिव श्रीनिवास शर्मा, कुंती देवी, दिनेश दास, अरूण सिंह यादव, मुकेश पासवान, गणेश दास आदि ने सभा को संबोधित किया। घोसी प्रखंड मुख्यालय पर आयोजित सभा में राज्य कमेटी सदस्य रामबली सिंह यादव,अरूण बिंद,बुद्वदेव यादव, इंद्रेश पासवान,मदन यादव,वरूण पासवान,कमलेश कुमार एवं अवधेश मांझी आदि ने सभा को संबोधित किया। इसी प्रकार काको में आयोजित सभा में विनोद कुमारी भारती, प्रभात कुमार, रेणु देवी, भरत दास, सिद्वेश्वर बिंद, उदय पासवान आदि ने सभा को संबोधित किया।

सुगौली कांड की जिम्मेवारी लेते हुए सीएम पद से इस्तीफा दें नीतीश कुमार

अरवल| पूर्वी चंपारण के सुगौली में 10 रसोइयों की मौत के विरोध में बिहार राज्य विद्यालय रसोईया संघ एवं ऐपवा ने प्रतिवाद मार्च निकाला। जो माले कार्यालय से निकलकर एनएच 139 एनएच 110 होते हुए प्रखंड परिसर पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया। जिसे संबोधित करते हुए ऐपवा राज्य सह सचिव अनीता सिन्हा ने कहा कि सुगौली कांड के जिम्मेवार मुख्यमंत्री इस्तीफा दें व एनजीओ संचालक नरेंद्र सिंह को गिरफ्तार करें। सरकार रसोइयों को स्थाई एवं न्यूनतम वेतन की गारंटी करे। मध्याह्न भोजन योजना से एनजीओ को बाहर करे। उन्होंने मृतक के परिजनों को दस लाख रुपया मुआवजा एवं एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग सरकार से की। उन्होंने कहा कि सुगौली में भाजपा नेता राम गोपाल खंडेलवाल को घर पर एनजीओ द्वारा मध्याह्न भोजन योजना पकाने के दौरान बॉयलर फटने से 10 रसोइयों की मौत हो गई। इसके लिए सरकारी सिस्टम एवं भाजपा नेता तथा एनजीओ संचालक जिम्मेदार है। मौके पर ऐपवा के लीला वर्मा, चंद्रप्रभा देवी, माला देवी, गुंजन देवी, रसोईया कुंती देवी, प्यारी देवी आिद शामिल थी।

प्रदर्शन करती रसोइया ।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना