स्वास्थ्य संस्थानों में बांटी जा रही गैस की प्रतिबंधित दवा रेनिटिडिन

Kaimur News - गैस की दवा रेनिटिडिन में कैंसर कारक अशुद्धियां पाई गई हैं। शोध के बाद तथ्य सामने आने पर औषधि महानियंत्रक डॉ वी जी...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:45 AM IST
Bhabhua News - ranitidine the banned drug of gas being distributed in health institutions
गैस की दवा रेनिटिडिन में कैंसर कारक अशुद्धियां पाई गई हैं। शोध के बाद तथ्य सामने आने पर औषधि महानियंत्रक डॉ वी जी सोमानी ने स्वास्थ्य संस्थानों में दवा के उपयोग व मार्केटिंग पर रोक लगा दी है। दवा पर यह रोक 26 सितंबर 2019 को लगाई गई है। इसके बावजूद जिला अस्पताल सहित जिले के विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में रेनिटिडिन नाम की दवा का वितरण धड़ल्ले से जारी है। खास यह भी की यह रसायन कई अन्य नामों से दवाएं निजी दुकानों में भी बिक रही हैं। प्रदेश के औषधि नियंत्रक रविंद्र कुमार सिन्हा ने सहायक औषधि नियंत्रक को निर्देश पत्र जारी करते हुए कहा है कि रेनिटिडिन नामक दवा के उपयोग व मार्केटिंग पर रोक लगा दी गई है। इन दवाओं की बिक्री तब तक नहीं की जा सकती है जब तक की निर्माता कंपनी प्रमाण पत्र न दे दे की रेनिटिडिन दवा में इंप्योरिटी अशुद्धि के तौर पर एनडीएमए नहीं है।

एनडीएमए रसायन है कैंसर कारक

जानकारों का कहना है कि दवा में अशुद्धि के तौर पर पाई गई एन नाइट्रोसोडाईमेथाइलएमिन रसायन कैंसर कारक है। जो दवाओं के शोधन के दौरान अशुद्धि के तौर पर रह जाती हैं। दुनिया भर के कई देशों में इस दवा पर रोक लगा दी गई है।

सीएस ने कहा- सूचना मिलते ही दवा वितरण पर लगा दी जाएगी रोक

अस्पताल में दी जानेवाली दवा।

जांच में अशुद्धि के तौर पर मिला एनडीएमए

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के जांच के क्रम में यह सामने आया है कि रेनिटिडिन नाम की गैस की दवा में अशुद्धि के तौर पर एनडीएमए पाया गया है। इसके आधार पर इस दवा को यूएसए सहित कई अन्य देशों में बैन कर दिया गया है। इसे गंभीरता से लेते हुए भारत में भी इस दवा के उपयोग व मार्केटिंग पर रोक लगा दी गई है। निर्देश के आलोक में ड्रग कंट्रोलिंग आथॉरिटी ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि शीघ्रता से इन दवाओं की बिक्री व मार्केटिंग पर प्रभावी तरीके से रोक लगाई जाए।

महकमे के दो अफसर ही आमने-सामने

सहायक औषधि नियंत्रक इंद्रशेखर यादव ने कहा कि राज्य औषधि नियंत्रक के निर्देशानुसार रेनिटिडिन दवा के मार्केटिंग व उपयोग पर रोक लगा दी गई है। इसकी सूचना सिविल सर्जन को भी दी गई है। सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों समेत निजी दुकानों में भी मौजूद इन दवाओं की सैंपल एकत्रित किए जा रहे हैं। जांच के लिए सैंपल को भेजा जाएगा। साथ ही निर्माता कंपनियों की ओर से इस बात के प्रमाण पत्र भी लिए जाने हैं कि उनकी निर्माण की गई दवा में इंप्योरिटी के तौर पर एनडीएमए में मौजूद नहीं है।

संस्थानों में धड़ल्ले से बांटी जा रही रेनिटिडिन

स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक जानकारी के मुताबिक जिला अस्पताल समेत विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में रेनिटिडिन दवा धड़ल्ले से वितरित की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की जिला ड्रग स्टोर में भी काफी मात्रा में यह दवा उपलब्ध है।

रोक के नाम पर भयादोहन कर रहे अफसर

उधर, जिले के कई दवा दुकानदारों ने पहचान छुपाकर रखने की र्श्त पर कहा कि दवा पर रोक के नाम पर अफसर भयादोहन कर रहे हैं। कभी दवाओं की प्रतिबंध तो कभी प्लाटिक पर प्रतिबंध। हालांकि दवा दुकानदारों के एसोसिएशन ने भी इन सभी प्रतिबंधों को अमल में लाने का अनुरोध दवा दुकानदारों से किया है।

रोक की कोई काॅरपोरेशन ने सूचना नहीं दी है

सिविल सर्जन डॉक्टर अरुण कुमार तिवारी ने कहा कि सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में वितरित की जाने वाली दवाएं बीएमएसआईसीएल से आपूर्ति की जाती हैं। दवाओं के वितरण पर रोक की कोई कारपोरेशन ने सूचना नहीं दी है। जैसे ही सूचना मिल जाती है शीघ्र दवा वितरण पर रोक लगा दी जाएगी।

सदर अस्पताल।

Bhabhua News - ranitidine the banned drug of gas being distributed in health institutions
X
Bhabhua News - ranitidine the banned drug of gas being distributed in health institutions
Bhabhua News - ranitidine the banned drug of gas being distributed in health institutions
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना