गर्भवती सेविका की अस्पताल ले जाते समय मौत

Katihar News - प्रखंड के महम्मदपुर पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या सात के आंगनबाड़ी सेविका की गत रात्री असामयिक मौत हो गई। हालांकि...

Nov 11, 2019, 08:00 AM IST
प्रखंड के महम्मदपुर पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या सात के आंगनबाड़ी सेविका की गत रात्री असामयिक मौत हो गई। हालांकि आंगनबाड़ी सेविका 9वें माह की गर्भवती थी और पिछले 8 दिन से वह खांसी से पीड़ित थी। इस दौरान उन्हें स्थानीय ग्रामीण डॉक्टर के द्वारा दवाई लिया गया। माना जा रहा है उसके दवाई के कारण ही गर्भवती महिला की मौत हुई है। इस संबंध मृतिका के परिजन द्वारा कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई है। लेकिन परिजनों का आरोप है कि झोलाछाप डाॅक्टर के दवाई से ही आंगनबाड़ी सेविका अजमेरी की मौत हुई है। जानकारी के अनुसार यह घटना बीते रात की बताई जाती है। महम्मदपुर गोगरा टोला ग्राम निवासी मो अहमद की प|ी एवं आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 311 की सेविका 28 वर्षीय अजमेरी बेगम गत दिन बुधवार को डंडखोरा प्रखंड स्थित डंडखोरा मुस्लिम टोला अपने मायके गई थी। जिनकी तबीयत खराब होने पर उनके परिजन उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र डंडखोरा ले गया। स्थिति बेकाबू देख उक्त महिला को कटिहार रेफर कर दिया। अजमेरी के परिजन ने बताया कि कटिहार ले जाने के क्रम में बैगना गुमटी के निकट उनकी मौत हो गया। अजमेरी बेगम के पति मो अहमद ने कहा कि अपने गांव में ग्रामीण डॉक्टर अनवारूल से अपनी प|ी की बीमारी की दवाई ली थी। झोलाछाप डॉक्टर के द्वारा अमोस्का अमोक्सीलेव 625 एमजी एवं एल हिस्ट मॉन्ट और एक कफसीरफ दिया। दवाई खाने से उनकी हालत बिगड़ गई और इलाज के लिए कटिहार ले जाने के दौरान मौत हो गई। उधर ग्रामीण डाॅक्टर अनवारूल का कहना है उसने केवल कफसीरफ की दवाई दी थी। चिकित्सकों का मानना है जब कोई महिला गर्भवती होती है तो उसे उसके पैथोलॉजिकल जांच के आधार पर सैफ साइट एन्टीबायोटिक मेडिसिन दी जानी चाहिए।

सेविका की मौत पर विलाप करते परिजन।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना