मानसी थाने में डीजीपी ने पाया सब ठीक, जाते ही सामने आई दोहरे हत्याकांड की वारदात

Khagaria News - भास्कर न्यूज | खगड़िया/बेलदौर गुरुवार को अहले सुबह कैपिटल एक्सप्रेस ट्रेन से मानसी पंहुचे डीजीपी गुप्तेश्वर...

Oct 18, 2019, 08:31 AM IST
भास्कर न्यूज | खगड़िया/बेलदौर

गुरुवार को अहले सुबह कैपिटल एक्सप्रेस ट्रेन से मानसी पंहुचे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने मानसी थाना का निरीक्षण किया। जहां उन्होंने सबकुछ ठीक-ठाक पाया। डीजीपी के मानसी पहुंचने से पूर्व एसपी मीनू कुमारी मानसी थाना में मौजूद थीं। तथा मानसी पुलिस भी पूरी तरह मुस्तैद थी। जबकि डीजीपी के मानसी से सहरसा निकलने के कुछ देर बाद ही बेलदौर थाना क्षेत्र में दोहरे हत्याकांड की वारदात सामने आ गई। जिसके बाद पुलिस महकमे की नींद उड़ गई। बताया जाता है कि एनएच 107 के रास्ते जिस वक्त डीजीपी सहरसा जा रहे थे, उसी वक्त बेलदौर के माली चौक के समीप बलकुंडी धार से महिला व बच्ची का शव बरामद किया गया। जिससे इलाके में सनसनी फैल गई। बहरहाल दोहरे हत्याकांड की वारदात सामने आने के बाद बेलदौर पुलिस शव बरामद कर घटना की छानबीन में जुट गई है। लेकिन देर शाम तक शव की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस द्वारा दोनों शव का पोस्टमार्टम करा कर पहचान के लिए सुरक्षित रखा गया है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि गुरूवार की सुबह जब स्थानीय लोग जीरो माइल चौक स्थित बलकुंडी धार की तरफ गए तो वहां गड्ढे में लगभग 30 वर्ष की एक महिला तथा 7 वर्ष की एक बच्ची का शव देख चौंक गए।

दोहरे हत्याकांड से क्षेत्र में फैली सनसनी, पड़ताल में जुटी पुलिस टीम

मानसी थाना पर एसपी के साथ मौजूद डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय।

महिला और बच्ची की गला रेतकर की गई निर्मम हत्या

बेलदौर स्थित एनएच 107 के बेला नवाद गांव से दक्षिण पुल के नीचे पानी भरे बलकुंडी धार में अहले सुबह खेत घूमने निकले ग्रामीणों को दो शव दिखाई देने पर मामले की जानकारी स्थानीय सरपंच को दिया गया तथा सरपंच ने इसकी सूचना थानाध्यक्ष राजीव कुमार लाल को दी। घटनास्थल पर पंहुची पुलिस पानी में तैरते दोनों शव को बाहर निकाला। शव को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि महिला एवं बच्ची की हत्या किसी धारदार हथियार से गला रेतकर किया गया है। महिला के नांक एवं चेहरे पर धारदार हथियार से वार के गहरे जख्म के निशान मिले हैं। जबकि गड्ढे के किनारे खून का धब्बा फैला हुआ था। जिससे उक्त स्थल पर ही हत्या की घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है। घटनास्थल से बाल का जुराब एवं एक चप्पल बरामद किया गया। इधर एक साथ दो शव बरामद होने की सूचना पर वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस बरामद शव को पहले जीरो माइल पीकेट ले गई तथा उसे पहचान के लिए रखा लेकिन शव का शिनाख़्त नहीं हो पाया।

आए दिन थाना क्षेत्र में आपराधिक घटनाओं में हो रही वृद्धि

जिले में आए दिन हत्या, लूट व छिनतई जैसी आपराधिक घटनाओं में वृद्वि हो रही है। अपराधी बेखौफ होकर हत्या या लूट जैसी वारदात को अंजाम देते फिर रहे हैं। ताजा घटना की बात करें तो महिला एवं बच्ची की हत्या के बाद लोगों द्वारा तरह तरह के कयास लगाए जा रहे है। ऐसी आशंका जाहिर की जा रही है कि किसी अपनों ने महिला एवं बच्ची को सुनसान जगह ले जाकर निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी।

आशीष सिंह की शहादत को भूले डीजीपी, डीआईजी ने दिलाई याद

मानसी से सहरसा पंहुचे डीजीपी से जब वहां के पत्रकारों ने एक वर्ष बीतने के बाद भी पसराहा थाना के शहीद थानाध्यक्ष आशीष सिंह की हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर सवाल पूछा तो डीजीपी आशीष कुमार को नहीं पहचान पाए तथा उन्हें वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों से पूछना पड़ा कि पत्रकारों ने किस आशीष को लेकर सवाल किया है। इसके बाद वहां मौजूद अधिकारियों ने उन्हें सब कुछ बताया तब उन्होंने सभी आरोपी की गिरफ्तारी हो जाने की बात कह दी। जबकि दारोगा आशीष कुमार हत्याकांड का मुख्य आराेपी दिनेश मुनि अब भी पुलिस की गिरफ्ता से बाहर है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना