पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपद्रवियों पर नजर रखने की बनी रणनीति

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जिलाधिकारी आदित्य प्रकाश की अध्यक्षता की अध्यक्षता में शनिवार को रचना भवन में नागरिक एकता मंच के साथ बैठक हुई। होली को लेकर हुई बैठक में हर्षोल्लास के साथ पर्व मनाने पर सहमति बनी। इस दौरान डीएम आदित्य प्रकाश ने कहा कि गंगा-जमुनी तहजीब इस जिले की अनमोल धरोहर है। इस धरोहर को बचाए रखना सभी की सामूहिक जिम्मेवारी है। उन्होंने नागरिक एकता मंच के सदस्यों से अपील किया गया कि अपने स्तर से समाज के ऐसे लोगों पर नजर रखें, जिनकी छवि विवादास्पद रही है। इस क्रम में नागरिक एकता मंच की ओर से आश्वासन दिया गया कि मंच के सदस्य संवेदनशील स्थलों पर रहेंगे।

डीएम ने कहा कि किसी भी प्रकार के अफवाहों के बाबत भी नागरिक एकता मंच के सदस्य सक्रिय रहकर भीड़ को समझाएंगे। सत्यापन किए बिना अगर कोई अफवाह फैलाता है तो इसकी सूचना जिले के आला अधिकारियो को देंगे। डीएम ने नागरिक एकता मंच के साथ ही जनप्रतिनिधियों को भी अपने-अपने क्षेत्र में सजग रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि कभी-कभी छोटी-छोटी बातों पर भीड़ एक-दूसरे से लड़ने को आतुर हो जाती है। जिसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ता है। होली रंगों का त्योहार है।

इस रंग से समाज को और प्रगाढ़ करने की जरूरत है। नागरिक एकता मंच के सदस्यों ने भी जिला प्रशासन को आश्वस्त किया कि प्रशासन को भरपूर सहयोग दिया जाएगा। बैठक में एसपी कुमार आशीष, विधायक कमरुल होदा, नप के मुख्य पार्षद हीरा पासवान, पूर्व मुख्य पार्षद त्रिलोक चंद जैन, रेडक्रॉस के सचिव मिक्की साहा, जहिदुर रहमान, उस्मान गनी, शमशुजमा उर्फ पप्पू, मो अब्दुल्लाह, मनीष जालान आदि मौजूद थे।

बैठक में मौजूद डीएम, एसपी व नागरिक एकता मंच के सदस्य।
खबरें और भी हैं...