कोर्ट के आदेश पर भी शिक्षिका की पदस्थापना नहीं, आत्मदाह की धमकी

Katihar News - न्यायालय के आदेश के बावजूद पंचायत नियोजन इकाई ने गुंजन कुमारी को शिक्षक पद पर पुन: नियोजित नहीं करने को लेकर...

Nov 11, 2019, 08:00 AM IST
न्यायालय के आदेश के बावजूद पंचायत नियोजन इकाई ने गुंजन कुमारी को शिक्षक पद पर पुन: नियोजित नहीं करने को लेकर प्रखंड कार्यालय समेली में अपने बच्चे के साथ 15 नवंबर को आत्मदाह करने की धमकी दी है।

समेली प्रखंड के दियारा चांदपुर गांव निवासी गुंजन कुमारी ने बताया कि 9 फरवरी 2016 को चांदपुर पश्चिमी पंचायत के प्राथमिक विद्यालय रामनगर में पंचायत नियोजन इकाई के द्वारा शिक्षिका पद पर किया गया था। 10 जुलाई 2017 को हाईकोर्ट से शिक्षक पद पर माननीय उच्च न्यायालय द्वारा स्टे लगा दिया गया। उसके बाद पंचायत नियोजन इकाई ने नौ दिन बाद मुझे शिक्षिका पद से हटा दिया गया। न्यायालय में मैने अपील दायर की जिसके बाद न्यायालय के द्वारा मुझे पुनः नियोजित (रिस्टोर) करने का निर्देश पंचायत नियोजन इकाई को दिया। लेकिन ढाई माह बाद भी पंचायत नियोजन इकाई ने मेरा नियोजन नहीं किया। बता दें कि गुंजन कुमारी ने शिक्षिका के पद पर नियोजन को जिला पदाधिकारी से लेकर बिहार सरकार के मुख्यमंत्री से न्याय की अपील की थी। पीड़ित ने मुख्यमंत्री बिहार सरकार, महिला आयोग पटना, अनुमंडल पदाधिकारी कटिहार आदि को दिया। नियोजन के लिए उच्च न्यायालय की कॉपी पंचायत राज पश्चिम चांदपुर तथा सचिव को दिया। लेकिन नियोजन को लेकर कोई आश्वासन नहीं मिला।

जहां परेशान शिक्षिका गुंजन कुमारी ने न्यायालय के आदेश के बावजूद भी नियोजन नहीं होने के कारण दिनांक 15 नवम्बर की दोपहर दो बजे प्रखंड कार्यालय समेली में अपने बच्चे के साथ आत्मदाह करने को लेकर धमकी दी है। बीडीओ सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि नियमानुसार कार्रवाई करने हेतु अध्यक्ष सचिव व पंचायत नियोजन इकाई चांदपुर पश्चिमी को निर्देशित किया गया है।

डीएम से सीएम तक कर चुकी हैं अपील

समेली प्रखंड मुख्यालय में भटक रही पीड़ित शिक्षिका गुंजन कुमारी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना