जन्म-मृत्यु के पंजीकरण से सुधरेगी स्वास्थ्य व्यवस्था

Katihar News - स्वास्थ्य संकेतकों में सुधार के लिए जन्म एवं मृत्यु का ब्योरा अनिवार्य होता है। इसके लिए आईसीडीएस निदेशक आलोक...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:45 AM IST
Katihar News - health system to improve birth and death registration
स्वास्थ्य संकेतकों में सुधार के लिए जन्म एवं मृत्यु का ब्योरा अनिवार्य होता है। इसके लिए आईसीडीएस निदेशक आलोक कुमार के निर्देश पर आईसीडीएस के जिला प्रोग्राम पदाधिकारी बेबी रानी ने आंगनबाड़ी सेविका को स्पष्ट निर्देश दिया है और कहा है कि जिस आंगनबाड़ी सेविका के केन्द्र में जन्म एवं मृत्यु का ब्योरा अद्यतन नहीं रहेगा उनपर कार्रवाई भी हो सकती है। पत्र के माध्यम से बताया गया है कि पूर्व में विकास आयुक्त की अध्यक्षता में संपन्न जीवनांक सांख्यिकी से संबंधित राज्य स्तरीय अन्तर्विभागीय समन्वय बैठक में नियमित रूप से ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस(वीएचएसएनडी) पर आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण करना अनिवार्य किया गया था। लेकिन इस संबंध में निर्देश के अनुपालन में कमी देखी गयी है। पत्र के माध्यम से बताया गया है कि जन्म एवं मृत्यु पंजीकरण के साथ इसकी नियमित समीक्षा भी होना अनिवार्य है। इसमें प्रगति लाने के लिए सभी जिलों के जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस को निर्देशित किया गया है।

आंगनबाड़ी सेविकाओं को दी गई है जन्म-मृत्यु पंजीकरण की जिम्मादारी

इसलिए जरूरी है जन्म एवं मृत्यु पंजीकरण

स्वास्थ्य संकेतकों में सुधार के लिए जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण एवं इसकी समीक्षा को जरूरी माना गया है। स्वास्थ्य नीतियों में जरूरी सुधार, स्वास्थ्य कार्यक्रमों की जरूरत, स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार एवं क्षेत्र की स्वास्थ्य स्थिति को जानने एवं जरूरी उपाय कार्यान्वित करने के लिए जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण एवं इसकी नियमित समीक्षा करना जरूरी है। सप्ताह में दो दिन बुधवार एवं शुक्रवार को सभी उपकेंद्रों या आंगनबाड़ी केन्द्रों पर ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस(वीएचएसएनडी)मनाया जाता है। इस दिन गर्भवतियों की प्रसव पूर्व जांच, बच्चों का टीकाकरण के साथ-साथा स्वास्थ्य एवं पोषण पर महिलाओं को परामर्श दिया जाता है। इसलिए इस दिन आसानी से जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण किया जा सकता है।

X
Katihar News - health system to improve birth and death registration
COMMENT