भभुआ में एकता चौक से अखलासपुर बस पड़ाव तक अब नहीं रहेगा वाहन स्टैंड

Kaimur News - शहर की हृदय स्थली एकता चौक से अखलासपुर बस पड़ाव तक अब कोई वाहन स्टैंड नहीं रहेगा। इसके अलावे शहर के चौक चौराहों पर...

Sep 19, 2019, 08:41 AM IST
शहर की हृदय स्थली एकता चौक से अखलासपुर बस पड़ाव तक अब कोई वाहन स्टैंड नहीं रहेगा। इसके अलावे शहर के चौक चौराहों पर बनाए गए अवैध वाहन स्टैंड को हटाया जाएगा। शहर की यातायात व्यवस्था को बेहतर करने के लिए जिला प्रशासन ने एक्शन प्लान बनाया है। डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी की अध्यक्षता में इसे लेकर एक मीटिंग हुई। इसके बारे में जानकारी देते हुए एसडीओ जन्मेजय शुक्ला ने बताया कि शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को पहली बार सुचारू और बेहतर करने के लिए कई अहम निर्णय लिए गए हैं। जिलाधिकारी ने इस पर सख्ती के साथ अमल करने का निर्देश दिया है।अतिक्रमण और ट्रैफिक की व्यवस्था को बेहतर करने के लिए प्रशासन दृढ़ संकल्पित है। पहली बार बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ जिला परिषद अध्यक्ष विशंभर नाथ सिंह, नप अध्यक्ष प्रतिनिधि, बस टेंपो, ई-रिक्शा, ठेला आदि के यूनियन के अध्यक्ष बाजार में किराए पर दुकान देने वाले मकान मालिक शामिल हुए। जिसमें यह निर्णय लिया गया कि अतिक्रमण और ट्रैफिक के सुधार के लिए शहर के रणविजय चौक पर स्थित वाहन स्टैंड को दूरसंचार कार्यालय के बगल में शिफ्ट किया जाएगा। इसके अलावे देवी मंदिर के समीप बने वाहन स्टैंड को हवाई अड्डा के पास शिफ्ट किया जाएगा। बिजली विभाग की खाली पड़ी जमीन के पास चैनपुर की तरफ जाने वाले वाहनों के लिए स्टैंड बनाया जाएगा।

शहर में नहीं रहेगा वाहन स्टैंड शहर से बाहर जगह की गई चिह्नित

अतिक्रमण की समस्या को ले अधिकारी, नप पार्षदों व नगर के लोगों के साथ बैठक करते डीएम।

सब्जी मंडी में लगेंगी दुकाने, नहीं तो आवंटन रद्द

अतिक्रमण को हटाने के लिए नियमित रूप से अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। शहर के सब्जी मंडी में जिन दुकानदारों ने जगह लिया है उन्हें मंडी में ही दुकान लगानी होगी। अन्यथा जिन दुकानोंदारों को दुकानें आवंटित की गई है उनका आवंटन रद्द करते हुए इच्छुक दुकानदार को दुकान आवंटित कर दी जाएगी। वेंडर जोन के बाहर ठेला लगाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाया गया है। ठेला चालक भी रोड के किनारे बनाए गए स्लैब पर ही ठेला लगाएंगे। जिन मकान मालिकों में अपनी दुकान किराए पर दुकान के लिए दी है। उन्हें निर्देश दिया गया है कि दुकान के बाहर किसी भी प्रकार का अतिक्रमण नहीं करें अन्यथा कार्रवाई होगी। मीट दुकानदार अगर निर्देशों का पालन नहीं करेंगे तो उन्हें बंद किया जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्र के वाहनों की शहर में नो एंट्री

ग्रामीण क्षेत्र से शहर को जोड़ने वाले वाहनों की इंट्री अब शहर में नहीं होगी।शहर के बाहर ही उन्हें निर्धारित जगहों पर सवारियों को उतारना पड़ेगा। ई-रिक्शा के जरिए सवारियों को अपने गंतव्य तक जाना होगा। जो भी सवारी वाहन शहर में प्रवेश करेंगे उन्हें जब तक किया जाएगा। ट्रैफिक को व्यवस्थित करने के लिए सभी का सहयोग लिया जाएगा। मीटिंग में सभी ने सर्वसम्मति से लिए गए निर्णय पर अपनी सहमति दी है।

प्लान नहीं हुआ अमल

अतिक्रमण को हटाने के लिए कई बार रणनीतियां बनाई जा चुकी हैं। लेकिन इस पर प्रशासनिक स्तर से अमल नहीं किया जाता। सुस्ती और लापरवाही से अतिक्रमणकारी फिर से काबिज हो जाते हैं और प्रशासनिक प्लान एक बार फिर से ध्वस्त हो जाता है। अब नए मंत्रणा के बाद देखना होगा की क्या सही मैने में प्रशासन की नीतियां सफल हो सकेंगी या नहीं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना