लौटने लगे पशुपालक तो आरडीडी ने किया उद्घाटन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पशुपालन, मत्स्य और गव्य विभाग की ओर से श्री कृष्ण गौशाला में आयोजित दो दिवसीय पशु मेले का उद्‌घाटन का इंतजार गुरुवार को जिले के किसान समेत पशुपालन विभाग के तमाम पदाधिकारी चार घंटे तक करते रहे। मेले का उद्‌घाटन खनन और भूतत्व मंत्री विनोद सिंह के हाथों दोपहर 12 बजे होना था पर दोपहर 4 बजे तक मंत्री नहीं आए। उनके इंतजार में कुर्सियां खाली रह गईं। मंत्री के नहीं आने पर किसान लौटने लगे तो आनन-फानन में मेले का उद्‌‌घाटन पशुपालन विभाग के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. जयप्रकाश के हाथों कराया गया। मेले में जिलेभर से 150 से अधिक पशुपालक पहुंचे थे। मेले में पहुंचे मनसाही निवासी पशुपालक अभय कुमार ने बताया कि 11:30 बजे मेले में पहुंचे हैं पर मेले का उद्‌घाटन नहीं हुआ है। यहां आकर हमलोगों को कुछ जानकारी हासिल नहीं हुई। जिला पशुपालन पदाधिकारी प्रमोद प्रसाद मेहता ने बताया कि मंत्री विनोद सिंह का इंतजार में चार घंटे हो चुके हैं, उद्‌घाटन पशुपालन क्षेत्रीय निदेशक डॉ. जयप्रकाश करेंगे।

गुरुवार को आयोजित पशु मेले में शामिल लोग।

बेहतर 25 पशुपालक आज किए जाएंगे पुरस्कृत
मेले में पशुपालकों को पशुपालन से जुड़ी योजनाओं की जानकारी दी गई। मेले में पशु प्रदर्शनी भी लगाई गई। पशु प्रदर्शनी में अच्छे नस्ल के पशु और अधिक दूध देने वाले पशुओं के मालिक को शुक्रवार को सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए चयन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। 25 से अधिक पशुपालक सम्मानित होंगे।

पशुपालक समय-समय पर पशुओं को दिलाएं टीका
जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ. प्रमोद कुमार मेहता ने कहा की किसानों और पशुपालकों के लिए पशु एक बड़ा धन है। उन्होंने कहा कि भारतीय सभ्यता और संस्कृति में पशुधन को आदि काल से महत्ता दी गई है। पशुधन के कल्याण के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है। इसमें पशुओं का टीकाकरण सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। उन्होंने समय-समय पर पशुओं का टीकाकरण कराने की आवश्यकता पर जोर दिया।

खबरें और भी हैं...