गर्भवती माताओं और बच्चों के नियमित टीकाकरण के सर्वे रिर्पोट की पीएचसी प्रभारी ने की समीक्षा

Lakhisarai News - प्रखंड के पीएचसी सभागार में आशा दिवस पर पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी धीरेन्द्र कुमार की देखरेख में आशा...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:11 AM IST
Chanan News - pch incharge of survey reports of regular vaccination of pregnant moms and children reviewed by
प्रखंड के पीएचसी सभागार में आशा दिवस पर पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी धीरेन्द्र कुमार की देखरेख में आशा कार्यकर्ताओं व फैसीलेटरों की बैठक आयोजित की गयी। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक निशांत राज, बीएमसी राजेश प्रमाणिक, डब्लूएचओ मॉनिटर सुधीर कुमार, केयर इंडिया ब्लॉक मॉनिटर आसीत कुमार आदि मौजूद थे।

बैठक में दो से पांच साल के बच्चों के अलावा गर्भवती माताओं के टीकाकरण शत प्रतिशत करने का निर्देश देकर सर्वे रिपोर्ट की समीक्षा की गई। वहीं बार बार निर्देश देने के बावजूद भी प्रसव कराने आए प्रसूता से आधार कार्ड व बैंक पासबुक नहीं लेने पर फटकार लगायी गयी। बिहार को बाल कुपोषण से मुक्त कराने का संकल्प लिया गया। पीएचसी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. धीरेंद्र कुमार की अध्यक्षता में बैठक की गई। पहले गर्भवती माताओं और बच्चों के नियमित टीकाकरण को शत प्रतिशत तथा सर्वे लिस्ट की सूची की समीक्षा व घर-घर जाने एवं दीवार लेखन आदि के बारे में बताया गया। इसके बाद बाल कुपोषण मुक्त बिहार पुस्तिका की प्रतियां वितरित की गई और आशा कार्यकर्ताओं व फैसीलेटरों की सहभागिता के लिए संकल्प कराया गया। कहा गया कि सभी बच्चों में पांच साल की उम्र तक विकास करने की क्षमता एक समान होती है। किसी बच्चे के कुपोषित होने का मतलब शारीरिक एवं मानसिक रूप से विकास का कम होना है। स्थिति है कि कुपोषित बच्चों पर गंभीरता से ध्यान नहीं दिया जाता है। बचपन में कुपोषित बच्चे रोग से लड़ नहीं पाते हैं। इस कारण वे बार-बार बीमार पड़ते हें। वे कम सीख पाते हैं। व्यस्क होने पर इनकी औसत लंबाई कम हो जाती है और ये बौनेपन के शिकार हो जाते हैं।

बिहार को बाल कुपोषण से मुक्त कराने का लिया गया संकल्प

बैठक में शामिल प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व अन्य।

असत्य पर सत्य की विजय देख दर्शक हुए मुग्ध

भास्कर न्यूज | मेदनीचौकी

मेदनीचौकी -लोशघानी सीमा पर श्रीश्री 108 शतचंडी महायज्ञ के अंतिम दिन समापन पर वृंदावन से पधारे व्रजलोक कला भारती के चिरंगी लाल शर्मा ने रास लीला में अत्याचारी कंस का वध कर मथुरा वासी को उद्धार की लीला प्रस्तुत किया।

रासलीला को आगे बढ़ाते हुए दिखाया कि कंस ने मथुरा में जितने भी अत्याचार किए उससे सभी गोकुल वासी घबरा गए। स्वयं कृष्ण भगवान ने नारद जी को आदेश दिए कि जाओ कंस की वृत्ति को बदलो और मथुरा में धनुष यज्ञ का मेला रचाओ। जिससे कि वह हमको वहां बुलाए और तब हम उस समय कंस का वध कर मथुरा वासी का उद्धार करेंगे। रास लीला के जरिए असत्य पर सत्य का विजय देखकर दर्शकों को खूब भाया।

ग्रामीण क्षेत्राें में चार से पांच घंटे ही मिल रही लोगों को बिजली

भास्कर न्यूज | चानन

प्रखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों बिजली की किल्लत और लो वोल्टेज की समस्या से लोग परेशान हैं। लोगों को दिन रात में महज पांच-छह घंटे ही बिजली मिल रही है। इसके साथ ही लो वोल्टेज की समस्या से परेशानी बढ़ी हुई है। पानी की भी समस्या उत्पन्न हो गई है। घरों में खाना बनाने व स्नान करने के लिए महिलाओं को आस पास के चापाकल से पानी लाना पड़ रहा है।

ऐसी स्थिति पिछले 15 दिनों से लगातार जारी है। कभी कभार बिजली आती है लेकिन तुरंत कट जाती है। जिसके कारण इस भीषण गर्मी में जनजीवन प्रभावित हो रहा है। सुबह के समय सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं एवं छोटे-छोटे बच्चों को होती है। घर में शौचालय रहने के बावजूद शौच के लिए उन्हें घरों से बाहर जाना पड़ रहा है। ललित बिंद, गनौरी यादव, भुनेश्वर ठाकुर सहित अन्य लोगों ने बताया कि बिजली गुल रहने के कारण लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। पंखा नहीं चलने से गर्मी में करवट बदलकर रात गुजारनी पड़ रही है। भंडार गांव निवासी धीरज कुमार, रंजन कुमार, माया देवी, सूमो देवी, काव्या कुमारी, बाली बिंद ने बताया कि बिजली गुल रहने के चलते मोबाइल की बैट्री चार्ज नहीं कर पा रहे। बुधवार व गुरुवार को भी पूरी रात लो वोल्टेज की समस्या रही। वहीं लोगों के घरों का सबमर्सेबुल नहीं चल पाने के कारण पेयजल की भी समस्या बनी हुई है। जलस्तर नीचे जाने से ग्रामीण क्षेत्र के अधिकांश चापाकल बंद हो गए हैं।

X
Chanan News - pch incharge of survey reports of regular vaccination of pregnant moms and children reviewed by
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना