दीपावली और छठ में बगैर लाइसेंस पटाखा दुकान खोलने पर कार्रवाई

Madhubani News - इस वर्ष दीपावली व छठ पूजा में पटाखा कारोबारी को बिना लाईसेंस का दुकान खोलना महंगा पड़ सकता है। क्योंकि इस बार अवैध...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 08:10 AM IST
Madhubani News - action to open unlicensed cracker shop in deepawali and chhath
इस वर्ष दीपावली व छठ पूजा में पटाखा कारोबारी को बिना लाईसेंस का दुकान खोलना महंगा पड़ सकता है। क्योंकि इस बार अवैध पटाखा दुकानों व विशेष आतिशबाजी को रोकने को लेकर सदर एसडीओ सुनील कुमार सिंह के नेतृत्व में एक छापेमारी टीम का गठन किया गया है। जो शहर में अवैध रूप से बेच रहे पटाखा दुकानों पर छापेमारी कर पटाखा जब्त कर कारोबारी के विरुद्ध कार्रवाई करेंगे। सदर एसडीओ सुनिल कुमार ने बताया कि अवैध रूप से पटाखा के काराेबार करने वालों के गोदामों व दुकानों में छापेमारी कर उनके विरुद्ध कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

नहीं होगा आतिशबाजी का शोर

प्रशासन की ओर से पटाखा कारोबारियों पर नकेल कसने को लेकर पूरी तैयारी कर ली है। इस कारण कई थोक व खुदरा दुकानें बंद है। जबकि दीपावली में महज 15 दिन का समय रह गया है, ऐसे में बिना लाइसेंस के पटाखा दुकान खोलना भारी पड़ सकता है। लेकिन फुटकर दुकानदारों ने अस्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन अनुमंडल कार्यालय में दिया है, लेकिन अब तक अनुमति नहीं मिली है। यह दूसरा वर्ष होगा जब प्रशासन की ओर से पटाखा कारोबारियों पर नकेल कसा गया है। जबकि पिछले वर्ष 2018 में पांच नवम्बर को छापेमारी के दौरान दो दुकान सील की गई थी।

छापेमारी के लिए बनाई टीम, लाइसेंस के लिए अनुमंडल कार्यालय में देना होगा आवेदन

शहर के बाटा चौक पर स्थित पटाखा का दुकान।

ऐसे मिलेगा लाइसेंस

दीपावली के ठीक पहले शहर में पटाखों की दुकानें दिखने लगती हैं। जिले में पटाखों का कारोबार करोड़ों का होता है। यह व्यवसाय महज 10 दिनों में होता है। इस बार दुकान के लिए अनुमंडल कार्यालय से लाइसेंस लेना पड़ेगा। शहर व अनुमंडल क्षेत्र के प्रखंडों से अनुमंडल में पटाखा विक्रेताओं को लाइसेंस लेने के लिए आवेदन जमा करने होंगे।

अस्थाई लाइसेंस के लिए करना होगा आवेदन

शहर में आधा दर्जन थोक व लगभग 40 से भी अधिक खुदरा दुकानदार है, जो पटाखा का कारोबार करते है, जानकारी के मुताबिक पटाखा का लगभग करोड़ रुपए का कारोबार होता है, बीते वर्ष से प्रशासन की आेर से कारोबार पर काफी प्रभाव पड़ा और बहुत पटाखे बच गए।

गुप्त रूप से की जाएगी छापेमारी की कार्रवाई

सदर एसडीओ सुनिल कुमार सिंह ने बताया कि पिछले वर्ष कि तरह इस बार भी अवैध रूप से चलाए जा रहे पटाखा की दुकानों व गोदाम में गुप्त रूप से छापेमारी की जाएगी। इस दौरान पटाखा जब्त करने के साथ साथ कारोबारी को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

X
Madhubani News - action to open unlicensed cracker shop in deepawali and chhath
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना