नामांकन प्रक्रिया सरल बनाने की विवि से मांग, प्राचार्य को ज्ञापन

Katihar News - अभाविप के नगर इकाई द्वारा केबी झा कॉलेज के प्राचार्य का घेराव किया गया। जिसमें छात्रों को नामांकन में हो रही...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:12 AM IST
Katihar News - demand from the university to simplify the nomination process memorandum to the principal
अभाविप के नगर इकाई द्वारा केबी झा कॉलेज के प्राचार्य का घेराव किया गया। जिसमें छात्रों को नामांकन में हो रही समस्या के बारे में कॉलेज प्रशासन को अवगत कराया। मौके पर केबी झा कॉलेज के अभाविप अध्यक्ष कमल ठाकुर ने बताया कि जिलें के सैकड़ों की संख्या में छात्र स्नातक में नामांकन को लेकर भटक रहे है। लेकिन छात्रों की समस्या को दूर करने के बदले कॉलेज प्रशासन से लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन तक हाथ पर हाथ धरे बैठे है।

केबी झा कॉलेज के कमल ठाकुर के नेतृत्व में प्राचार्य रविकांत मिश्रा को ज्ञापन सौपा। इस मौके पर नगर सह मंत्री विक्रांत सिंह, डीएस कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष अनीश सिंह, राहुल दुबे इकाई रोहित कुमार, रोहन प्रसाद सहित दर्जनों अभाविप कार्यकर्त्ता मौजूद रहे।

विश्वविद्यालय प्रशासन की गलती, खामियाजा भुगत रहे छात्र

अभाविप नगर सह मंत्री विक्रांत सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन के गलत नीतियों की वजह से छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा पूर्व में निजी कॉलेजों में सूची में आये छात्रों का सीट अलॉटमेंट शहर के केबी झा, डीएस कॉलेज व महिला कॉलेज कर दिया गया है। जबकि इन कॉलेज में छात्रों के द्वारा चालान की राशि दे देने के बाद छात्रों का फिर से उनके नामांकित छात्रों को उनके पुराने कॉलेज में भेज दिया गया है। इससे छात्र नामांकन लेने के लिए कभी इस कॉलेज से तो कभी उस कॉलेज में भटक रहे है।

शुक्रवार को प्राचार्य को ज्ञापन सौंपते अभाविप के सदस्य।

निजी कॉलेज अलग से चालान के राशि की कर रहे मांग

कदवा निवासी छात्र कुंदन कुमार ने बताया कि पूर्व सूची में विश्वविद्यालय के द्वारा सूर तुलसी इंटर काॅलेज दिया गया था। लेकिन विश्वविद्यालय के द्वारा केबी झा कॉलेज भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि कॉलेज में ऑनलाइन चालान 11 सौ पेय कर देने के बाद कॉलेज द्वारा सीट नही होने की बात कह रहा है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा फिर से उसे सूर तुलसी कॉलेज में नामांकन के लिए भेजा गया। जब सुर तुलसी कॉलेज नामांकन के लिए पहुंचे तो फिर से उन्हों चालान की राशि 19 सौ रुपये ऑनलाइन जमा करने को कहा जा रहा है। इससे एक छात्रों को नामांकन के लिए दो दो बार चालान की राशि भुगतान करने को विवश हो रहे है। लेकिन मजे कि बात यह है कि वर्तमान में ऑनलाइन चालान लेना बंद कर दिया गया है। इससे जिलें के ऐसे छात्र जिसका नामांकन नही हो पाया है उनका भविष्य अधर में लटका हुआ है। अभाविप के डीएस कॉलेज अध्यक्ष अनीश सिंह ने आंदोलन करने की बात कही।

X
Katihar News - demand from the university to simplify the nomination process memorandum to the principal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना