विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा हिंदी

Madhubani News - हिंदी हमारी राष्ट्र भाषा है। इसे राष्ट्र व विश्व में पूर्ण प्रतिष्ठित करने का संकल्प लें। हिंदी विकास परिषद व...

Sep 15, 2019, 08:40 AM IST
हिंदी हमारी राष्ट्र भाषा है। इसे राष्ट्र व विश्व में पूर्ण प्रतिष्ठित करने का संकल्प लें। हिंदी विकास परिषद व राजभाषा प्रशाखा की ओर से आयोजित हिंदी दिवस समारोह को संबोधित करते हुए डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने कहा। डीएम ने कहा कि हिंदी राष्ट्र भाषा है। यह लगातार समृद्ध हो रही है। इंटरनेट पर भी हिंदी का विस्तार हो रहा है। देश मे हिंदी बोलने वालों की संख्या गत दशको मे 19 प्रतिशत बढ़ी है। हिंदी भारत के अलावे कई देशों में बोली व समझी जाती है। विश्व में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा हिंदी है। लगभग 170 देशो मे पढ़ाई जाती है। देश के बाहर यूरोप, अमेरिका, एशिया, अफ्रीका के 600 से अधिक शैक्षणिक संस्था है, जहां हिंदी पढ़ाई जाती है। डीआरडीए सभागार में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता हिंदी विकास परिषद के अध्यक्ष पं. राजेश रंजन पांडेय ने की। संचालन उदय जायसवाल कर रहे थे। उप समाहर्ता राजभाषा मो. राजीक ने स्वागत भाषण दिया। राष्ट्र भाषा हिंदी के वैश्विक परिप्रेक्ष्य मेंे दशा-दिशा संवर्द्धन पर विचार गोष्ठी काव्य पाठ में प्रो.जेपी सिंह, प्रो.गंगा राम झा, प्रो.खुशी लाल मंडल, उदय जायसवाल, नामोनाथ झा, प्रो.सर्व नारायण मिश्र, प्रो नरेंद्र नारायण सिंह निराला, डॉ.विनय विश्वबंधु सहित दर्जनों बुद्धिजीवियो व साहित्यकारों ने भी सहभागिता दिखाई।

डीआरडीए सभागार में हिंदी दिवस के मौके पर उपस्थित लोग।

कविताओं की सीडी पलकों की छांव में का लोकार्पण हुआ

कार्यक्रम दो सत्र में हुआ। प्रथम सत्र में साहित्यकार उदय जायसवाल की रचित कविता संग्रह शब्दों के आईने में व कविताओं की सीडी पलको की छांव में का लोकार्पण हुआ। दूसरे सत्र मे हिंदी व उर्दू के चर्चित हस्ताक्षर सदरे आलम, कहानीकार डाॅ. पंकज लोचन सहाय को सम्मानित किया गया। दूसरी ओर जेएमडीपीएल महिला काॅलेज में हिंदी दिवस पर हिंदी साहित्य का इतिहास व वर्तमान पर संगोष्ठी प्रिंसिपल डॉ.उदय नारायण तिवारी की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना