पितरों के प्रति श्रद्धा-स्नेह व्यक्त करने का महापर्व पितृपक्ष अारंभ, विसर्जन 28 को

Madhubani News - अपने पितरों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का माह पर्व पितृपक्ष शुरू हो गया है। पितृपक्ष के प्रथम दिन बॉर्डर क्षेत्र...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:57 AM IST
Jainagar News - mahaprabhu pitrupaksha begins to express reverence and affection towards fathers on immersion 28
अपने पितरों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का माह पर्व पितृपक्ष शुरू हो गया है। पितृपक्ष के प्रथम दिन बॉर्डर क्षेत्र के दर्जनों की संख्या में लोग अपने पितरों को तर्पण करने कमला पुल के नजदीक कमला तट पर पहुंचे। पंडित अरविंद तिवारी एवं विनय कुमार ने विधि विधान के साथ लोगो को तर्पण करवाया। सुबह चार बजे से ही लोगो का कमला तट पर आना शुरू हो जाता है। करीब 8 बजे सुबह तक अपने पितरों को तर्पण करने वालो का मेला लगा रहता है। पंचांग के अनुसार पितृपक्ष आश्विन मास के कृष्ण पक्ष में पड़ते है। इसकी शुरुआत पूर्णिमा तिथि से होती है। जबकि समाप्ति अमावश्या के दिन होता है। इस बार पितृपक्ष 13 सितम्बर से शुरू होकर 28 सितम्बर शनिवार कृष्ण पक्ष अमावश्या को समाप्त होगा। पितरों को तृप्त करने के लिये श्राद्ध किया जाता है। पिंड दान एवं तर्पण कर उनकी आत्मा की शांति की कामना की जाती है। मान्यता है की यदि पितरों को तर्पण नही किया जाय तो पिता नाराज हो जाते है। फलतः परिवार में परिवार में खुशहाली नही रहता है। और उसे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। और घर मे अशांति फैलती है। मान्यता है की पितृपक्ष में यमराज पितरो को अपने परिजनों से मिलने के लिये मुक्त कर देते है। और पितर अपने परिजनों को देखने के लिये घर के चौखट तक पहुंचते है। तर्पण नही किये जाने से वह नाराज हो जाते है। उन्हें तृप्ति नही मिलती है।

‘देवताओं से पहले पितरों को प्रसन्न करना अधिक लाभकारी होता है’

जयनगर कमला घाट पर अपने पितरों को तर्पण करते हुए लोग

श्राद्ध तिथि का चयन

श्राद्ध तिथि अलग-अलग हो सकती है। मान्यता के अनुसार






विशेषता





श्राद्ध के नियम






13 सितम्बर - पूर्णिमा श्राद्ध, 14 सितम्बर-प्रतिपदा, 15 सितम्बर- द्वतीय, 16 सितम्बर- तृतीय, 17 सितम्बर-चतुर्थी, 18 सितम्बर- पंचमी, महा भरनी, 19 सितम्बर- षष्टी, 20 सितम्बर- सप्तमी, 21 सितम्बर-अष्टमी, 22 सितम्बर- नवमी, 23 सितम्बर- दशमी, 24 सितम्बर- एकादशी, 25 सितम्बर- द्वादशी, 26 सितम्बर त्रयोदशी, 27 सितम्बर- चतुर्दशी एवं 28 सितम्बर को सर्वपित्र है।

श्राद्ध तिथि

X
Jainagar News - mahaprabhu pitrupaksha begins to express reverence and affection towards fathers on immersion 28
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना