• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Madhepura
  • Chausa News there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad

इस्लाम में आतंक के लिए कोई जगह नहीं, आतंक फैला रहे मानवता के दुश्मन, एकता और भाईचारा मोहम्मद साहब की सबसे बड़ी शिक्षा

Madhepura News - भास्कर न्यूज | चौसा/ बिहारीगंज / कुमारखंड इस्लाम धर्म में आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है। जो लोग इस्लाम के नाम पर...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:05 AM IST
Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
भास्कर न्यूज | चौसा/ बिहारीगंज / कुमारखंड

इस्लाम धर्म में आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है। जो लोग इस्लाम के नाम पर आतंक फैला रहे हैं वह मानवता के दुश्मन हैं। शांति, प्रगति, एकता और भाईचारा हजरत मोहम्मद साहब की सबसे बड़ी शिक्षा है। लिहाजा प्रत्येक मुसलमान को शांति स्थापित करने में अहम भूमिका निभाना चाहिए। उक्त बातें मौलाना बदरूज्जमा सिद्दीकी ने कही। वे रविवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित जनता उच्च विद्यालय, चौसा के मैदान में आयोजित जलसा सिरतुन नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को संबोधित कर रहे थे। मुहम्मद साहब की 1450वीं जयंती “ जश्न ए ईद मिलादुन नबी’ के अवसर पर आयोजित जलसा को संबोधित करते हुए मौलाना सिद्दीकी ने कहा कि पूरी दुनिया में इस्लाम के नाम पर जो आतंक फैला हुआ है वह गलत है। मौलाना एजाज अहमद निजामी ने कहा कि हजरत मुहम्मद साहब ने नमाज, रोजा, हज व दान के साथ ही देशभक्ति को कर्तव्य की श्रेणी में रखा है। लिहाजा देशभक्ति मुसलमानों के इमान का अहम हिस्सा है। हाफिज साकिब फरीदी ने कहा कि हजरत मुहम्मद साहब सिर्फ मुसलमानों के ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के पथ प्रदर्शक थे। मौलाना दावर हुसैन और मौलाना अनवार ने कहा कि वे पूरी मानवता का सम्मान करते थे। उन्होंने दया, प्रेम, भाईचारा तथा लिंग भेद रहित समाज के निर्माण का संदेश दिया था। लिहाजा हमें हजरत मुहम्मद साहब के शिक्षा के अनुसार ही जीवन जीना चाहिए।

इस्लाम धर्म के प्रवर्तक हजरत मुहम्मद साहब के जन्मोत्सव के अवसर पर चौसा प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाकों में धूमधाम से जश्न ए ईद मिलादुन नबी का आयोजन किया गया। वहीं चंदा मदरसा ग्राउंड से दिवान टोला तालीम टोला, रसूल टोला, कबीर टोला स्थित मदरसा से तिरंगे झंडे के साथ जुलूस निकालकर सरकार की आमद मरहबा, हुजूर की आमद मरहबा, आका की आमद मरहबा, रहबर की आमद मरहबा के नारे लगाते हुए चौसा जनता हाईस्कूल मैदान पहुंच कर जलसे के रूप में तब्दील हो गया। इस अवसर पर प्रखंड के चौसा बस्ती, पैना, चंदा, मनोहरपुर तथा डबरूटोला आदि विभिन्न गांवों से जुलूस ए मुहम्मदी निकाल कर मुसलमानों ने जश्न मनाया। बाद में जुलूस में शामिल अकीदतमंद स्थानीय जनता उच्च विद्यालय के मैदान में एकत्रित होकर जलसा सिरतुन नबी का आयोजन किया। जलसे की शुरुआत हाफिज अब्दुर्रहमान के द्वारा तिलावत ए कुरआन से की गई। इस दौरान मौलाना अफरोज आलम रिज्वी, हाफिज खालिद रजा, मोहम्मद अरमान रजा, मौलाना अब्दुल समद बरकाती सहित कई शायरों ने नातिया कलाम पेश किया। मौके पर सीओ आशुतोष कुमार, प्रभारी थानाध्यक्ष महेश कुमार रजक, दारोगा आलोक कुमार अमल, हबीबुल्लाह अंसारी, बीरेंद्र कुमार, समाजसेवी असगर अली सहित अन्य भी थे।

जिले के विभन्न स्थानों पर आयाोजित जुलूस में दिखा देशभक्ति का जज्बा, शांति स्थापित करने में मुसलमानों को अहम भूमिका निभानी चाहिए

चौसा में रविवार को आयोजित जलसा में तकरीर करते मलौना व अन्य।

रामनगर में ईद मिलादुननबी पर हुई तकरीर

प्रखंड के रामनगर बाजार स्थित मदरसा सुलेमानी रफीकिया परिसर में रविवार को ईद मिलादुन्नबी के मौके पर मदरसा के सदर मौलाना फिरोज आलम सबीली के संचालन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मौके पर मदरसा के बच्चों ने नातिया कलाम तथा तकरीर आदि की प्रस्तुति की। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य हजरत मौलाना सगीर और मौलाना कारी आलम के द्वारा तकरीर प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम के दौरान अपनी तकरीर में मौलाना सगीर ने ईद मिलादुन्नबी के पर्व पर विस्तार सेेे प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इस दिन मोहम्मद हजरत साहब के द्वारा किए गए सभी अच्छे कामों को याद किया जाना चाहिए। बच्चों को पैगंबर मोहम्मद साहब के बारे में तालीम देना और उनके प्रतीकात्मक पैरों के निशान पर प्रार्थनाएं करना भी वाजिब माना गया है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन को नियम से निभाने से लोग अल्लाह के और करीब जाते हैं। लोग आपस में खुशियां मनाते हैं और खुद को अल्लाह का करम महसूस करते हैं। मौके पर मौलाना कारी आलम के द्वारा नातिया कलाम के माध्यम से हजरत मोहम्मद साहब के बताए रास्ते पर चलने की बात कही गई। कार्यक्रम के दौरान मदरसा के सेक्रेटरी मो. इब्राहिम, हाफिज अब्दुल कुदुुस, हाफिज नाजिम मुमताज, मो. मूसा, मो. ईशा व मोहम्मद इमरान सहित अन्य भी उपस्थित थे।

चंदा मदरसा से निकले जुलूस में शामिल मौलाना व अन्य।

कुस्थन से भी निकाला गया जुलूस

रविवार को बिहारीगंज थाना क्षेत्र के कुस्थन समेत अन्य स्थानों से जुलूस निकाला। इसमें बड़ी संख्या में युवा, बच्चे व बुजुर्ग शामिल हुए। जुलूस हथिऔंधा से निकलकर विभिन्न चौक-चौराहे से गुजरते हुए कुस्थन तक गया। इस मौके पर मो. सुभान, मो. आजाद, मो. कलाम, रिजवान, मो. इमाम, मो. नईम, क्यूम, मौलाना जहांगीर, मौलाना इरसाद, इमाम, मो. संजूर तथा प्रदीप साह के अलावा प्रशासन की ओर से एसडीएम एसजेड हसन, डीएसपी सीपी यादव, बीडीओ दीना मुर्मू तथा थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार सहित अन्य भी मौजूद थे।

बिहारीगंज में विधि व व्यवस्था का जायजा जेते एसडीओ व मौके पर मौजूद लोग।

एकता सहित शांति और भाईचारा मोहम्मद साहब की बड़ी शिक्षा

भास्कर न्यूज | मधेपुरा

प्रगति, एकता, शांति और भाईचारा हजरत मोहम्मद साहब की सबसे बड़ी शिक्षा है। लिहाजा प्रत्येक मुसलमान को शांति स्थापित करने में अहम भूमिका निभाना चाहिए। उक्त बातें मौलाना मोहम्मद अकरम ने जयप्रकाश नगर में रविवार को हजरत मोहम्मद साहब की 1450वीं जयंती जश्न ए ईद मिलादुन नबी के अवसर पर आयोजित जलसा को संबोधित करते हुए कही।

मौलाना अकरम ने कहा कि हजरत मोहम्मद साहब ने नमाज, रोजा, हज व दान के साथ ही देशभक्ति को कर्तव्य की श्रेणी में रखा है। लिहाजा देशभक्ति मुसलमानों के ईमान का अहम हिस्सा है। कार्यक्रम की सदारत मुफ्ती मोहम्मद अली हसन सा सदर दारुल उलूम मोहम्मदिया ने की। इस जश्न के दारुक फैजान खालिद बिन वाली के मोहतमिम मौलाना मोहम्मद अकरम चतुर्वेदी, मौलाना मोहम्मद श्याम सदा, मौलाना नूर मोहम्मद, परवाह मौलाना मुमताज साहब, इमाम पतरघट, हाफिज गुलाम हैदर, जनाब प्रोफेसर अनवारूल हक, डॉक्टर मोहम्मद गयासुद्दीन तथा मोहम्मद खुर्शीद के अलावा और भी हजरारात मौजूद थे। मौके पर दारुल के निगरानी करने वाले मोहम्मद अकरम ने बताया कि हम सबके पैगंबर इसी दिन इस दुनिया में तशरीफ लाएं और अल्लाह के पैगाम को दुनिया वालों के सामने रखा। भाईचारे और मेल मोहब्बत सौहार्द का पैगाम दुनिया को दिया। हम सभी अपने नबी के पैगाम को दुनिया तक फैलाएं।

Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
X
Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
Chausa News - there is no place for terror in islam the enemies of humanity spreading terror unity and brotherhood are the greatest teachings of mohammad
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना