निष्पादित मामले दोबारा न्यायालय में नहीं लाए जा सकते : जिला जज

Khagaria News - खगड़िया व्यवहार न्यायालय में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में पेश 1436 मामलों में से 1021 का निष्पादन किया गया,...

Jul 14, 2019, 07:50 AM IST
खगड़िया व्यवहार न्यायालय में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में पेश 1436 मामलों में से 1021 का निष्पादन किया गया, जबकि बैंक सहित विभिन्न मामलों के 05 करोड़ 58 लाख 61 हजार 698 रुपए बकाए की वसूली की गई। इनमें बैंक ऋण से संबंधित 5 करोड़ 36 लाख 22 हजार 688 रुपए वसूले गए। जबकि बीएसएनएल के 12,010 रुपये, दावा वाद के 21 लाख 25 हजार रुपए वसूले गए।

वहीं बिजली के बकाया मामले में 1 लाख 2 हजार रुपए वसूल हुए। मौके पर जिला जज सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष उमाशंकर द्विवेदी ने कहा कि लोक अदालत मामलों के निष्पादन का सबसे आसान और सुगम जरिया है। इसके माध्यम से पुराने से पुराने मामलों का निष्पादन लोग ऑन द स्पॉट करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि लोक अदालत के मामलों को दुबारा कोर्ट न्यायालय में नहीं लाया जा सकता है। राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए जिला जज सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार एवं सचिव शरद चंद्र कुमार के संयुक्त निर्देश पर 12 बेंचों का गठन किया गया था। इनमें 11 बेंच व्यवहार न्यायालय खगड़िया में तथा एक बेंच अनुमंडलीय न्यायालय गोगरी में आयोजित हुई। व्यवहार न्यायालय खगड़िया में राष्ट्रीय लोक अदालत का उद्घाटन जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार उमाशंकर द्विवेदी द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। उद्घाटन सत्र का संचालन विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव शरद चंद्र कुमार ने किया।

मौके पर उपस्थित पक्षकार एवं विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए जिला जज ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से मामलों का नि:शुल्क निष्पादन कराया जाता है। इसका लाभ लोगों को लेना चाहिए। अन्य न्यायिक अधिकारियों ने अपने संबोधन में लोक अदालत के महत्व को बताते हुए कहा कि लोक अदालत का भरपूर लाभ लेने की जरूरत है। न्यायाधीशों ने विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधकों व अधिकारियों को समझौता में नरमी बरतने को कहा, जिससे बैंक से संबंधित मामलों का अधिक से अधिक निष्पादन कराया जा सके।

राष्ट्रीय लोक अदालत में शनिवार को लोगों को संबोधित करते जिला जज।

शिविर में 393 मामले हुए निष्पादित

गोगरी | विधिक प्राधिकार सेवा के तहत शनिवार को गोगरी विधिज्ञ संघ परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। गोगरी विधिज्ञ संघ परिसर में आयोजित लोक अदालत में विभिन्न मामलों से संबंधित कुल 393 मामलों का निष्पादन किया गया। इसमें कुल 2 करोड़ 67 लाख 1 हजार 42 रुपए वसूली भी की गई। वसूल की गई राशि बैंक ऋण से संबंधित थी। गोगरी में एक बैंच बनाया गया था। बैंच नंबर 12 का नेतृत्व मुंसिफ राजीव कुमार कर रहे थे। अदालत में विभिन्न मामलों को लेकर भीड़ लगी रही। मौके पर 393 मामले का निष्पादन किया गया। इनमें 4 आपराधिक मामले शामिल हैं।

जबकि विभिन्न बैंकों के ऋण संबंधी 389 मामलों का निष्पादन करने के साथ 2 करोड़ 67 लाख 1042 रुपए की राशि वसूली गई। एक बैच होने के कारण लोगों को काफी परेशानी हुई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना