• Hindi News
  • Bihar
  • Madhubani
  • Ladniyan News due to the breakdown of the diversion between the yoga and the padma the street contact dissolved the operation of vehicles stopped for two days

योगिया व पद्मा के बीच डायवर्सन टूटने से सड़क संपर्क भंग, दो दिनों से वाहनाें का परिचालन बंद, लाेग परेशान

Madhubani News - तेनुआही से जयनगर तक जाने वाली एनएच 227 पूर्व की 104 पर योगिया व पद्मा गांव के बीच बाढ़ के कारण धौरी नदी पर तत्काल...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:55 AM IST
Ladniyan News - due to the breakdown of the diversion between the yoga and the padma the street contact dissolved the operation of vehicles stopped for two days
तेनुआही से जयनगर तक जाने वाली एनएच 227 पूर्व की 104 पर योगिया व पद्मा गांव के बीच बाढ़ के कारण धौरी नदी पर तत्काल यातायात को लेकर बनाया गया डायवर्सन टूट गया है। वहीं तेनुआही चौक के समीप बना निर्माणाधीन को ले बना डायवर्सन टूटने के कगार पर पहुंच चुका है। इस कारण सड़क संपर्क भंग होने से पिछले दो दिनों से उक्त सड़क पर वाहन परिचालन तो दूर पैदल चलना भी बंद हो गया है। परिणामस्वरूप अपने गंतव्य स्थान तक सफर करने को निकले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। विदित हो की योगिया और पद्मा गांव के बीच बह रही धौरी नदी पर तीन दशक पूर्व से स्क्रू पाइलस पुल बना हुआ था। जिस पुल को क्षतिग्रस्त होने के पश्चात एनएच के हो रहे निर्माण कार्य में एक साथ पुल निर्माण कार्य को लेकर बीएमसी कंपनी एजेंसी द्वारा उक्त क्षतिग्रस्त पुल को हटा दिया गया था और पुल का निर्माण किया जा रहा है। जहां तत्काल वाहन परिचालन को लेकर आनन फानन में डायवर्सन बनाया गया था। जिसे की धौरी नदी के जलस्तर में हुई बढ़ाेतरी के कारण शनिवार को डायवर्सन बह जाने से दूसरे दिन भी वाहन परिचालन बंद रहा। जिस कारण लोगों को अपने गंतव्य स्थान तक सफर करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता हैं। इससे लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। आक्रोशित लोगों का कहना है कि बरसात पूर्व ससमय यदि उक्त धौरी नदी पर पुल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया होता तो शायद ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी लोगों को जान हथेली पर लेकर बह रही नदी के बीच से हो कर गुजरने को विवश होना पड़ता। वहीं दूसरी ओर नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र के साथ सीमावर्ती क्षेत्रों में पिछले तीन दिनों से हो रही लगातार मूसलाधार वारिश से विभिन्न गांव तेनुआही, कमतोलिया व दोनवारी और पथलगाढ़ा गांव में लोगों के घरों में पानी घुस जाने से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लोगों को घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। उधर, बाढ़ प्रभावित गांव का मुआयना करने पहुंचे सीओ लदनियां अजित कुमार लाल ने सभी को प्रशासन की ओर से रहने को लेकर स्कूल के साथ अन्य सार्वजनिक स्थान पर जाने की बात कही। सभी प्रभावित को तत्काल चूड़ा, चीनी मुहैया कराए जाने की जानकारी दी।

लाेगाें ने कहा- बरसात पूर्व ससमय धौरी नदी पर पुल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया होता तो शायद ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती

लोगों को सार्वजनिक स्थान पर जाने की अपील

एकम्मा पुल पर भुतही बलान नदी के पानी बढ़ता दबाव, लोगों में दहशत का माहौल, ऊंचे स्थलों की तलाश में जुट गए हैं बाढ़ प्रभावित लोग।

भुतही बलान नदी पूरी तरह उफान पर, दर्जनों गांव का सड़क सम्पर्क प्रखंड मुख्यालय से टूटा

भास्कर न्यूज | घोघरडीहा

नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश के कारण शनिवार की सुबह भूतही बलान नदी में आयी भीषण बाढ़ से क्षेत्र का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गई है। बाढ़ का पानी प्रखंड के परसा, धनखोर मुंजयासी, कालीपुर, चेथरूटोल, नपं के किसनीपट्टी वार्ड नम्बर 5 गोनहीटोल, बगराहा, बसुआरी, अलोला सहित दर्जनों गांव में फैल गया। जिससे इन गांवों में सैकड़ों फुस का घर धराशाही हो गया है। घोघरडीहा हटनी सड़क में हटनी गाछी के निकट पुलिया के पास सड़क पर करीब पांच फीट पानी बह रही है। जिससे हटनी, नौआबखार, देवनाथपट्टी, निघमा, सहोरबा, धावघाट, सरौती, शत्रुपट्टी, ठरियाटोल सहित दर्जनों गांव का सड़क सम्पर्क प्रखंड मुख्यालय से टूट गया है। प्रशासन प्रभावित इलाकों पर नजर बनाए हुए है। वहीं खुटौना प्रखंड के आसपास के क्षेत्रों में हो रही मूसलाधार बारिश के चलते लोगों का जीना मुहाल हो गया है। स्थानीय प्रखंड मुख्यालय से गांधी चौक तक की सड़क पर मौजूद दर्जनों गड्ढे झील में तब्दील हो गए हैं। दूसरी ओर एकम्मा पुल पर भुतही बलान नदी का दबाव बहुत बढ़ गया है।5 सेंटीमीटर की जल में अगर बढ़ोतरी होती है तो पानी पुल तक पहुंच जाएगा। दूसरी ओर छारापट्टी, लौकही, सड़क पर जहां-तहां रैनकट हो जाने से लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है। भुतही बलान नदी पूरी तरह उफान पर है जिससे एकम्मा पूर्वी टोले में बाबाजी कुटि के पास सड़क बांध पर ज़बतदस्त पानी का दबाव बना हुआ है। इस टोले के लोगों के साथ साथ भजनाहा के लोग भी डरे सहमे हैं। भुतही बलान नदी के दाएं तटबंधा में खरहोरिया टोले के पास कटाव हो रहा है। 2001 में वही बांध टूटने से झंहपत्ती डोमन, खरहोरिया टोला, झांझपट्टी आशा, बरमोत्तरा व नहरी गांव में भारी नुकसान हुआ था। एकम्मा पूर्वी टोले के पास सबसे बड़ा रैनकट हो जाने से पश्चिमी कोशी नहर के उत्तरी भाग की ओर जाने का रास्ता बंद हो गया है। बाढ़ नियंत्रण विभाग क्रेटिंग करके इसे रोकने का प्रयास भी कर रहा है। नदी के पश्चिमी भाग के एकम्मा पश्चिमी टोले के पूरब का सुरक्षा बांध तोड़कर पानी टोले के तरफ अपना रुख कर चुका है। जिससे लोगों में दहशत है। बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुख्य अभियंता सतीश कुमार ने हर सम्भव बचाव का आश्वासन दिया है। उधर बीडीओ प्रभात कुमार दत्त लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का मुआयना किया है।

X
Ladniyan News - due to the breakdown of the diversion between the yoga and the padma the street contact dissolved the operation of vehicles stopped for two days
COMMENT