रामगढ़ में 273 सरकारी चापाकल, लेयर की समस्या तो कहीं मुंडा गायब होने से बंद

Kaimur News - पीएचईडी विभाग के आंकड़े के मुताबिक, अब तक 1213 चापाकल लगाए गए है। लोगों की प्यास बुझाने के लिए जिनमें 273 बन्द पड़े है।...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:00 AM IST
Kaimur News - 273 government handkerchief in ramgarh the problem of layer is closed if missing
पीएचईडी विभाग के आंकड़े के मुताबिक, अब तक 1213 चापाकल लगाए गए है। लोगों की प्यास बुझाने के लिए जिनमें 273 बन्द पड़े है। हालाकि दो चार दुरुस्त कराये गए हैं लेकिन बाकी सब बेकार। इधर, वर्षो पहले प्रखंड में जलमीनार लगाया गया तो लोगों को उम्मीद जगी की अब बाजारवासियों को शुद्ध पानी मिलेगा लेकिन बने जलमीनार से शुद्ध पानी नही मिल पा रहा। बाजार में कई जगहों पर सप्लाई का मेन पाइप फटा है। पीएचईडी विभाग के अधिकारियों के द्वारा फटे पाइप को दुरुस्त करने की बातें कही गई लेकिन धरातल पर कुछ नहीं हुआ। रामगढ़ प्रखंड समेत ग्रामीण क्षेत्रो में पेयजल संकट गहराने लगा है। पेयजल की समस्या से निपटने के लिए कैमूर डीएम ने कमेटी गठित कर खराब पड़े चापाकलों को मरम्मत करने के लिए पीएचईडी विभाग को निर्देश दे चुके है। लेकिन डीएम के निर्देश का कोई असर नही पड़ रहा है। सरकारी आंकड़े बताते है कि प्रखंड के सभी तेरहों पंचायतो में 1213 चापाकलों में इंडिया मार्का के 536 स्पेशल नलकूप, 254 ग्रेबल युक्त नलकूप, 33 तारा पंप, 8 आईं एम केटेगरी के 382 नलकूप लगाए गए हैं। जिसमें कई जगहों पर तो विधायक मद से भी चापाकल लगाने की बात सामने आती है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र हो या बाजार सरकारी आंकड़े के मुताबिक, 273 सरकारी चापाकल कहीं लेयर की समस्या तो कहीं के मुंडा ही गायब होने से है। वैसे सरकारी फाइलों में आंकड़े कुछ और धरातल पर कुछ और है। साल में करीब 2 लाख रुपये मरम्मती के नाम पर खर्च भी होती है।

विभाग के कर्मियों की है लापरवाही

पीएचईडी विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर शमी अख्तर अंसारी के मुताबिक कनीय अभियंता को निर्देशित किया गया है कि जलमीनार के फटे हुए पाइप व खराब चापाकलों को जल्द से जल्द सही करे।

जलमीनार

X
Kaimur News - 273 government handkerchief in ramgarh the problem of layer is closed if missing
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना