पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Thakurganj News Harshandanand A Former Bsf Veteran Became The Inspiration For Young People By Farming

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खेती के साथ पशुपालन कर युवाअाें के प्रेरणास्रोत बने बीएसएफ के पूर्व जवान हर्षनंदन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बीएसएफ की नौकरी से सेवानिवृत करने के बाद हर्षनंदन झा ने खेती में कुछ नया करने की सोची। वैज्ञानिक तरीके से खेती के तकनीक सीखे और आज खेती और पशुपालन की बदौलत ना सिर्फ अच्छी आय कर रहे, बल्कि क्षेत्र के युवाओं को भी इसकी जानकारी दे रहे हैं।

ये हैं ठाकुरगंज प्रखंड के पथरिया पंचायत के निवासी कृषक हर्षनंदन झा। नौ वर्ष से यह अपनी पुश्तैनी चार एकड़ जमीन पर वैज्ञानिक तकनीक से खेती कर रहे हैं एवं सफल किसान माने जाते हैं। यही नहीं उन्हाेंने पशुधन के महत्व काे देखते हुए पशुपालन भी शुरु किया, जिसका गाेबर वे अपनी खेताें में उपयाेग करते हैं। तीन भाइयों में सबसे बड़े हर्षनंदन ने 2010 में बीएसएफ से सेवानिवृति ली।

आज वो मुख्यत: अनानास और मक्का जैसी नकदी फसलें उगाते हैं। उन्होंने सिद्ध किया कि खेती करके भी अपनी आय बढ़ाई जा सकती है। यह दृढ़ निश्चय और वैज्ञानिक और उन्नत तकनीक से ही संभव है। आज क्षेत्र के दर्जनों युवा उनसे सीखकर खेती किसानी कर स्वावलंबी जीवन जी रहे हैं एव बेहतर आय कर रहे हैं।

नौकरी के बाद परंपरागत खेती से अलग हटकर अपनाया वैज्ञानिक तरीका, खेतों में खाद के लिए करते हैं पशुपालन

अपने अनानास के खेतों की देखभाल करते किसान हर्षनंदन झा।

युवाओं को स्वराेजगार के लिए कर रहे प्रेरित

हर्षनंदन झा का कहना कि वर्ष 2010 जब उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली और खेती और पशुपालन करने का निश्चय लिया तो लोगों से नकारात्मक बातें भी सुननी पड़ी। यहां तीन एकड़ में अनानास की खेती आरंभ की। कृषि वैज्ञानिकों से सलाह -विचार करने के बाद एक एकड़ में मकई संग अन्य फसलों की खेती आरंभ की। जिसका नतीजा प्रत्येक वर्ष उन्हें बेहतर मिलने लगा। उनका मानना है किसान पूर्णतया वैज्ञानिक तरीके से खेती करके अपनी अाय दाेगुनी कर सकते हैं। हर्षनंदन झा ने बताया किसान खेती के साथ पशुपालन से भी अपनी अाय में इजाफा कर सकते हैं। उन्हाेंने बताया वे खेती के साथ दो जर्सी गाय भी पाल रहे हैं, जिससे उन्हें अच्छी खासी आमदनी होने लगी है। प्रखंड में दूध की मांग अधिक होने के कारण हाथों हाथ दूध बिक जाता है। हर्षनंदन काे खेती के अलावा पशुपालन से भी बैठे -बिठाए अामदनी हाेने लगी है। वहीं गाय का गोबर वे खाद के रूप में खेतो में भी प्रयोग करने लगे। उनकी प्रेरणा से पथरिया पंचायत में आज दर्जनों युवा पशुपालन का दूध का कारोबार कर अपने परिवार का भरण-पोषण करने में लगे हुए हैं।

वैज्ञानिक खेती से संभव है दाेगुनी आमदनी

ठाकुरगंज की मिट्टी में किसी भी प्रकार की फसल उगाई जा सकती है। खेती के माध्यम से किसान अपनी आमदनी दुगुनी कर सकते हैं। सरकार कई तरह की योजनाओं का संचालन कर रही है। हर्षनंदन झा प्रगतिशील किसान हैं।सभी किसानों काे मिट्टी की जांच कर वैज्ञानिक सलाह लेना चाहिए व वैज्ञानिक तरीके से खेती कर अपनी आमदनी बढ़ानी चाहिए। धर्मवीर प्रसाद, कृषि समन्वयक, ठाकुरगंज

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें