राष्ट्रीय लोक अदालत में मौके पर 522 सुलह योग्य मामलों का हुआ निष्पादन

Jehanabad News - स्थानीय सिविल कोर्ट परिसर में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में जिले के...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:40 AM IST
Jehanabad News - national lok adalat execution of 522 cases of reconciliation on the spot
स्थानीय सिविल कोर्ट परिसर में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में जिले के विभिन्न विभागों से जुड़े सुलह योग्य कुल पांच सौ बाइस मामलों का मौके पर निष्पादन किया गया। जहानाबाद व्यवहार न्याय मंडल में विभिन्न मामलों में 2 करोड़ 57 लाख 20 हजार 791 रुपये की वसूली हुई। जहानाबाद में राष्ट्रीय लोक अदालत का निरीक्षण करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश चंद्रप्रकाश सिंह ने संबंधित अधिकारियों को कई जरूरी निर्देश दिया। जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव सह सब जज प्रथम राकेश कुमार रजक ने बताया कि जहानाबाद में कुल 10 पीठों का गठन हुआ था, जिसमें 522 मामलों का निष्पादन किया गया, वहीं अरवल में 281 मामलों का निष्पादन किया गया। रजक के अनुसार जहानाबाद में बैंक के 437 मामलों निबटाए गए। जहानाबाद बीएसएनएल के 24 मामलों को मौके पर निष्पादित किया गया। वहीं अरवल में 15 मामलों का निबटारा हुआ। जहानाबाद में 49,270 रुपए की वसूली हुई, वहीं अरवल में 91,650 रुपए की वसूली की गई। प्राधिकार के सचिव आरके रजक ने यह भी बताया कि बिजली के 10 मामले जहानाबाद में निबटाए गए, जिसमें 77,606 रुपए की वसूली हुई। वाहन दुर्घटना वाद में जहानाबाद में 6 मामलों निबटाए गए। वहीं आपराधिक मामलों में जहानाबाद में आपराधिक वाद के 45 मामले निष्पादित किए गए, वहीं अरवल में 85 मामलों का निष्पादन किया गया।

स्थानीय सिविल कोर्ट परिसर में मामलों की हुई सुनवाई, लगी रही भीड़

लोक अदालत के निरीक्षण करते डिस्ट्रिक्ट जज।

जनता दरबार में आए मामलों की पूरी नहीं हुई सुनवाई

घोसी : स्थानीय थाना परिसर में शनिवार को अंचलाधिकारी अलका कुमारी एवं प्रभारी थानाध्यक्ष फैजरुल्लाह के द्वारा जमीन संबंधी विवाद को निपटाने के लिए जनता दरबार लगाया गया। जनता दरबार में कुल छह मामले सुनवाई के लिए लाए गए। सुनवाई के बाद संबंधित पक्षों को अगली तारीख तक सुनवाई का इंतजार करने को कहा गया है। इस तरह दो नए और चार पुराने मामले मे किसी का निष्पादन नहीं हो पाया। सभी मामले को अगले तारीख पर सुनवाई पर रखा गया।

मामलों के निष्पादन को दस पीठों का हुआ था गठन

जहानाबाद में 10 न्यायिक पदाधिकारियों का पीठ बनाया गया था, वहीं अरवल न्यायमंडल पांच पदाधिकारियों के पीठ गठन किया गया था। सभी पीठों में दो-दो अधिवक्ता को भी मामले निपटाने के लिए लगाए गए थे। जहानाबाद में एडीजे टू धमेंद्र कुमार जयसवाल, एडीजे थ्री शोभेन्द्र प्रताप सिंह, एडीजे फोर सतीश कुमार देव, एडीजे पंचम विजेन्द्र कुमार धनकर, सीजीएम राकेश कुमार, सब जज प्रथम राकेश कुमार रजक, न्यायिक पदाधिकारी उमेश प्रसाद, न्यायिक पदाधिकारी जेसांन चांद, प्रियंका कुमारी तथा आलोक रंजन शामिल थें। वहीं अरवल न्याय मंडल में शुभनंदन झा सीजीएम, कृष्ण कुमार चौधरी सब जज प्रथम, माधेन्द्र सिंह एसडीजेएम, राकेश कुमार राकेश मुसिंफ, आशीष कुमार अग्निहोत्री न्यायिक पदाधिकारी शामिल थे।

X
Jehanabad News - national lok adalat execution of 522 cases of reconciliation on the spot
COMMENT