चाहिए ड्रेनेज व सीवरेज, 7 वर्ष पूर्व टेंडर भी हुआ पर अब तक बना नहीं, नतीजा शहर में जलजमाव

Khagaria News - बीते दिनों हुई लगातार बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया। सड़कों के साथ लोगों के घरों में पानी घुस गया। आलम ऐसा है कि...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:56 AM IST
Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
बीते दिनों हुई लगातार बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया। सड़कों के साथ लोगों के घरों में पानी घुस गया। आलम ऐसा है कि जिला और नगर प्रशासन को पंप सेट चलाकर पानी निकालना पड़ रहा है। शहर के उत्तरी भाग से चार दिनों से पंपिंग सेट से पानी निकाला जा रहा है। इससे एक तरफ के लोगों को राहत जरूर मिल रही है पर नगर के वार्डों से निकाला गया पानी सन्हौली पंचायत के मोहल्लावासियों के घरों में घुस रहा है। आलम यह है कि बारिश के पानी से पूर्व से ही जलजमाव से जूझ रहे सन्हौलीवासियों को नगर के वार्डों में जमे पानी की मार झेलनी पड़ रही है, जिससे लोगों में प्रशासन के प्रति नाराजगी है।

गौरतलब है कि नगर के वार्ड 13, 14, चित्रगुप्त नगर, राजेन्द्र नगर आदि में पानी भरा है। शनिवार को भास्कर टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि 2012 में नगर परिषद ने शहर को इस समस्या से छुटकारा के लिए नगर व आवास विभाग को ड्रेनेज व सीवरेज सिस्टम का डीपीआर भेजा था। डीपीआर 160 करोड़ का था। पूर्व नगर सभापति मनोहर यादव ने बताया कि दोनों चीजों के लिए विभाग ने टेंडर भी किया, लेकिन बाद में उस टेंडर को रद्द कर दिया गया।

शहर के उत्तरी भाग से 4 दिनों से पंपिंग सेट के माध्यम से निकाला जा रहा पानी

सड़क पर जमे बारिश के पानी में घुसकर स्कूल से घर जाते बच्चे।

पीड़ित मोहल्लावासी कर रहे हैं ड्रेनेज सिस्टम की मांग

खगड़िया नगर क्षेत्र में जलजमाव सबसे बड़ी समस्या है। यहां मामूली बारिश में भी नाले का पानी सड़कों पर बहने लगता है व सड़कों पर जलजमाव की समस्या बनी रहती है। निचले इलाके में लोगों के घरों में पानी पहुंच जाता है और मोहल्ले की सड़कें पानी में डूब जाती है। ऐसी समस्या का समाधान के लिए शहर में ड्रेनेज सिस्टम एवं सीवरेज सिस्टम बनाना आवाश्यक है, लेकिन लंबे समय से शहरवासियों की इस मांग को नगर विकास एवं आवास विभाग नजरंदाज कर रही है। बहरहाल, इस बार हुए भारी बारिश से उत्पन्न जलजमाव से विभाग की उदासीनता के प्रति शहर के लोगों का आक्रोश उफान पर है। लोगों द्वारा ड्रेनेज सिस्टम बनाए जाने की मांग की जा रही है।

तीन जगहों से पानी निकालने के लिए बनाया था प्रारूप

तैयार डीपीआर में शहर में जमा पानी को निकालने के लिए तीन जगहों पर व्यवस्था की गई थी। इसमें जेएनकेटी, दान नगर के पास से शहर के दक्षिणी हिस्से का पानी को निकाल कर बूढ़ी गंडक नदी में डाला जाता। वहीं शहर के उत्तरी भाग के पानी को निकाल कर सोनमनकी स्थित बागमती नदी में डाले जाने की योजना थी। अगर, ऐसा होता तो आज शहर को जलजमाव से दो चार नहीं होना पड़ता।

काम पूरा होने का आश्वासन नहीं मिला तो होगा आंदोलन


जलजमाव का स्थायी समाधान नहीं हुआ तो होगा आंदोलन : चंदन

खगड़िया | शहर की जलजमाव की समस्या पर एक सप्ताह के अंदर नगर एवं आवास विभाग कोई ठोस कदम नहीं उठाता है तो खगड़िया के लोग सड़क पर उतर कर बड़े आंदोलन के लिए बाध्य हो जाएंगे। उक्त बातें शनिवार को युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष चंदन सिंह ने प्रेस से वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि बड़े नेताओं ने अपने स्वार्थ के लिए नगर परिषद द्वारा तैयार करवाए गए डीपीआर को टेंडर होने के बाद ठंडे बस्ते में डाल दिया। आज शहर के लोग नारकीय जीवन जीने को विवश हैं। आखिर ऐसा कब तक चलता रहेगा। नगर एवं आवास विभाग ने पटना को तो नर्क बना दिया है। अब खगड़िया को कम से कम ऐसा नहीं बनने देंगे। उन्होंने स्थानीय विधायक, सांसद को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि शहर के लोगों की समस्या को देखते नगर एवं आवास विभाग में जाकर इस समस्या का समाधान ढूंढना चाहिए।

बारिश का पानी निकालने में सामाजिक कार्यकर्ता भी जुटे

जल निकासी की व्यवस्था का जायजा लेते जदयू जिलाध्यक्ष।

भास्कर न्यूज | खगड़िया

बारिश के पानी से हुए जलजमाव से रेलवे लाइन के उत्तरी भाग में र्ड 13, 14, 15 और वार्ड 16 के लोगों को मुक्ति दिलाने के लिए तीसरे दिन भी पंप सेट से पानी निकाला गया। राजेंद्र नगर के लोगों को अब राहत मिलने लगा है।

एडीएम, एसडीओ, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को पानी निकालने की दिशा में पहल करते देख पूर्व नगर सभापति मनोहर यादव, जदयू जिलाध्यक्ष बबलू मंडल, शिक्षक नेता मनीष सिंह, जदयू नेता अरविंद मोहन, वार्ड पार्षद शिवराज यादव, पार्षद प्रतिनिधि राजेश कुमार, नितिन कुमार, प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष प्रभाकर प्रभात, प्रदुम्न सिंह, संजीव सिन्हा, नंदू कुमार, सुमित झा समेत दर्जनों लोगों ने प्रशासन के सहयोग में खड़े रहे।

जिस प्रकार मजिस्ट्रेट, पुलिस पदाधिकारी व जवान बारी- बारी से तैनात होते हैं, वैसे ही हमेशा दर्जन से अधिक सामाजिक कार्यकर्ता सहयोग में मौजूद रहते हैं।

वार्ड 13, 14, चित्रगुप्त व राजेंद्र नगर हैं डूबे, 160 करोड़ का तैयार हुअा था डीपीआर

Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
X
Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
Khagaria News - drainage and sewerage should also be tendered 7 years ago but not yet made result in water logging in the city
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना