2 से 6 महीने के शिशु को देना है रोटावायरस वैक्सीन का एक डोज

Madhepura News - स्वास्थ्य विभाग निर्देशानुसार तीन जुलाई से शुरू हो रहे रोटावायरस से बचाव के लिए आशा कार्यकर्ताओं और आंगनबाड़ी...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:55 AM IST
Kumarkhand News - give birth to 2 to 6 months baby is a doodle of rotavirus vaccine
स्वास्थ्य विभाग निर्देशानुसार तीन जुलाई से शुरू हो रहे रोटावायरस से बचाव के लिए आशा कार्यकर्ताओं और आंगनबाड़ी सेविकाओं को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर स्थित सभागार में एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। सीएचसी प्रभारी डॉ वेद प्रकाश गुप्ता के नेतृत्व में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बीसीएम शमशाद आलम ने बताया कि मौसम के बदलाव होने पर बच्चों दस्त, उल्टी, डायरिया, फ्लू आदि का होना रोटा वायरस संक्रमण का लक्षण है। अगर नवजात बच्चे को डायरिया हो गया है और उसे बुखार या फ्लू हो गया है तो यह समझ नहीं जाना चाहिए कि रोटावायरस हो गया है। उन्होंने कहा कि सरकार इस बीमारी से बचाव के लिए जो वैक्सीन बनाई गई है उसे बच्चों को प्रतिरक्षित कर इस संक्रमण से बचाने के लिए अगले महीने से टीकाकरण अभियान शुरू करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी आशा कार्यकर्ताओं को वैक्सीन की मात्रा और खुराक की सही जानकारी प्रशिक्षण के दौरान दी जा रही है। उन्होंने बताया कि 2 से 6 महीने के शिशु को एक-एक डोज दिया जाना है। रोटावायरस वैक्सीन की तीन खुराक 6 सप्ताह की आयु में और फिर 10 और 14 सप्ताह की आयु में दी जानी है। इस अवसर पर बीएचएम बृजेश कुमार ने बताया कि रोटावायरस वैक्सीन देने के बारे में विस्तार से बताया।

X
Kumarkhand News - give birth to 2 to 6 months baby is a doodle of rotavirus vaccine
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना