बिना ट्रैक बदले ही स्टेशन से रामपुर हाट-गया रवाना

Lakhisarai News - रेलवे की लापरवाही जब उजागर हुई तो अपनी गलती को छिपाने के लिए अधिकारी अलग अलग कहानियां गढ़ रहे हैं। आखिर रामपुरहाट-...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:11 AM IST
Lakhisarai News - rampur haat gaya leaves from station without changing tracks
रेलवे की लापरवाही जब उजागर हुई तो अपनी गलती को छिपाने के लिए अधिकारी अलग अलग कहानियां गढ़ रहे हैं। आखिर रामपुरहाट- गया पैसेंजर बिना ट्रैक बदले लखीसराय से स्टेशन से कैसे रवाना हुई। इसके जिम्मेवार कौन हैं। हालंाकि परिचालन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी भले ही अपनी लारपवाही छिपाने की कोशिश कर लें लेकिन यह रेलवे की संरक्षा एवं सुरक्षा का गंभीर मामला है। गुरूवार की शाम वेस्ट केबिन की लापरवाही के चलते 53403 रामपुरहाट - गया पैसेंजर गया की जाने के बजाए मेनलाइन की ओर चल पड़ी। उस समय ड्यूटी पर तैनात रेल कर्मियों ने कहा कि अचानक स्टेशन, केबिन एवं सिग्नल की बत्ती गुल हो गई। स्टेशन और केबिन को बिजली आपूर्ति करने वाली एटी ट्रांसफॉर्मर से चिंगारी निकली और बत्ती गुल हो गई। इसी बीच रामपुरहाट गया पैसेंजर को लखीसराय स्टेशन से गया की ओर रवाना किया गया। सिग्नल की बत्ती गुल होने के काण ट्रेन को मेमो देकर खुलवाया गया। शाम 7.30 बजे रामपुरहाट जैसे ही लखीसराय से खुली लेकिन गया की ओर जाने के बजाए मेनलाइन की ओर चली गई। ट्रेन के ड्राइवर द्वारा जब तब इमर्जेंसी ब्रेक लगा कर रोका जाता, तब ट्रेन केबिन को पार कर चुकी थी।

रामपुरहाट पैसेंजर गया की जाने के बजाए मेनलाइन में कैसे गई इसका जबाब रेलवे के कसी भी अधिकारी के पास नहीं है। बिजली बंद होने का बहाना बना कर बचना चाह रही है। लीवर खींचने के बाद भी ट्रैक प्वांइट क्यों नहीं बदली। उस वक्त ड्यूटी में तैनात डिप्टी एसएम ने ट्रेन को रवाना करने की कैसे इजाजत दे दी। अगर ड्राइवर ने इमर्जेंसी ब्रेक नहीं लगाया होता तो बड़ी घटना हो सकती थी।

रेलवे द्वारा स्टेशन केबिन एवं सिग्नल ेमं बिजली सप्लाई के लिए अगल अगल व्यवस्था की गई है। रेलवे बिजली विभाग के इंजीनियर का मानना है कि एक साथ तीनों ट्रांसफार्मर से बिजली आपूर्ति बंद होने का कोर्ठ सवाल ही नहीं उठता है। विकल्प के लिए तीन ट्रांसफार्मर की व्यवसथा इस लिए भी होती है कि एक ने काम करना बंद कर दिया तो दूसरे ट्रांसफार्मर से बिजली की आपर्ति जारी रहेगी। अगर दूसरे से भी अापूर्ति नहीं हो रही है तो तीसरा एटी ट्रांसफार्मर बिजली की आपूर्ति जारी रखेगी।

रेलवे की लापरवाही उजागार

रामपुर हाट गया पैसेंजर ट्रेन देर रात मेन रूट में रवाना होने के मामले की रेलवे ने की शुरू की जांच

किऊल वेस्ट केबिन के पास की घटना।

2017 में किऊल संेट्रल केबिन में लगी थी आग

अक्टूबर 2017 में किऊल के सेंट्रल केबिन में आग लगी थी। उस समय सारा सिग्नल सिस्टम फेल हो गया था। उस दिन सेंट्रल केबिन में शॉट सर्किट के कारण ओग लगाने के बाद सारा सिस्टम कई दिनों तक फेल रहा था। ट्रेनाें को सिग्नल के बजाए ड्राइवर एवं गार्ड को मेमो देकर ट्रेनों का परिचालन कराया जाता रहा था।

दोषी कर्मियों पर हो सकती है कार्रवाई, भेजी जांच रिपोर्ट

लापरवाही के लिए दोषी कर्मियों पर रेलवे की कार्रवाई हो सकती है। टीआई ने अपनी जांच रिपोर्ट दानापुर के वरीय अधिकारियों के पास भेज दी है। उन्होंने माना कि लापरवाही हुई है। बिजली क्यों गुल हुई इससे बिजली विभाग के अधिकारी भी नहीं जिम्मेवारी से नहीं बच सकते। उन्होंने कहा कि बजली में गड़बड़ी हुई तो बिजली आने का इंतजार भी किया जा सकता था। टीआइ ने कहा कि जांच के दौरान प्सरथ्हम दृष्टया में जो पाया गया गया वैसे ही रिपोर्ट भेजी गई है।

X
Lakhisarai News - rampur haat gaya leaves from station without changing tracks
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना