मैथिल को समझने के लिए सुनें यात्री की कविताएं

Madhubani News - जयंती समारोह में मंच संचालन करते कवि दिलीप झा। भास्कर न्यूज | मधुबनी शहर के एक होटल में महाकवि बैद्यनाथ मिश्र...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:00 AM IST
Madhubani News - listen to the mathil passenger39s poems
जयंती समारोह में मंच संचालन करते कवि दिलीप झा।

भास्कर न्यूज | मधुबनी

शहर के एक होटल में महाकवि बैद्यनाथ मिश्र की जयंती समारोह का आयोजन चेतना समिति पटना व मैथिली साहित्य एवं सांस्कृत समिति के तत्त्वावधान में आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा. महेन्द्र नारायण राम ने किया। कार्यक्रम की शुरूआत महाकवि के चित्र पर पुष्पांजलि करने के साथ हुई। इसके बाद नैना कुमारी ने गाेसाउनिक गीत और मनोज महतों ने भगवान हमर ई मिथिला सुख शांति केर घर हो को गाकर उपस्थित लोगों का स्वागत किया। वहीं जयंती समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए वरीय कथाकार-आलोचक अशोक कुमार ने कहा कि बैद्यनाथ मिश्र यात्री हम मैथिलों के लिए बहुत महत्वपूर्ण व गौरव करने योग्य थे। उनकी कविताएं मैथिल के स्वभाव को दर्शाती है, यदि आपलोगों को मिथिला का सहीं वर्णन व मैथिल को समझना है तो आपकों यात्री की कविताओं से गुजरना होगा। संपुर्ण मैथिल समाज उनकी रचनाओं में दृष्टगोचर होती है। यात्री की कविता को प्रस्तुत करते हुए युवा कवि कृष्णकांत मंडल ने यात्री की बहुचर्चित कविता नवतुरिया आबओं आगां का पाठ कर लोगों को यात्री की याद दिलाने में सफल रहे। कार्यक्रम को आगे बढाते हुए चेतना समिति के अध्यक्ष विवेकानंद झा ने कहा कि बाबा के कैरेक्टर में कोई छल प्रपंच नहीं था। उन्होंने अपने जीवन काल में न ही वो किसी के आगे झुके और ना ही किसी सत्ता पक्ष की चटूकारिता किए। इस अवसर प्रो. महेन्द्र सिंह, प्रेमलता मिश्रा प्रेम, शिव शंकर श्री निवास, अनिल ठाकुर, सतीश चन्द्र मिश्रा, प्रीतम निषाद ने आदि ने भी उन्हें श्रद्धाजंलि दिया साथ ही अपना विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन कवि दिलीप झा ने किया । वहीं स्वागत संबोधन चेतना समिति के सचिव उमेश मिश्र ने किया ।

X
Madhubani News - listen to the mathil passenger39s poems
COMMENT