• Hindi News
  • Bihar
  • Khagaria
  • Parbatta News due to the deadlock in the construction of the bridge construction the administration reduced the land in the deployment of the police force

पुल निर्माण में गतिरोध का हुआ समाधान, पुलिस बल की तैनाती में प्रशासन ने खाली कराई जमीन

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:46 AM IST

Khagaria News - प्रखंड के दक्षिणी छोर पर स्थित गंगा नदी पर अगुवानी और सुलतानगंज के बीच बनाये जा रहे फोर लेन पुल सह सड़क के लिए जिला...

Parbatta News - due to the deadlock in the construction of the bridge construction the administration reduced the land in the deployment of the police force
प्रखंड के दक्षिणी छोर पर स्थित गंगा नदी पर अगुवानी और सुलतानगंज के बीच बनाये जा रहे फोर लेन पुल सह सड़क के लिए जिला प्रशासन व पुलिस टीम ने पुल निर्माण में एक पिलर के निर्माण को लेकर पांच किलोमीटर तक सड़क निर्माण के लिये भी भुमि अधिग्रहीत कर निर्माण कंपनी को सौंप दिया गया है। शेष 16 किलोमीटर सड़क के निर्माण के लिये भूअधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। प्रशासन व पुलिस को किसी प्रकार के प्रतिरोध का सामना नहीं करना पड़ा। कार्रवाई में सियादतपुर अगुवानी मौजा के खेसरा संख्या 80 के डेढ बीघा जमीन का रकवा खाली कराया गया। कार्रवाई में पुलिस बल के साथ गोगरी के अनुमंडल पदाधिकारी सुभाषचन्द्र मंडल,एस डीपीओ प्रमोद कुमार झा, बीडीओ सह सीओ कुमार रविशंकर,परबत्ता थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह रहे।

16 तारीख को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुंगेर प्रमंडल में चल रहे सभी बड़ी परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा करेंगे तथा इस पुल के निर्माण की प्रगति का हवाई सर्वेक्षण भी करेंगे। जानकारी के अनुसार अब तक जो भी निर्माण कार्य चल रहा था उसे निर्माण कंपनी के द्वारा मैनेज कर संचालित किया जा रहा था तथा जहां भी बाधा आ रही थी वहां कार्य को स्थगित छोड़ दिया जाता था।

16 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे समीक्षा और हवाई सर्वेक्षण

जमीन खाली कराने के दौरान मौजूद एडीएम, एसडीओ, डीएसपी, पुलिस बल व भूमि को खाली कराता जेसीबी।

पिलर का निर्माण था बाधित

विगत चार वर्षों से इस पुल के निर्माण में दिन रात काम चल रहा है। अगुवानी की तरफ बांध के बाहर प्रस्तावित पहला पिलर पर काम शुरु नहीं हो पा रहा था। पुल निर्माण कंपनी के द्वारा इसे ए टू पिलर का नाम दिया गया है। इस पिलर के निर्माण को आरंभ करने के लिये सियादतपुर मौजा के खेसरा नंबर 80 में कम से कम डेढ बीघा जमीन का अधिग्रहण जरुरी था।

मुआवजे को लेकर फंसा है पेच

इस भुमि के मालिकाना हक का दावा करने में अमित कुमार,राजीव कुमार तथा संजीव कुमार ने मुआवजा मिलने पर जमीन छोड़ने की बात कहा था। अमित कुमार को भुमि का मुआवजा प्राप्त है। जबकि राजीव कुमार तथा संजीव कुमार को भुमि का मुआवजा नहीं मिला है। प्रशासन के द्वारा कहा गया है कि जमीन का केवाला जमा कराने पर ही मुआवजा दिया जायेगा। वहीं पूर्व प्रमुख अखिलेश प्रसाद सिंह ने बताया कि भुमि अधिग्रहण में मुआवजा की राशि को लेकर किसानों में भारी क्षोभ है।

2014 में हुआ था शिलान्यास परियोजना की लागत का आरंभिक मूल्यांकन 1710.77 करोड़ किया गया था। मुख्यमंत्री ने 23 फरवरी 2014 को परबत्ता के एम डी कॉलेज मैदान में इसका शिलान्यास किया था व 9 मार्च 2015 को मुरारका कॉलेज सुलतानगंज के मैदान से पुल निर्माण का कार्यारम्भ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किया गया। इससे श्रावणी मेला में देवघर जाने वाले लाखों कांवरियों को इससे फायदा होगा। इससे एन एच 31 तथा एन एच 80 आपस में जुड़ जायेंगे।

Parbatta News - due to the deadlock in the construction of the bridge construction the administration reduced the land in the deployment of the police force
X
Parbatta News - due to the deadlock in the construction of the bridge construction the administration reduced the land in the deployment of the police force
Parbatta News - due to the deadlock in the construction of the bridge construction the administration reduced the land in the deployment of the police force
COMMENT