प्रसव के पहले गर्भवती को ऑक्सिटोसीन का इंजेक्शन देना गंभीर अपराध : डीएम

Kishanganj News - प्रसव पूर्व गर्भवती महिलाअाें काे ऑक्सीटोसीन का इंजेक्शन देना अपराध की श्रेणी में आता है। डीएम हिमांशु शर्मा ने...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:10 AM IST
kishanganj News - pregnant injection of oxytocin before delivery is serious crime dm
प्रसव पूर्व गर्भवती महिलाअाें काे ऑक्सीटोसीन का इंजेक्शन देना अपराध की श्रेणी में आता है। डीएम हिमांशु शर्मा ने शुक्रवार को समाहरणालय सभागार में हुई बैठक में स्पष्ट निर्देश दिया ऑक्सीटोसीन इंजेक्शन देने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराएं। यह इंजेक्शन प्रसव के बाद ही जरूरत पड़ने पर महिलाओं को दिया जा सकता है। सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक चिकित्सक सप्ताह में 42 घंटा ड्यूटी करना सुनिश्चित करें।

रिएजेंट की कमी के कारण बेलवा उप स्वास्थ्य केंद्र में पैथोलॉजी टेस्ट बंद रहने पर डीएम ने जमकर फटकार लगाई। एक्स-रे की समीक्षा करते हुए डीएम ने कहा कि निर्धारित दर पर लोकल स्तर पर एक्स-रे की सुविधा मुहैया कराने का निर्देशा दिया। अभी तीन जगहों पर एक्स-रे की सुविधा है, जिसमें सदर अस्पताल, पोठिया एवं ठाकुरगंज में यह सुविधा उपलब्ध है। 42 घंटे से कम डयूटी देने वाले चिकित्सकों का वेतन कटौती करने का निर्देश दिया गया है। डीएम ने मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना की भी समीक्षा की। बहादुरगंज एवं दिघलबैंक को छोड़कर शेष सभी पीएचसी व एपीएचसी में योजना की लचर स्थिति देख प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से भी जवाब तलब किया।

प्रत्येक चिकित्सक सप्ताह में 42 घंटे ड्यूटी करना करें सुनिश्चित

शुक्रवार को समाहरणालय में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करते डीएम व अन्य।

10 पीएचसी में हाेगी सीजेरियन की व्यवस्था

जिला स्वास्थ्य समिति ने जिले के 10 पीएचसी को अपग्रेड करने का निर्णय लिया है, जहां सीजेरियन की व्यवस्था की जाएगी। ए ग्रेड नर्स को तैनात किया जा चुका है। अपग्रेड होने वाले पीएचसी में महीनगांव, तारणी, दामलबाड़ी, पौआखाली, धवेली, अलता हाट, हल्दीखोड़ा, लक्ष्मीपुर, पदमपुर एवं लोहागाड़ा शामिल है। पिछले वर्ष की अपेक्षा कालाजार के मरीजों में काफी कमी हुई है। पिछले वर्ष जिले में मरीजों की संख्या 42 था। जिसमें बहादुरगंज में छह दिघलबैंक में सात, ठाकुरगंज में नौ, कोचाधामन में दो, किशनगंज में एक एवं टेढ़ागाछ में 17 मरीजों की पहचान हुई थी। इस वर्ष अप्रैल तक नौ मरीज पाए गए है। टेढा़गाछ प्रखंड में मरीजों की संख्या अघिक देखते हुए वहां कालाजार को रोकने के लिए दवा का छिड़काव किया जा रहा है। बैठक में डीडीसी यशपाल मीणा, प्रभारी सिविल सर्जन सह एसीएमओ रति रमण झा, डीपीएम विश्वजीत कुमार, डा. अनवार आलम, डा. देवेन्द्र कुमार, शशिभूषण प्रसाद, यूनीसेफ, केयर इंडिया, डब्लू एचओ के प्रतिनिधि सहित सभी प्रखंड के चिकित्सा पदाधिकारी, सीडीपीओ व आशा कार्यकर्ता मौजूद थे।

जुलाई में आएगी लाइफ लाइन एक्सप्रेस ट्रेन

डीएम हिमांशु शर्मा ने कहा कि जुलाई महीना में लाइफ लाइन एक्सप्रेस ट्रेन ठाकुरगंज आएगी, जाे 15 दिनों तक ठाकुरगंज में रुकी रहेगी। इस बीच स्थानीय लोगों का मुफ्त इलाज किया जाएगा। ट्रेन में बेहतर उपकरण मौजूद रहेंगे, जिससे सभी प्रकार का सर्जरी किया जा सकेगा। खासकर आंखों का ऑपरेशन, बच्चों के फटे हुए होंठ, हड्‌डी एवं पोलियो जैसे ग्रस्त मरीजाें की भी सर्जरी की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाया जा रहा है। मातृ व बाल मृत्यु दर कम करने की गरज से चलाए जा रहे लक्ष्य कार्यक्रम का जिले में 70 फीसदी लक्ष्य हासिल किया जा चुका है। सदर अस्पताल में 51 फीसदी, कोचाधामन में 52 प्रतिशत, बहादुरगंज में 49 प्रतिशत, पोठिया में 58 प्रतिशत, ठाकुरगंज में 48 प्रतिशत, टेढ़ागाछ एवं दिघलबैंक की स्थिति दयनीय है। दोनों के चिकित्सा प्रभारी को कार्यक्रम में तेजी लाने का निर्देश जारी किया गया है।

X
kishanganj News - pregnant injection of oxytocin before delivery is serious crime dm
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना