भक्तों की प्रेम रूपी डोर से वश में हो जाते हैं भगवान: श्रीसुदामा दास व्यास

Kaimur News - स्थानीय बैजू बाबा मंदिर में भागवत कथा का आयोजन किया गया। इस दौरान मुंबई से भभुआ आए कथावाचक श्रीसुदामा दास व्यास जी...

Nov 12, 2019, 06:45 AM IST
Bhabhua News - devotees fall in love with the love of devotees srisudama das vyas
स्थानीय बैजू बाबा मंदिर में भागवत कथा का आयोजन किया गया। इस दौरान मुंबई से भभुआ आए कथावाचक श्रीसुदामा दास व्यास जी ने प्रवचन के दौरान कहा कि भक्तों की प्रेम रूपी डोर से भगवान वश में हो जाते हैं। कथा प्रवचन श्रीमद्भागवत सप्ताह के परिपेक्ष्य में चल रहा है। जिसमें कथा वाचक संत ने श्रद्धालु भक्तों को भागवत कथा के कई आयाम को विस्तार पूर्वक सुनाया। कथावाचक ने कहा कि भगवान को बांधने के लिए एक मात्र सहारा भक्तिरूपी प्रेम की डोरी ही है। प्रेम डोरी और भावना से भगवान को भक्त बांध लेते हैं। कथावाचक ने कहा कि असुरों ने भगवान को बांधने का प्रयास किया तो उसका विनाश ही हुआ। उदाहरणस्वरूप कहा कि महाभारत में पांडव की ओर से शांति दूत बनकर गए भगवान श्रीकृष्ण को बांधने का दुस्साहस दुर्योधन ने किया था। जिसका हस्र उसका विनाश हुआ। उन्होने कहा कि भगवान भक्तों के उद्धार के लिए धरती पर अवतरित होते हैं। प्रवचन के दौरान भगवान के शालिग्राम स्वरूप में अवतार की भी कथा संत जी ने विस्तार से सुनाया।

जिसमें बताया गया कि तुलसी हमेशा भगवान के श्री चरणों में अर्पित की जाती है। परंतु शालिग्राम भगवान के माथे पर तुलसी चढ़ाया जाता है।

बैजू बाबा मंदिर में सात दिनों तक चलेगी भागवत कथा :कथावाचक ने भगवान श्री कृष्ण के बाल लीला पर विस्तार पूर्वक कथा सुनाई। बताया कि इस्कॉन द्वारा आयोजित भागवत कथा सात दिनों तक चलेगी। संत महाराज ने तीन प्रकार के अंधापन को विस्तार पूर्वक उदाहरण के साथ बताते हुए कहा कि एक जन्मांध होता है, जो जन्म से अंधा होता है जबकि एक वह होता है जो वासना में हमेशा लिप्त रहता है। वहीं एक वह भी होता है जो धन के ऊपर अभिमान करता है और दुखितों व पीड़ितों की सहायता नहीं करता। बता दें कि श्रीसुदामा दास जी महाराज मुंबई से भागवत कथा प्रवचन दे रहे हैं।

X
Bhabhua News - devotees fall in love with the love of devotees srisudama das vyas
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना