मार्च से अब तक वेतन भुगतान नहीं करने का दफादार ने लगाया अाराेप

Madhubani News - अंचल प्रशासन द्वारा दफादार व चौकीदार का कथित शोषण एवं विगत मार्च महीने से ही अब तक वेतन का भुगतान नहीं करने को लेकर...

Oct 13, 2019, 06:40 AM IST
अंचल प्रशासन द्वारा दफादार व चौकीदार का कथित शोषण एवं विगत मार्च महीने से ही अब तक वेतन का भुगतान नहीं करने को लेकर बेनीपट्टी थानांतर्गत सर्किल नं 2 के दफादार अब्दुल बारीक़ ने एसडीओ व डीएम को आवेदन दिया है। एसडीओ व डीएम को दिए आवेदन में दफादार बारीक़ ने अंचल प्रशासन पर आरोप लगाया है कि बेनीपट्टी थाना में कार्यरत सभी चौकीदारों व दफादारों के वेतन का भुगतान हो चुका है।

प्रत्येक चौकीदार से 100 रुपए महीना के हिसाब से अंचल कार्यालय के लिपिक द्वारा वेतन भुगतान के नाम पर वसूली की जाती है और कुछ चौकीदारों से कंप्यूटर पर वेतन लोड करने के नाम पर 600 रुपए तक की वसूली की जाती है। उक्त अवैध राशि नहीं देने के कारण उनके साथ ही दो अन्य चौकीदारों का वेतन मार्च महीने से अभी तक अंचल कार्यालय द्वारा नहीं बनाया जा रहा है।

इस संबंध में सीओ, एसएचओ एवं एसडीपीओ से कई वार मौखिर तौर पर लंबित वेतन राशि का भुगतान करने की मांग की जा चुकी है परंतु, पांच महीने से इस पर किन्हीं के स्तर से कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। सीओ बेनीपट्टी बराबर वेतन बनाने के लिए उन्हें अंचल कार्यालय बुलाते हैं और अंचल लिपिक को इस संबंध में निर्देशित भी करते हैं। परंतु, अंचल लिपिक द्वारा उन्हें कहा जाता है कि आपका वेतन डाटा अपलोड नहीं ले रहा है। वेतन स्थगित हो गया है। पटना एवं ट्रेजरी से ठीक कराना होगा। इसके लिए उन्हें दो हजार रुपए देना होगा। जबकि उनके द्वारा नियुक्ति सर्विस डिटेल्स रिपोर्ट भी तीन वार जमा किया जा चूका है। उनका वेतन वर्ष 1996 से निर्धारण नहीं हुआ है और इसके लिए भी रुपए की मांग की जा रही है। वर्ष 2018 के वर्दी के रुपए का भुगतान भी उनके साथ सात चौकीदारों को नहीं हुआ है।

दफादार ने उनके परिवार में चार-चार आपरेशन होने और पुरा परिवार भुखमरी से गुजरने की बात का उल्लेख एसडीओ व डीएम को दिए गए आवेदन में करते हुए लंबित वेतन राशि का भुगतान अविलंब कराने की गुहार लगाई है। इस संबंध में पूछने पर सीओ प्रमोद कुमार सिंह के समक्ष अंचल लिपिक रंजीत कुमार झा ने बताया कि पहले सीटीएमआईएस से वेतन मिलता था जो अब सीएमएफएस से मिल रहा है। बहुत सारे डाटा नहीं आया है जिसमें चौकीदार, दफादार के साथ अंचल कर्मचारी भी शामिल हैं। इसको लेकर कोषागार कार्यालय को सूचित किया गया है। डाटा माइग्रेशन में गड़बड़ी है जो स्टेट से होता है। वेतन भुगतान और इन्क्रीमेंट की प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना