• Hindi News
  • Bihar
  • Katihar
  • Manihari News with the rise in the water level of ganga then the threat of gangetic erosion threatened near gandhi tola

गंगा के जलस्तर में वृद्धि के साथ फिर गांधी टोला के समीप गंगा कटाव का खतरा मंडराया

Katihar News - गंगा के जलस्तर में लगातार हो रहें वृद्वि से गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के साथ मनिहारी के गांधी टोला से लेकर बाघमारा तक...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:05 AM IST
Manihari News - with the rise in the water level of ganga then the threat of gangetic erosion threatened near gandhi tola
गंगा के जलस्तर में लगातार हो रहें वृद्वि से गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के साथ मनिहारी के गांधी टोला से लेकर बाघमारा तक कटाव का खतरा पुनः एक बार बढ़ने लगा है। गंगा अपना कड़ा रुख अख्त्यार करती जा रही है। मनिहारी नगर क्षेत्र के वार्ड संख्या 1 बाघमारा पंचायत एवं बोलीया पंचायत क्षेत्र के लोग भयभीत है। कटाव के कारण अबतक सैकडों एकड़ कृषि योग्य भूमि गंगा मे विलीन हो गया है। अब मनिहारी -कटिहार मुख्य रेलवे लाइन जो गांधी टोला के समीप स्टोन माइल पिलर संख्या 22/9 के समीप गंगा का कटाव महज एक सौ मीटर के करीब पहुंच चुका है। जिससे गांधी टोला के ग्रामीणों में काफी भय व्याप्त है। बाघमारा पंचायत के किसान राजेन्द्रपोद्दार ,पंचानंद पोद्दार ,अयोध्या यादव ,विनोद यादव ,दिनानाथ पासवान ,इन्द्रदेव पासवान ,धन्नो पासवान आदी किसानों के सैकड़ों एकड़ खेती योग्य ज़मीन गंगा में विलीन हो चुके है।

कटाव के कारण सैकड़ों एकड़ कृषि योग्य भूमि गंगा में हुअा विलीन

मनिहारी गांधी टोला के पास गंगा का कटाव, जिससे भयभीत हैं ग्रामीण।

अधिकारी-जनप्रतिनिधि देख चुके हंै स्थल को

कटाव स्थल के समीप गांधी टोला गांव के स्थानीय ग्रामीण विमल पासवान ,शिवगोविंद पासवान ,रामदेव पासवान, प्रीतम पासवानल का कहना है कि स्थानीय पदाधिकारी पहुंचे लेकिन फिर भी कटावरोधी कार्य नहीं शुरू किया गया है।

बाढ़ में ये गांव विलीन हो चुके हैं:

इसके पूर्व बाघमारा और बोलीया पंचायत मे लाखों रुपया के कई सरकारी भवन गंगा मे समा चुके है और सैकडों परिवार विस्थापित होकर अन्यत्र पलायन कर चुके है। पिछले वर्ष पुराना मदरसा का भवन ,एक 25 लाख की लागत से बना मदरसा का नया भवन, एक पुराना जामा मस्जिद और सामुदायिक भवन गंगा के कटाव मे विलीन हो चुका है। गंगा के कटाव मे अब तक कई विद्यालय और सरकारी भवन गंगा मे समा चुके है। कई विद्यालय जो गंगा के बेहद करीब हंै।

विधायक ने कहा मामला विधानसभा में उठाया गया था


राशि स्वीकृति होते ही काम हाेगा शुरू


आजमनगर में महानंदा का पानी से घिरे दर्जनों गांव, लोग पलायन को विवश

आजमनगर तटबंध का निरीक्षण करतीं जिलाधिकारी।

आजमनगर| भारी वर्षा के कारण महानंदा नदी उफान पर है इस बाबत आजमनगर प्रखंड के एक दर्जन से अधिक गांवो में पानी फैल गया है जिससे गांव के चारों ओर पानी ही पानी नजर आ रहा है महानंदा से घिरा एक दर्जन से ज्यादा गांवों के लोग पलायन को विवश हो रहे है। स्थिति को देखकर जिला पदाधिकारी अधिकारियों के साथ आजमनगर पहुंची। तत्काल गांव के लोग प्रशासन से नाव उपलब्ध कराने की मांग की है ग्रामीणों का कहना है कि महानंदा का जलस्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा है परंतु स्थिति अगर विकराल रूप लेती है तो गांव छोड़ने को विवश होना पड़ेगा प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रखंड क्षेत्र के कनहरिया बेलंदा केलाबारी डुमरिया औलिया सोलकंधा रतनपुर गढ़बधुआ बेरिया चांदपुर शिवमंदिर टोला इमाम नगर आदि सहित प्रखंड क्षेत्र के एक दर्जन से ज्यादा गांवो में महानंदा का पानी फैल गया है।

Manihari News - with the rise in the water level of ganga then the threat of gangetic erosion threatened near gandhi tola
X
Manihari News - with the rise in the water level of ganga then the threat of gangetic erosion threatened near gandhi tola
Manihari News - with the rise in the water level of ganga then the threat of gangetic erosion threatened near gandhi tola
COMMENT