--Advertisement--

11 माह पहले हुआ शिलान्यास, सीएम के आने की सूचना पर काम अब शुरू

Madhepura News - दिसंबर में ही उदाकिशुनगंज प्रखंड के डोहटबारी गांव में सीएम का आगमन संभावित है। इसे लेकर उस गांव में धड़ाधड़ विकास...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:26 AM IST
Udakishunganj News - 11 months ago shilanyas cm39s arrival information started now
दिसंबर में ही उदाकिशुनगंज प्रखंड के डोहटबारी गांव में सीएम का आगमन संभावित है। इसे लेकर उस गांव में धड़ाधड़ विकास कार्य किए जा रहे हैं। शौचालय, हर घर नल का जल, आंगनबाड़ी केंद्र आदि के अलावा यहां एक पीसीसी सड़क भी बन रही है। चौंकाने वाली बात यह कि जिस सड़क का शिलान्यास खुद सीएम नीतीश कुमार ने 11 माह पूर्व 4 जनवरी को मधेपुरा आगमन के दौरान सिंहेश्वर में रिमोर्ट से किया था। उस सड़क का निर्माण कार्य भी अबतक नहीं किया गया था। एक साल में कार्य पूर्ण किए जाने के एग्रीमेंट का हवाला देकर ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता भले ही पल्ला झाड़ लिए हों लेकिन लोगाें के बीच अब चर्चा इस बात की होने लगी है कि अगर सीएम का आगमन संभावित नहीं होता, तो इस साल शायद ही यह सड़क बन पाती।

लंबे समय से सड़क निर्माण के लिए कर रहे थे आंदोलन : ग्रामीण वीरेंद्र साह ने बताया कि सड़क कई साल से जर्जर थी। लंबे समय तक आंदोलन किए जाने पर लगभग 3 वर्ष पूर्व सड़क के निर्माण कार्य की स्वीकृति मिली थी। 11 माह पूर्व सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास भी किया गया। पर सड़क निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ। अब सीएम के आगमन को देखते हुए आननफानन में निर्माण कार्य किया जा रहा है। सुमित्रा देवी ने बताया कि कई वर्षों से हम डोहटबारी के लोग कीचड़युक्त सड़क पर चलने को मजबूर थे। इसके लिए कई बार आंदोलन भी किया गया। पिछले साल सड़क पर धानरोपनी कर विरोध भी जताया गया था। उसके बाद सड़क का शिलान्यास किया गया, पर काम नहीं किया जा रहा था।

04

गांव में बन रही पीसीसी सड़क।

17 मार्च को रखी गई थी कार्य का आधारशिला

उदाकिशुनगंज प्रखंड मुख्यालय के काॅलेज चौक से डोहटबारी होते हुए उजानी गांव जाने वाली पक्की सड़क निर्माण कार्य का शुभारंभ 17 मार्च को किया गया था। शुभारंभ बिहारीगंज के जदयू विधायक निरंजन कुमार मेहता ने किया था। उस वक्त जानकारी मिली थी कि सीएम द्वारा शिलान्यास किए जाने के बाद शिलापट्‌ट को विभाग के कार्यालय में रख दिया गया था। इस कारण पूर्व मंत्री सह आलमनगर के विधायक नरेंद्र नारायण यादव ने कार्यपालक अभियंता से नाराजगी भी जाहिर की थी। चर्चा तो यह भी थी कि पूर्व मंत्री ने स्पष्ट कहा था कि या तो शिलापट्ट को योजना स्थल पर लगाया जाए या सीएम से अपनी शिकायत के लिए तैयार रहें। इसके बाद आनन-फानन में प्रत्येक योजना स्थल पर शिलापट्ट को लगा दिया गया। हालांकि उस दिन भी कार्यपालक अभियंता मौके पर नहीं थे। इससे लोगों में आक्रोश था।

जनवरी को सिंहेश्वर आगमन पर सीएम से कराया गया था शिलान्यास शिलान्यास के बाद कार्यक्रम अायोजित स्थल पर लगाया गया था बोर्ड

एक साल पूर्व मिला था टेंडर

एक साल पहले सड़क का टेंडर मिला था। धीरे-धीरे सड़क का काम चल रहा था। बाढ़ के कारण बीच में रास्ता अवरुद्ध होने के कारण मेटेरियल साइट पर लाने में परेशानी हो रही थी। इस कारण काम बंद पड़ा था। अब मुख्यमंत्री की संभावित यात्रा को देखते हुए वरीय अधिकारी के आदेश पर युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। -मो. जुबेर आलम, संवेदक

17

मार्च को किया गया था सड़क निर्माण कार्य का शुभारंभ

कार्यस्थल पर लगा योजना का बोर्ड।

साल पूरा होने के पूर्व नहीं कर सकते कार्रवाई

जनवरी में सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया था। ठेकेदार के साथ एक साल का एग्रीमेंट है। इस कारण ठेकेदार पर एक साल पूरा होने से पूर्व कोई कार्रवाई नहीं कर सकते हैं। अब वह सड़क बना रहा है। इसकी निगरानी की जा रही है। -सुशील प्रसाद, ईई, आरडब्ल्यूडी, उदाकिशुनगंज

Udakishunganj News - 11 months ago shilanyas cm39s arrival information started now
X
Udakishunganj News - 11 months ago shilanyas cm39s arrival information started now
Udakishunganj News - 11 months ago shilanyas cm39s arrival information started now
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..