पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Madhubani News Government Should Hang Delhi Rioters Soon Else The Movement Will Be Forced

दिल्ली के दंगाइयों को सरकार जल्द फांसी दिलाए, नहीं तो आंदोलन को होंगे मजबूर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली में एनआरसी व सीएए के विरोध के नाम पर दंगा कर रहे दंगाइयों ने दिल्ली में ड्यूटी में तैनात पुलिस के जवान वीर रतन लाल बारी की निर्मम हत्या के विरोध में बिहार बारी संघ के बैनर तले जिला ईकाई संघ ने कैडल मार्च जुलूस निकाला। जुलूस की अध्यक्षता करते हुए समाजसेवी अमित कुमार ने कहा कि दंगाइयों की कोई जात नही होती ये लोग देश के लिए खतरनाक है। देश में जो लोग अपने ही देश के सिपाहियों पर हमला कर उसकी हत्या कर रही है। उसके विरुद्ध दिल्ली सरकार व देश के प्रधानमंत्री को तुरंत संज्ञान लेना चाहिए। ताकि दंगाईयों की पहचान कर उसे कड़ी सजा दिलाई जाए। कैडल मार्च शहर के वार्ड-30 से निकालते हुए कोतवाली चौक, जलधारी चौक, थाना चौक होते हुए रेलवे स्टेशन स्थित महात्मा गांधी के प्रतिमा तक पहुंची। जहां जुलूस में शामिल बारी संघ के लोगों ने महात्मा गांधी के उपर माल्यापर्ण किया। कैंडल मार्च में राम नारायण यादव, तरूण बारी, ओम प्रकाश बारी, प्रिंस बारी, नागेश्वर बारी, लाडला, श्याम, अनिश, अनिल भंडारी, नरेश बारी, राकेश राजा, संजय, बसंत बारी सहित सैकड़ों बारी संघ के लोग शामिल थे।

परम वीर चक्र से सम्मानित हो रतन लाल

समाज सेवी अमित कुमार ने कहा की लोक सभा व राज्य सभा से पारित कानून के विरोध के आर में दंगाईयों ने जानबूझ कर सोची समझी साजिश के तहत वीर रतन लाल की हत्या की है। इस लिए देश के प्रधानमंत्री व गृह मंत्री से अपील करते है कि इस वीर सिपाही को परम वीर चक्र से सम्मानित किया जाए। वीर रतनलाल बारी के कर्म से आज पूरा भारत देश गौरवान्वित है। अगर जल्द से जल्द सरकार दंगाईयों को फांसी नहीं दिलाती है तो संघ देश स्तर पर आंदोलन करेगी।

गांधी प्रतीमा पर माल्यार्पण करने के बाद जयकारे लगाते संघ के लोग।
खबरें और भी हैं...