फर्जी सर्टिफिकेट पर बहाल शिक्षकों के फोल्डर गायब, नियोजन रद्द करने की कार्रवाई ठंडे बस्ते में

Khagaria News - शिक्षा विभाग में तैनात फर्जी शिक्षकों की जांच ठंडे बस्ते में चली गई है। शासन के सख्त निर्देश के बावजूद प्रखंड...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:25 AM IST
Mansi News - dismissed teachers39 folder missing on fake certificate action taken in cancellation
शिक्षा विभाग में तैनात फर्जी शिक्षकों की जांच ठंडे बस्ते में चली गई है। शासन के सख्त निर्देश के बावजूद प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, बीआरपी एवं नियोजन इकाई अफसरों से सांठ-गांठ कर फर्जी शिक्षक मौज में हैं। सूत्रों का दावा है कि कायदे से जांच हो तो खगड़िया में सैकड़ों शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी मिलेंगे। एेसे शिक्षकों को शिक्षा माफिया की कृपा दृष्टि मिली हुई है।

15 जनवरी को शिक्षा विभाग ने विभिन्न प्रखंडों के 25 फर्जी शिक्षकों की सूची जारी कर नियोजन इकाई से इनके नियोजन को रद्द करने का निर्देश दिया था, लेकिन यह कार्रवाई ठंडे बस्ते में डाल दी गई। बीते वर्ष मुख्यालय से टीईटी के आधार पर बहाल शिक्षकों के प्रमाण पत्र तथा सूची की मांग की गई थी। सरकार का उद्देश्य टीईटी प्रमाण पत्रों की जांच करा फर्जी पाए जाने पर संबंधित शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करना था। लेकिन प्रखंडों की ओर से ही सूची तथा प्रमाण पत्र जमा नहीं किए गए। कई प्रखंडों में नियोजित शिक्षकों के फोल्डर तक गायब हो चुके हैं।

सबसे अधिक अलौली में बहाल हैं फर्जी शिक्षक

पिछले एक दशक से जिले में फर्जी प्रमाण पत्र पर नियुक्त सैकड़ों शिक्षक ऊंची पहुंच का लाभ लेकर जाली दस्तावेजों की मदद से नौकरी हासिल कर ली।

सूत्र बताते हैं कि सबसे अधिक फर्जी डिग्री पर अलौली में शिक्षक बहाल हुए हैं। आलम यह है कि अलौली में बीते वर्ष ऐसे शिक्षकों को पदस्थापन विवरणी जमा करने का निर्देश मिलते ही वहां गोलबंदी शुरू हो गई है। जो अपनी योग्यता के बूते शिक्षक बने हैं वह तो अपना फोल्डर नियोजन इकाई को जमा कराना चाहते हैं, लेकिन फर्जी शिक्षक और उनके परिजन ऐसे शिक्षक को भी फोल्डर जमा नहीं करने की धमकी दे रहें हैं।

नियोजन माफिया के संरक्षण में सैकड़ों शिक्षक फर्जी प्रमाण पत्र पर कर रहे हैं कार्य, सबसे अधिक अलौली मंे कार्यरत

बीते 15 जनवरी को जारी 25 फर्जी शिक्षकों की सूची।

जिले में 400 से अधिक फर्जी शिक्षक हैं बहाल | ज्ञात हो कि मुख्यालय स्तर पर समीक्षा के दौरान सामने आया था कि फर्जी टीईटी प्रमाण पत्र के आधार पर भारी संख्या में लोग शिक्षक की नौकरी पाने में सफल रहे। इसके बाद प्राथमिकी व कार्रवाई भी हुई। इधर सूत्रों की अगर मानें तो खगड़िया जिले में 400 से अधिक फर्जी शिक्षक कार्यरत हैं। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खगड़िया प्रखंड में 67 टीईटी प्रमाण पत्र, अलौली 108, चौथम 18, परबत्ता 38, बेलदौर में 33, मानसी में 14 तथा गोगरी प्रखंड से 92 शिक्षक फर्जी टीईटी प्रमाण पत्र पर कार्य कर रहे हैं।

जांच के भय से कई शिक्षक हो गए फरार

शिक्षा विभाग के सूत्रों की मानें तो जिले में शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़ा उजागर होने और जांच के निर्देश के बाद जिले के कई शिक्षक फरार हो गए हैं। वहीं कई शिक्षकों ने तो अन्यत्र नौकरी का हवाला देकर अपने सभी प्रमाण पत्र वापस ले लिए हैं। बताते हैं कि जांच की सुगबुगाहट से इनमें खलबली मची हुई है। गड़बड़ी पकड़ में आने पर कार्रवाई के भय से वह पहले ही किनारा करने में भलाई समझ रहे हैं।

कई शिक्षकों पर है प्राथमिकी दर्ज, कराई जाएगी पूरी जांच


Mansi News - dismissed teachers39 folder missing on fake certificate action taken in cancellation
X
Mansi News - dismissed teachers39 folder missing on fake certificate action taken in cancellation
Mansi News - dismissed teachers39 folder missing on fake certificate action taken in cancellation
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना