भूतही बलान नदी उफान पर, खतरे के निशान से 4 फीट ऊपर बह रहा है पानी, कई गांव चपेट में

Madhubani News - विगत करीब सप्ताह भर से हो रही लगातार वर्षा को लेकर भूतही बलान नदी उफान पर है। शनिवार सुबह से ही नदी का जल स्तर खतरे...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:45 AM IST
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
विगत करीब सप्ताह भर से हो रही लगातार वर्षा को लेकर भूतही बलान नदी उफान पर है। शनिवार सुबह से ही नदी का जल स्तर खतरे के निशान से चार फीट ऊपर चल रहा है और ऐसा संभवतः पहली बार देखा जा रहा है कि नदी का जल स्तर एक ही जगह इतनी लंबी अवधि के लिए स्थिर हो। वरना नाम के अनुरुप नदी में जल स्तर का उफान घंटा दो घंटा में कम हो जाता है। नदी में बढ़ते पानी के दबाव के कारण फुलपरास पूर्वी टोल की स्थिति गंभीर हो गई है। आज तक जहां पानी नहीं पहुंचा था। वहां भी दो से तीन फीट तक पानी का बहाव हो रहा है। अमूमन गांव के घर घर में पानी प्रवेश कर गया है। लोग बाग अपनी जान की हिफाजत में लगे हैं। माल मवेशियों के साथ ऊंचे स्थलों की ओर पलायन को मजबूर हैं। एनएच 57 पर बाढ़ प्रभावितों की भीड़ देखी जा रही है। भूतही बलान में बाढ़ केकारण करोड़ों रुपए की लागत से रामनगर गांव में बने दुर्गा मंदिर के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है।

मंदिर के चारों तरफ पानी का सैलाब उमड़ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक कटाव भी जारी है। इसके अलावे फुलपरास एवं घोघरडीहा प्रखंडों के लगभग दर्जन भर से ऊपर गांव के लोग बाढ़ से परेशान हैं। प्रखंड के सुड़ियाही, परसा, मुजियासी, कौवाखोन, बलुआही टोल, धनखोर समेत अन्य गांवों में बाढ़ के कारण लोगों के बीच परेशानी का आलम है। फसलें भरी जा चुकी है। मवेशियों का भोज्य पदार्थ बाढ़ के पानी का भेंट चढ़ चुका है। सुरक्षात्मक तटबंध में उच्च विद्यालय के समीप लगे होम पाइप से पानी का बहाव बाजार एवं सरकारी कार्यालयों के ओर सुबह से हो रहा है। जिसे दुरुस्त करने का प्रयास हो रहा है। लोगों में भय का माहौल है। बाढ़ नियंत्रण अवर प्रमंडल से मिली जानकारी के मुताबिक अपस्ट्रीम के एकम्मा साइफन पर पानी का स्तर एक फीट तक नीचे गया है। परंतु डाउनस्ट्रीम में स्थिति यथावत है। उपर से वर्षा थमने का नाम नहीं ले रहा है।

खजौली के चतरा में सिर पर सामान रखकर सुरक्षित स्थान पर जाते लोग ।

मधवापुर थाना व एसएसबी कैंप परिसर में घुसा बाढ़ पानी।

नवटोलिया के घरों में घुसा बाढ़ का पानी।

खजौली की 6 पंचायतों के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में

खजौली | पांंच दिनों से रुक -रुक कर हो रही बारिश के बाद शुक्रवार की रात कमला नदी में अचानक जल वृद्धि के कारण प्रखंड क्षेत्र के 6 पंचायत के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। हालांकि जान माल की क्षति की सूचना कही से नहीं है। बाढ़ की विभीषिका रूप को देखते हुए सदर एसडीओ सुनील कुमार, जिला आपदा प्रभारी पदाधिकारी सुशील कुमार, प्रखंड प्रमुख कुमारी ऊषा, खजौली अंचल सीओ संजय कुमार साही, बाबूबरही सीओ सतीश कुमार, थानाध्यक्ष रामचन्द्र चौपाल, खजौली सर्किल इंस्पेक्टर ब्रह्मदेव सिंह, प्रखंड विकास पदाधिकारी रतन कुमार दास ने प्रखंड क्षेत्र के सुक्की साइफन, कन्हौली तुरकहा, चन्दरडीह घाट सहित अन्य जगहों पर जाकर जायजा लिया। राहत और बचाव के लिये संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया जा चुका है।

झंझारपुर में सड़क पर पहुंचा बाढ़ का पानी।

कमला नदी तटबंध के भीतर कई घरों मंे घुसा बाढ़ का पानी

झंझारपुर| झंझारपुर में कमला नदी रात से ही उफनाया हुआ है। जिससे इलाके में बाढ़ का संकट मंडरा रहा है। कमला नदी के तटबंध के भीतर बसे आधे दर्जन गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। नदी का जलस्तर खतरे के निशान से दो मीटर ऊपर चल रहा है। झंझारपुर के रेल सह सड़क पुल मापी केन्द्र 52.50 मीटर पर बह रहा है। जलस्तर बढ़ते ही नदी के दोनों तटबंध में कई जगह पर पानी का दबाव बना हुआ है। खासकर झंझारपुर नगरपंचायत के परतापुर में काफी दबाव बना है। चुकी इस स्थान पर सीधे पानी का दबाव बांध से है। इसके अलाबे पिपराघाट, दैयाखड़वार, महरैल, भदुआर, रामखेतारी आदि जगहों पर भीषण दबाव बना हुआ है। वहीं भैरव स्थान थाना के नवटोलिया के पूरा बस्ती बाढ़ के पानी से घिर गया है तो कई घरों में पानी घुस चुका है। इस गांव का सड़क सम्पर्क टूट गया है। लोग तैर कर एनएच 57 पर पहुंच रहे हैं। बताया जाता है कि रात में ही बाढ़ का पानी बस्ती के चारों ओर पहुंच चुका था। कई फूस के घर बाढ़ के कारण गिर चुका है। जलस्तर की यही रफ्तार रही तो दर्जनों फूस के घर धराशायी हो जाएगा। झंझारपुर बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल एक के कार्यपालक अभियंता विमल कुमार ने पूछने पर बताया कि नदी के जलस्तर बढने से बांध का कोई खतरा नहीं है। बांध की लगातार निगरानी की जा रही है। बारिश पानी के कारण जहां कहीं भी रैनकट हुई है, उस जगह की मरम्मत युद्धस्तर पर की जा रही है। हालांकि नदी में बाढ़ की विकरालता को देखते हुए तटबंध के बाहर बसे गांव के लोगों में दहशत बना हुआ है।

Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
X
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
Phulpras News - on the bhuyan balan river boom water flowing above 4 feet above the danger mark many villages are grip
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना