विज्ञापन

14 हजार मीट्रिक टन है लक्ष्य एक पखवाड़े बाद 80 क्विंटल की खरीद / 14 हजार मीट्रिक टन है लक्ष्य एक पखवाड़े बाद 80 क्विंटल की खरीद

Bhaskar News Network

Dec 09, 2018, 03:50 AM IST

Kishanganj News - जटिल प्रक्रिया के कारण भी धान अधिप्राप्ति रफ्तार नहीं पकड़ रही है। सरकार ने इस वर्ष 14 हजार मीट्रिक टन धान खरीदने का...

kishanganj News - 14 thousand metric tons of target after one fortnight of purchase of 80 quintals
  • comment
जटिल प्रक्रिया के कारण भी धान अधिप्राप्ति रफ्तार नहीं पकड़ रही है। सरकार ने इस वर्ष 14 हजार मीट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य दिया है। राज्य सरकार द्वारा धान खरीदारी के लिए 15 नवंबर से 31 मार्च की तिथि निर्धारित की गई है। एक पखवाड़ा के बाद महज 80 क्विंटल किलो धान की खरीद हुई है। सिर्फ टेउसा पैक्स द्वारा ही धान की खरीददारी हुई है। हालांकि टेउसा पैक्स ने निबंधित किसानों से धान खरीदा है, इस पर भी संशय बरकरार है। जिला अापूर्ति पदाधिकारी इसका भौतिक सत्यापन करने पहुंचे थे। लेकिन पाया कि टेउसा पैक्स द्वारा पंचायत में नहीं बल्कि अन्यत्र धान खरीदा जा रहा है। इसकी सूचना उन्होंने डीएम को दी है। जिले के 25 पैक्सों पर प्राथमिकी दर्ज है। कई पैक्स द्वारा मार्च 2017 तक का ऑडिट पेंडिंग है। सहकारिता विभाग ने इन सभी पैक्सों को इस वर्ष धान अधिप्राप्ति से दूर रखा है।

धान में नमी आ रही है आड़े

निर्देश है नमी 17 प्रतिशत से अधिक होने पर धान नहीं खरीदा जाए। अभी जाड़े का मौसम है, नमी 17 प्रतिशत से अधिक है। ऐसे में लक्ष्य पाना आसान नहीं होगा। दूसरी तरफ किसान की फसल तैयार है। जिले के अधिकतर किसान अपना फसल बेचकर ही जरूरत की पूर्ति करते है। किसान विभाग की लेट-लतीफी का इंतजार नहीं कर सकते। विभाग द्वारा अब तक कैश क्रेडिट ऋण भी पैक्स अध्यक्षों को नहीं दी गई है। एक पैक्स अध्यक्ष ने कहा कि नमी अगर दस दिनों तक यही रहा तो पैक्स धान नहीं खरीद पाएगा।

विभाग की जटिल प्रक्रिया आ रही है धान की खरीदारी में आड़े

14 हजार मीट्रिक टन धान खरीदने का जिले को मिला लक्ष्य

अपने खलिहान में धान तैयार करते किसान ।

कैश क्रेडिट ऋण की है स्वीकृति

पूर्णिया डिस्ट्रिक्ट सेन्ट्रल को- ऑपरेटिव बैंक के प्रबंध निदेशक ने सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के शाखा प्रबंधक को कैश क्रेडिट ऋण की सुविधा उपलब्ध करवाने का निर्देश दे दिया है। धान अधिप्राप्ति के लिए धान का सरकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। साधारण धान का समर्थन मूल्य 1750 रुपये प्रति क्विंटल एवं ए ग्रेड धान की कीमत 1770 रू प्रति क्विंटल निर्धारित है। पैक्स को दो लॉट यानि 806 क्विंटल, व्यापार मंडलों एवं वैसे पैक्स जहां राईस मिल स्थापित है एवं धान कुटाई का काम किया जा रहा है वैसे समिति को तीन लॉट धान के समानुपातिक मूल्य के समतुल्य राशि साख सीमा निर्धारित शर्ताे के साथ दिया जाएगा।

15 नवंबर से 31 मार्च तक सरकार द्वारा होनी है धान की खरीदारी

25 पैक्सों पर दर्ज है प्राथमिकी दर्ज, कई पैक्सों का ऑडिट है पेंडिंग

48 घंटों के अंदर किसानों को होगा भुगतान

विभाग द्वारा स्पष्ट निर्देश है कि पैक्स व व्यापार मंडल क्रय किए गए धान का भुगतान पीएफएमएस के माध्यम से 48 घंटे के अंदर करना सुनिश्चित करेंगे। भुगतान की सूचना किसानों को एसएमएस द्वारा दी जाएगी। रैयत श्रेणी के किसानों से दो सौ क्विंटल एवं गैर रैयत किसानों से 75 क्विंटल अधिकतम धान खरीदा जाना है।

11 मिलरों को पैक्स से किया गया है टैग


1750 रुपये है समर्थन मूल्य, ए ग्रेड धान की कीमत 1770

अधिप्राप्ति से वंचित पैक्स अध्यक्षों के बीच बढ़ रहा है रोष

धान अधिप्राप्ति से वंचित पैक्स अध्यक्षों में रोष पनप रहा है। वंचित पैक्सों ने कहा कि वर्ष 2013-14 में गोदाम निर्माण के नाम पर राशि लेकर गोदाम नहीं बनाने वालों पर प्राथमिकी दर्ज करवाने का आदेश है। विभाग जब राशि देती है तो उसे व्यक्तिगत ऋण माना जाता है। वर्ष 2013-14 में अध्यक्ष कोई और था। उसे आधार मानकर वर्तमान पैक्स अध्यक्षों को खरीददारी से दूर रखना गैर कानूनी है।

X
kishanganj News - 14 thousand metric tons of target after one fortnight of purchase of 80 quintals
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन