भूमि विवाद में जमींदार के बेटे को हथियार सहित पकड़ किया पुलिस के हवाले

Madhepura News - भास्कर न्यूज| मधेपुरा, बिहारीगंज बिहारीगंज थाना क्षेत्र के राजगंज पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या-एक में जमीन के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:01 AM IST
Bihariganj News - police handed over son of zamindar including arms in land dispute
भास्कर न्यूज| मधेपुरा, बिहारीगंज

बिहारीगंज थाना क्षेत्र के राजगंज पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या-एक में जमीन के मालिकाना हक को लेकर जारी विवाद में बड़ी घटना होते-होते बच गई। हालांकि बटाईदार पक्ष के लोगों ने गुरुवार की रात पश्चिमी बहियार से जमींदार के बेटे को हथियार सहित पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। जबकि तीन अन्य लोग भागने में सफल रहे। बटाईदार पक्ष के सुबोध ऋषिदेव ने थाने में आवेदन दिया है।

जिसमें बताया है कि गंगा यादव के पुत्र निर्मल यादव, संजय यादव, अशोक यादव एवं बैजू यादव के पुत्र जीतन यादव को पकड़ कर रखा गया था। वहां तुलसिया पंचायत के चौकीदार भी मौजूद थे। जबकि चौकीदार ने बताया कि ऋषिदेव लोगों ने चार लोगों के साथ एक कट्टा भी पकड़ा है। पुलिस प्रशासन को सूचना दी जा चुकी है।पुलिस के आने की खबर मिलते ही तीन लोग चौकीदार के सामने घटनास्थल से फरार हो गए। पुलिस मात्र एक व्यक्ति निर्मल यादव को ही कट्टा के साथ थाने ले गई। मामले में चारों लोगों पर केस किया गया है। इन लोगों ने हथियार से लैस होकर जबरन फसल लूट लेने की धमकी देने का आरोप लगाया है। थानाध्यक्ष बीडी पंडित ने बताया कि मामला संदिग्ध है। प्राथमिकी दर्ज कर जांच की जा रही है।

दो माह से चल रहा है विवाद

तुलसिया पंचायत के जमींदार और राजगंज पंचायत के बटाईदार ऋषिदेव समुदाय के बीच दो माह से जमीन का विवाद चल रहा है। बताया गया कि जमींदार गंगा यादव, बैजू यादव, शिव नारायण मेहता, नारायण साह की लगभग 15 एकड़ जमीन राजगंज के ऋषिदेव समुदाय के सुबोध ऋषिदेव, बुधन ऋषिदेव, सुरेश ऋषिदेव, धीरो ऋषिदेव आदि 40 वर्ष से बटाईदारी करते आ रहे हैं। विगत दो माह पूर्व ऋषिदेव समुदाय के लोगों ने उक्त जमीन को अपनी पुश्तैनी जमीन बताते हुए फसल काटने पर रोक लगा दी। मामला प्रशासन तक पहुंचा। प्रशासन ने तत्काल दोनों पक्षों के बीच शांति बनाते हुए दोनों पक्षों से जमीन के कागजात उपलब्ध कराने को कहा। थानाध्यक्ष श्री पंडित ने बताया कि ऋषिदेव पक्ष ने अभी तक कागजात नहीं उपलब्ध कराया है।

दोनों पक्ष बता रहे हैं अपनी-अपनी जमीन

सुबोध ऋषि देव का कहना है कि उक्त जमीन उसके पुरखों के नाम से खतियानी है। जबकि जमींदारों का कहना है कि उनकी केवाला की जमीन है। इसकी मालगुजारी रसीद भी सरकार को जमा करते हैं। दोनों पक्षों के बीच विवाद को देखते हुए विवादित जमीन पर लगी फसल की सुरक्षा को लेकर दो चौकीदारों को नियुक्त किया गया था। जानकारी अनुसार राजनीति षड्यंत्र के तहत दो महीने से इस विवादित जमीन को लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा चल रहा है।

X
Bihariganj News - police handed over son of zamindar including arms in land dispute
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना